चीन में हिंदू जनसंख्या कितनी है 2022 में

इस पोस्ट में आप जानेंगे चीन में हिंदू जनसंख्या कितनी है 2022 में अगर आप भी देश दुनिया का थोड़ा बहुत नॉलेज रखते हैं तो आपको भी पता होगा कि वर्तमान में चाइना दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देश है। अब इतनी जनसंख्या वाला देश है तो आपको लग रहा होगा कि यहां काफी अधिक धर्म के लोग रहते होंगे जिस तरह हमारे भारत में रहते हैं लेकिन वास्तविकता इसके उलट है एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन में अधिकतर लोग नास्तिक है। जो किसी भी धर्म से ताल्लुकात नहीं रखते हैं जिस तरह हमारे भारत में हिंदू धर्म की जनसंख्या सबसे अधिक है उसी तरह चाइना में काफी लोग बौद्ध धर्म पर विस्वास रखते हैं इसके अलावा चीन में मुस्लिम लोगो की अच्छी खासी आबादी है।

चीन में हिंदू जनसंख्या कितनी है

अमेरिका के बाद चाइना दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा सुपरपावर है चाइना ने बीते दशकों में इतनी तरक्की की है जितनी करने में अमेरिका को सैकड़ों साल लग गए थे। आज आपको चाइना के प्रोडक्ट दुनिया के अधिकतर देशों में देखने को मिल जायेंगे लेकिन अब आप सोच रहे होंगे कि चाइना ने इतनी जल्दी तरक्की कैसे कर ली है। तो इसकी कई वजह हैं जैसे स्थिर सरकार और इनकी सरकार ने विकास के आगे धर्म को कभी आगे नहीं आने दिया चीन मुख्य रूप से बौद्ध धर्म के अनुयायी रहते हैं लेकिन इसके अलावा यहाँ मुस्लिम, ईसाई और काफी कम हिंदू भी हैं।

चीन में हिंदू जनसंख्या कितनी है

अगर आप भी जानना चाहते हैं कि चीन में कितने हिंदू रहते हैं तो आपको फिलहाल इसकी सटीक जानकारी बहुत मुस्किल से मिलेगी क्योंकि चाइना अधिकारिक तौर पर धर्म के आधार पर लोगो की जनसंख्या जारी नहीं करता है। अगर कुछ रिपोर्ट की माने तो विशाल देश चाइना में हिंदुओं की आबादी लाखों में हो सकती है जिनमें अधिकतर अप्रवासी हो सकते हैं मतलब जो भारत जैसे देशों से जाकर चाइना में बसे हैं।

जैसा कि आपको पता होगा कि चीन में बौद्ध धर्म के अनुयायी सबसे अधिक है लेकिन क्या आपको पता है कि चीन के इतिहास में मध्यकालीन युग में हिंदू धर्म के लोग भी रहते थे। और इसका सबसे बड़ा सबूत चीन में मिले पुरातात्विक साक्ष्य हैं जैसे हिंदू देवी देवताओं की मूर्तियाँ और मंदिर चाइना में बौद्ध धर्म का इतिहास 2000 साल पुराना है जो चीन और अन्य देशों में काफी तेजी से फैला है।

चीन की आबादी कितनी है

चाइना की आबादी अक्सर चर्चा का विषय बनी रहती है क्योंकि बीते कुछ दशकों में इनकी आबादी इतनी बढ़ी कि इन्हें जनसंख्या नियंत्रण करने के लिए वन चाइल्ड पालिसी को लागू करना पड़ा। हालाकि इसमें भी इनको कई समस्या का सामना करना पड़ा क्योंकि वन चाइल्ड पालिसी के कारण अधिकतर चायनीज माता पिता ने बेटे को पालना उचित समझा जिसकी वजह से चाइना में महिला और पुरुष की जनसंख्या में काफी अंतर देखने को मिल रहा था। यही वजह है कि अब चाइना ने वन चाइल्ड पालिसी को खत्म कर दिया है।

वर्तमान समय में चीन की आबादी 141 करोड़ के पार पहुँच चुकी है जो विश्व की कुल जनसँख्या का लगभग 19 प्रतिशत है भारत में करीब 30 प्रतिशत लोग शहरी इलाकों में रहते हैं जबकि चाइना में करीब 80 प्रतिशत लोग शहरों में रहते हैं। वैसे देखा जाए तो भारत चीन से निवास एरिया में बेहतर है क्योंकि भारत में आपको सभी एरिया में अच्छी खासी आबादी देखने को मिल जाएगी। लेकिन चाइना में ऐसा नहीं है क्योंकि इस देश में आधी से अधिक पापुलेशन पूर्वी चीन में रहती है इसी कारण चीन अपने लोगो को बॉर्डर एरिया में बसाने की कोशिश कर रहा है।

तो अब आप जान गए होगे कि चीन में हिंदू जनसंख्या कितनी है आपकी जानकारी के लिए बता दे कि चीन अधिकारिक तौर पर एक नास्तिक देश है और यहाँ की सत्ताधारी कम्युनिस्ट सरकार ने धार्मिक लोगो पर कर तरह से पाबंधी लगा रखी हैं। यहीं नहीं सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी में जितने भी कार्यकर्त्ता है वह सार्वजानिक तौर पर किसी भी धर्म के अनुयायी नहीं बन सकते हैं हालाकि इतनी पाबंदियों के बीच चीन में ईसाई धर्म काफी तेजी से फैल रहा है।

ये भी पढ़े –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here