ऐसा कौनसा देश है जो कभी किसी का गुलाम नहीं बना

आइये आज जानते है ऐसा कौनसा देश है जो कभी किसी का गुलाम नहीं बना अगर आप सामान्य ज्ञान की जानकारी जानना चाहते है तो आज का टॉपिक आपको पसंद आएगा। हम सभी जानते है कि इतिहास में कई देश कभी न कभी किसी शासक या फिर देश के गुलाम रहे है। वहीं अगर आप जानना चाहते है कि ऐसा कौन सा देश है जो अंग्रेजों का गुलाम नहीं हुआ है तो इस विषय में हम आपको ऐसे देश के बारे में बताएँगे जिसपर किसी अंग्रेज या फिर किसी अन्य शासक ने शासन नहीं कर पाया है। जब भी शासन की बात होती है तो हमारे दिमाग में अंग्रेजों का ख्याल जरुर आता है।

ऐसा कौनसा देश है जो कभी किसी का गुलाम नहीं बना

अंग्रेजों ने भारत में करीब 200 साल तक शासन किया था। इस दौरान भारत को अपने इतिहास के सबसे बुरे दौर से गुजरना पड़ा था हालाकि भारत एक ऐसी सरजमीं है जहां किसी न किसी का शासन अवश्य रहा है। पहले मुगल साम्राज्य ने भारत पर शासन किया। इसके बाद अंग्रेज आये लेकिन इन सबके बीच हमारा एक ऐसा पड़ोसी देश भी है जो किसी भी शासन से अछूता रहा है। एक तरफ जहां भारत में एक के बाद एक शासन लागू हुए थे वहीं इस देश में कोई भी अन्य देश या फिर शासक शासन करने में असमर्थ रहा था।

ऐसा कौनसा देश है जो कभी किसी का गुलाम नहीं बना

हम बात कर रहे है भारत के पड़ोसी देश नेपाल की यह नाम सुनने में आपको थोड़ा हैरत में डाल रहा होगा लेकिन यह सत्य है कि नेपाल शुरू से ही स्वतंत्र देश रहा है। इसपर अंग्रेजों ही नहीं बल्कि किसी शासक ने भी शासन नहीं किया है। जब अंग्रेज पूरे भारत पर अपना शासन स्थापित करने में कामयाब हो गए थे तब उन्होंने नेपाल में भी अधिकार जमाने की कोशिश की थी।

लेकिन ऐसा माना जाता है कि उस समय ब्रिटिश इंडिया और नेपाल के बीच संधि हुई थी। जिसके बाद नेपाल अपना एक तिहाई नेपाली क्षेत्र ब्रिटिश इंडिया को देना पड़ा था जो आज भारतीय राज्य हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल में मिल चुके हैं। अगर उस समय नेपाल ब्रिटिश इंडिया के सामने अपना सर झुका देता तो इतिहास में नेपाल भी भारत की तरह गुलामी की जंजीरों में जकड़ जाता।

नेपाल के एक स्वतंत्र देश होने का दूसरा कारण यह भी हो सकता है कि नेपाल ब्रिटिश इंडिया और शाही चीनी राजतंत्र के बीच मौजूद था। इस वजह से दोनों बड़ी ताकतों ने नेपाल पर अधिकार जमाने का कोशिश नहीं किया क्योंकि दोनों बड़े साम्राज्य एक दूसरे से टकराना नहीं चाहते थे।

इस देश की सीमाओं के निर्माण और विस्तार तक नेपाल कभी किसी का उपनिवेश नहीं बना न ही इस पर किसी विदेशी ताकतों ने शासन किया। यही वजह है कि नेपाल कभी भी अपना स्वतंत्रता दिवस नहीं मनाता है चलिए अब आपको इसे देश से जुड़ी कुछ रोचक जानकारी बताते हैं।

वर्तमान समय में नेपाल की राजधानी काठमांडू है वहीं इस देश की ज्यादातर सीमा भारत देश से मिलती है। यह देश भारत और चीन के बीच स्थित होने के कारण भारत के काफी महत्वपूर्ण है। नेपाल हिमालय में बसा हुआ है जहां आपको दुनिया की सबसे ऊंची पर्वत श्रंखलायें देखने को मिलती है।

दुनिया की 14 सबसे ऊंची पर्वत चोटी में से 8 तो नेपाल में ही मौजूद हैं। इसके साथ ही दुनिया का सबसे ऊँचा पर्वत माउंट एवरेस्ट नेपाल में ही मौजद है। माउंट एवरेस्ट पर अब तक कई फिल्मे बन चुकी है इसके अलावा हर साल लाखों यात्री इस पर्वत श्रंखला को देखने पहुँचते हैं पर्यटकों के लिए यह काफी अच्छा डेस्टिनेशन है।

नेपाल की लंबाई करीब 800 किलोमीटर और चौड़ाई लगभग 200 किलोमीटर है। इस तरह इसका कुल छेत्रफल 147181 वर्ग किलोमीटर बनता है। आपकी जानकारी के लिए बता दे नेपाल का नेशनल फ्लैग दुनिया का एक मात्र ऐसा फ्लैग है जो वर्गाकार नहीं है जो इसे सबसे अलग फ्लैग बनाता है।

तो अब आप ऐसा कौनसा देश है जो कभी किसी का गुलाम नहीं बना इसके बारे में जान गए होंगे वैसे नेपाल के अलावा चीन भी एक ऐसा देश है जिसपर अंग्रेजों ने शासन नहीं किया था। चीन पर शुरू से ही राजशाही रही है चीन अलग अलग विदेशी राजवंशों का गुलाम जरुर रहा है लेकिन कभी अंग्रेजों का गुलाम नहीं हुआ। जबकि नेपाल एक ऐसा देश है जिसपर न अंग्रेज शासन कर पाए न ही यह विदेशी राजवंशों का गुलाम बन पाया था।

ये भी पढ़े –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here