भारत की सबसे बड़ी जनजाति कौन सी है

इस पोस्ट में जानेंगे भारत की सबसे बड़ी जनजाति कौन सी है जैसा कि हम सभी जानते हैं कि इंडिया विविधताओं और अनेक संस्कृति समूह का देश है। जहाँ आपको कई सारे रहन सहन, भाषा और विभिन्न जातियां देखने को मिल जाएँगी। इतनी सारी विविधता होने के बावजूद हिंदुस्तान में एकजुटता है और यही चीज भारत को दुनिया भर में पहचान दिलाती है। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इंडिया दुनिया के सबसे बड़े देशों में गिना जाता है और इंडिया में विश्व की सबसे ज्यादा जनजाति निवास करती हैं। भारत के संविधान में इन जनजातियों को अनुसूचित जनजाति (Scheduled Tribe) की श्रेणी में रखा गया है।

भारत की सबसे बड़ी जनजाति कौन सी है

आमतौर पर देखा गया है कि जनजाति आधुनिकता से उतनी ज्यादा जुड़ी नहीं होती है। वह अपने परंपरागत तरीकों से जीवन यापन करती हैं। यही वजह है कि जनजातियों में ज्यादा विकास नहीं हो पाता है लेकिन इनके विकास के लिए भारत सरकार लगातार प्रयास कर रही है। और लगभग सभी सरकारी छेत्रों में जनजाति के लोगो को विशेष छूट दी जाती है। 2011 की जनगणना के अनुसार भारत में जनजातीय लोगो की आबादी 10 करोड़ 45 लाख है। चूँकि पिछली जनगणना को 10 साल हो चुके हैं ऐसे में वर्तमान समय में आपको इनकी आबादी में और भी इजाफा देखने को मिलेगा।

भारत की सबसे बड़ी जनजाति कौन सी है

जनसँख्या के हिसाब से भारत की सबसे बड़ी जनजाति भील है। साल 2011 में हुई जनगणना के अनुसार भारत में भील जनजाति के लोगो की आबादी 1 करोड़ 69 लाख है। जिसमें 86 लाख पुरुष और 84 लाख महिलाएं शामिल थी। वर्तमान समय में इनकी जनसँख्या और भी अधिक हो गयी होगी। भील जनजाति मुख्य तौर पर उत्तर, मध्य और दक्षिण भारत में निवास करती है।

इसके बाद दूसरा नाम गोंड है जो मध्य प्रदेश की सबसे बड़ी जनजाति है। मध्यप्रदेश में जनजातियों की सबसे बड़ी आबादी रहती है जिसमें पहला नाम गोंड और दूसरी भील शामिल है। यदि इंडिया के सभी राज्यों की गणना करें तो भारत में 705 जनजाति निवास करती है। जो किसी एक देश में सबसे अधिक है नीचे भारत की प्रमुख जनजाति के नाम बताये गए हैं।

  1. भील
  2. गोंड
  3. संथाल
  4. बोड़ो
  5. नाइकडा
  6. ओराओं
  7. सुगाली
  8. गुज्जर
  9. मुंडा
  10. खोंड
  11. कोली महादेव
  12. सहरिया
  13. खासी
  14. कोल
  15. वर्ली
  16. कोकना
  17. कवर
  18. भुमीज
  19. लुशाई
  20. गारो
  21. कोया
  22. मिरी
  23. हलबा
  24. धरूया
  25. त्रिपुरी

इन जनजातियों में आधे से अधिक आबादी मध्य भारत में रहती है। जिनमें मध्य प्रदेश (14.69%), महाराष्ट्र (10.08%), उड़ीसा (9.2%), राजस्थान (8.86%), गुजरात (8.55%), झारखंड (8.29%), छत्तीसगढ़ (7.5%), और आंध्र प्रदेश (5.7%) शामिल हैं। इस जनसंख्या का 89.97% ग्रामीण क्षेत्र में और 10.03% शहरी क्षेत्र में रहते हैं।

तो अब आप जान गए होंगे कि भारत की सबसे बड़ी जनजाति कौन सी है जनजातीय लोगो के अपने पहनावे भाषा और रहन सहन होता है। सभी जनजाति का अपना अलग धर्म होता है और अपने धर्म में यह ज्यादातर प्रकृति की पूजा करते हैं। लेकिन अंग्रेजी शासनकाल में बहुत से लोग जबरन अंग्रेजी धर्म में शामिल कर लिए गए थे। वहीं स्वतंत्र भारत में अधिकतर आबादी हिन्दू धर्म को मानती है। तो उम्मीद करते हैं यह पोस्ट आपके लिए ज्ञानवर्धक साबित होगा।

ये भी पढ़े –

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here