भारत की सबसे ऊंची बिल्डिंग कौन सी है 2019

क्या आप जानना चाहते है भारत की सबसे ऊंची बिल्डिंग कौन सी है 2019 में। तो आज हम आपको इसी बारे में बताने जा रहे हैं। जब भी हम किसी विकसित देश के किसी बड़े शहर को देखते है। तो सबसे पहले हमें वहां की ऊंची इमारत ही नजर आती है। इन बिल्डिंग को देखकर पता चलता है कि वह शहर कितना आधुनिक है। तेजी से बढ़ती टेक्नोलॉजी हर जगह अपनी छाप छोड़ रही है। इससे कोई बिल्डिंग भी अछूती नहीं है क्योंकि कोई बड़ी बिल्डिंग बनाने के लिए आधुनिक टेक्नोलॉजी का सहारा लिया जा रहा है।

भारत की सबसे ऊंची बिल्डिंग कौन सी है

आज विश्व में जितनी भी ऊंची इमारत में उनमे कहीं न कहीं टेक्नोलॉजी की मदद ली गयी है। टेक्नोलॉजी की मदद से भव्य और गगनचुंबी इमारत का निर्माण हो रहा है। जहां तक भारत की बात करे तो यहाँ भी आपको काफी बड़ी इमारत देखने को मिल जाएँगी हालाकि यह इमारत आपको देश के बड़े शहरों जैसे मुंबई, दिल्ली, कोलकाता और बेंगलुरु में ही देखने को मिलेंगी। बता दे कि सबसे ज्यादा बड़ी इमारत की संख्या मुंबई में मौजूद है।

भारत की सबसे ऊंची बिल्डिंग कौन सी है

जैसा कि हमने आपको बताया कि मुंबई एक ऐसा शहर है। जहां सबसे ज्यादा ऊंची बिल्डिंग है और इनकी संख्या काफी है। पहले के समय भारत की सबसे बड़ी इमारत का रिकॉर्ड मुंबई की ही बिल्डिंग के पास था लेकिन अब यह रिकॉर्ड कोलकाता के पास पहुँच गया है क्योंकि कुछ समय पहले ही कोलकाता में देश की सबसे ऊंची बिल्डिंग का निर्माण कार्य पूरा हो गया है।

कोलकाता की इस बिल्डिंग का नाम द 42 चौरंगी रखा गया है जिसकी ऊंचाई 268 मीटर है। इससे पहले ऊँची बिल्डिंग का रिकॉर्ड मुंबई की इम्पीरियल बिल्डिंग के पास था। मुंबई की इम्पीरियल इमारत की ऊंचाई 254 मीटर है। कोलकाता में मौजूद द 42 चौरंगी के सामने एक बड़ा मैदान है।

इसके अलावा 65 मंजिला ऊंची इस इमारत से हुगली नदी बहती हुई दिखाई देती है। इस बिल्डिंग का निर्माण कार्य तीन कंपनियों ने मिलकर किया है इनमे से एक कंपनी का नाम अल्कोव रियलिटी है।

जिसके अधिकारी बताते है कि देश की सबसे ऊंची इमारत का निर्माण कार्य पूरा हो गया है। यह दूसरी सबसे ऊंची बिल्डिंग होती पर बाद में इसमें चार अतिरिक्‍त फ्लोर के निर्माण को मंजूरी मिल गई थी। इससे अब यह देश की सबसे बड़ी बिल्डिंग बन गयी है।

कोलकाता में ऊंची इमारत के मामले में दूसरे स्थान पर अर्बना है जिसकी ऊंचाई 167.6 मीटर है। इसके बाद फोरम एमॉटस्‍फीयर और वेस्टिन क्रमश 152 मीटर और 150 मीटर ऊंची इमारतों का नाम आता हैं। कोलकाता में 100 मीटर से अधिक ऊंचाई वाली 13 इमारतें हैं।

वहीं मुंबई की बात करे तो हाई राइज बिल्डिंग की संख्या 3000 से अधिक है। जिनमे पहले स्थान पर इम्पीरियल आती है जिसकी ऊंचाई 254 मीटर है। यदि पूरे विश्व की बात की जाए तो हम सभी जानते है कि इसमें प्रथम स्थान बुर्ज खलीफा का आता है।

UAE में स्थित बुर्ज खलीफा की ऊंचाई 828 मीटर है। इसके बाद दूसरे नंबर पर चीन का बुहान ग्रीनलैंड सेंटर है इस बिल्डिंग की ऊंचाई 636 मीटर है। वहीं विश्व के मशहूर एफिल टावर की बात करे तो इसकी ऊंचाई 324 मीटर है।

तो अब आप जान गए होंगे कि भारत की सबसे ऊंची बिल्डिंग कौन सी है 2019 में। आधुनिक टेक्नोलॉजी के चलते देशों में अब ऊंची इमारत बनाने की प्रतिस्पर्धा शुरू हो गयी है। दुनिया में अब आपको एक से बढ़कर एक बिल्डिंग देखने को मिल जायेंगी। वर्तमान में तो यह रिकॉर्ड बुर्ज खलीफा के पास है लेकिन आने वाले समय आपको इससे कई गुना बड़ी इमारत देखने को मिलेंगी। वर्तमान में ऐसी कई इमारतें निर्माणाधीन है जो बुर्ज खलीफा से भी ऊंची बिल्डिंग हैं।

ये भी पढ़े –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here