32 bit क्या है और 64 bit क्या है दोनों में अंतर जानिए

    32 bit क्या है 64 bit क्या है जब भी आप इन्टरनेट से कोई सॉफ्टवेयर डाउनलोड करते हैं या फिर आप अपने लैपटॉप या कंप्यूटर में ऑपरेटिंग सिस्टम इनस्टॉल करते हैं तो आपके सामने दो ऑप्शन आ जाते हैं पहला ऑप्शन 32 bit का होता है वहीं दूसरा ऑप्शन 64 bit का होता है तो 32 bit क्या होता है और 64 bit क्या होता है दोनों में आप कई बार कंफ्यूज हो गए होंगे कि आपके लिए कौनसा सही हैं तो आज हम आपके इसी कंफ्यूजन को दूर करने वाले है तो चलिए जानते हैं.

    32 bit क्या है
    32 bit kya hai 64 bit kya hai

    32 bit क्या है

    आपको बता दे कि 32 bit प्रोसेसर 4GB तक की रैम को ही अच्छे से काम में लेता है अगर आप आपने फोन या कंप्यूटर में 4GB से ज्यादा की रैम इस्तेमाल करते हैं तो आपको एक 64 bit के प्रोसेसर का इस्तेमाल करना पड़ेगा ऐसा क्यों होता है क्योंकि 32 bit के प्रोसेसर में 32 बिट्स होती हैं यानी कि 32 ऐसी वेल्यु होती हैं जिनको आप अलग अलग जीरो या वन में बदल सकते हैं और जो 32 bit की जो वेल्यु होती हैं वह 4GB की मेमोरी का ही एड्रेस अपने पास स्टोर कर सकती हैं. इसके इस्तेमाल की बात करे तो साल 1990 तक 32 bit को प्रमुखता के साथ प्रयोग किया जाता था. विंडोज 95, 98 और एक्सपी ऐसे 32 bit ऑपरेटिंग सिस्टम हैं, जो आम तौर पर 32 बिट प्रोसेसर्स वाले कंप्यूटर पर कार्य करते हैं.

    64 bit क्या है

    एक 64 bit के प्रोसेसर की बात करे तो यह 16 बिलियन गीगाबाइट का एड्रेस अपने पास स्टोर कर सकता है हालाकि आने वाले कई कई सालों तक हमें इसकी जरुरत नहीं पड़ेगी लेकिन अगर आप 4GB से ज्यादा मेमोरी जैसे 32GB, 64GB या 128GB तक प्रयोग करना चाहते हैं तो यहां आप 64 bit के प्रोसेसर को काम में ले सकते हैं एंड्राइड में मार्शमेलो, लोलीपॉप, और नौगट में आपको 64 bit का सपोर्ट मिलता है और IPhone में ios 7 के बाद से 64 bit का सपोर्ट मिलता है.

    मान लीजिये अगर किटकैट वर्जन के मोबाइल में 64 bit का प्रोसेसर लगा होगा तो वो किसी काम का नहीं है क्योंकि फोन में न तो मेमोरी 4GB से ज्यादा है और न ही उस फोन में जो कैलकुलेशन करने की छमता होती है जो उसमे होनी चाहिए. इसका मतलब या तो आपके मोबाइल में 4GB से ज्यादा मेमोरी हो तब आपको 64 bit का प्रोसेसर चाहिए या अगर आप एंड्राइड लोलीपॉप या मार्शमेलो से ऊपर का कोई फोन का यूज़ करते हैं तो आपको 64 bit का प्रोसेसर चाहिए.

    वहीं कंप्यूटर या लैपटॉप की बात करे तो 64 bit प्रोसेसर पर काम करने वाले कंप्यूटर पर 64 या 32 bit वर्जन के किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम को इनस्टॉल किया जा सकता है. हालांकि, 32 बिट ऑपरेटिंग सिस्टम में अगर 64 bit प्रोसेसर को इनस्टॉल करते है तो वह ठीक तरह से कार्य नहीं कर पाएगा. 64 bit सिस्टम को बहुत पहले ही बना लिया गया था लेकिन इसका प्रयोग मुख्य रूप से साल 2000 से शुरू किया गया था.

    32 bit और 64 bit में अंतर

    अब आपको समझ आ गया होगा कि 32 bit क्या है और 64 bit क्या है यहां हम आपको दोनों में अन्तर बताने जा रहे हैं तो दोनों में अन्तर की बात करे तो दोनों सबसे पहले और सबसे बड़ा अंतर रैम सपोर्ट करने को है अगर आपके मोबाइल या कंप्यूटर में 4GB से कम रैम है तो यहां इस रैम पर 32 bit सहीं काम करेगा वहीं अगर आप अपने मोबाइल या लैपटॉप में 4GB से अधिक रैम यूज़ करते है तो यहाँ आपको 64 bit का सपोर्ट मिलेगा.

    32 bit सिस्टम में मेमोरी के एड्रेस को स्टोर करने की छमता कम होती है वहीं 64 bit में मेमोरी के एड्रेस को स्टोर करने की छमता काफी ज्यादा होती है यहां दोनों में स्पीड का भी थोड़ा बहुत अंतर देखने को मिल जाता है क्योंकि जितने भी आज के लेटेस्ट प्रोसेसर i5, i7 हैं वो 64 bit को सपोर्ट करते हैं और इनमे काफी अच्छी स्पीड मिल जाती है.

    तो अब आप जान गए होंगे कि 32 bit क्या है 64 bit क्या है 32 bit और 64 bit में अंतर क्या है फिलहाल की बात करे तो जितने भी नए लैपटॉप या कंप्यूटर आ रहे हैं वह सभी 64 bit सपोर्ट के साथ आ रहे हैं क्योंकि इनके साथ स्पीड काफी अच्छी मिल जाती है इसलिए ज्यादातर कंपनियां 64 bit को तबज्जो दे रहीं हैं वैसे देखा जाए तो 64 bit सिस्टम 32 bit सिस्टम का आधुनिक रूप है जिसे हर कोई यूज़ करना चाहता है. आपको बता दे कि आने वाले समय में 32 bit सिस्टम का प्रयोग बंद हो जायेगा इसलिए आपको भविष्य की सोचते हुए 64 bit सपोर्ट सिस्टम कंप्यूटर या लैपटॉप या मोबाइल लेना चाहिए.

    ये भी पढ़े –

    1 COMMENT

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here