सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए टॉप 10 तरीकों से 900 तक करें

सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए आज के समय में लगभग सभी लोग क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते हैं कभी कभी हम क्रेडिट कार्ड पर अनचाही चीजें खरीद लेते हैं और फिर आगे चलकर बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। क्रेडिट कार्ड पर लिमिट होती है और सही समय पर उसे जमा भी करवाना होता है, किसी भी व्यक्ति की सैलरी के अलावा दूसरी सबसे महत्वपूर्ण चीज Cibil Score होती है।

सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए

Cibil Score के आधार पर ही कंपनियों के द्वारा आपको लोन दिया जाता है। अगर आपका सिबिल स्कोर अच्छा है तो बैंक आपको बेझिझक लोन दे देता है और अगर आपका सिबिल स्कोर खराब है और आप अपने सिबिल स्कोर को बढ़ाना चाहते हैं तो आर्टिकल के अंत तक बने रहिएगा।

इस आर्टिकल में आपको Cibil Score को बढ़ाने के सभी तरीकों के बारे में विस्तार से बताया जाएगा ताकि आपको आगे किसी भी तरह की परेशानी न आए और उसके बाद आपको बड़ी ही आसानी से लोन मिल जाएगा।

सिबिल स्कोर जिसे क्रेडिट स्कोर के नाम से भी जाना जाता है आपको बता दे कि CIBIL एक कंपनी है जिसका फुल फॉर्म Credit Information Bureau (India) Limited है या एक ऐसी संस्था है जो देशभर में लोन संबंधित रिपोर्ट पर नजर रखती है तो चलिए अब जानते हैं CIBIL Score Kaise Badhaye उम्मीद करते हैं आपको हमारा यह आर्टिकल जरूर पसंद आएगा।

Click Here

सिबिल स्कोर क्या होता है

आपने बैंकिंग और लोन के क्षेत्र में Cibil Score (सिबिल स्कोर) का नाम अवश्य सुना होगा, Cibil Score 3 अंकों का एक नंबर होता है, जिसकी 300-900 के बीच में एक श्रेणी (रेंज) होती है।

आपका Cibil Score जितना 900 के करीब होगा आपके क्रेडिट की रैंकिंग उतनी ही अच्छी होगी, आपको अपने सिबिल स्कोर को जितना हो सके उतना अच्छा बनाए रखने की कोशिश करनी चाहिए।

Cibil Score की फुल फॉर्म Credit Information Bureau (India) Limited है, इसके अंदर आपके क्रेडिट से जुड़ी सभी जानकारी का हिसाब रखा जाता है।

सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए

यह सवाल अधिकांश लोगों के मन में आता है कि वह अपने सिबिल स्कोर को कैसे बढ़ा सकते हैं, या सिबिल स्कोर को कैसे सुधारे तो इसी प्रश्न का जवाब देने के लिए हम आपके सामने कुछ ऐसे तरीके लेकर आए हैं जिन्हें अपनाकर आप अपने सिबिल स्कोर को बड़ी ही आसानी से बढ़ा सकते हैं – 

1. सिबिल स्कोर बढ़ाने के लिए अपनी ईएमआई को समय पर चुकाएं

क्रेडिट कार्ड के बिल को हमेशा समय पर चुकाएं, इसके साथ ही आपके किसी लोन की किस्त बकाया नहीं रहनी चाहिए, अगर आप समय पर बकाया चुकाते हैं तो यह आपके अच्छे भुगतान को दर्शाता है।

अगर आप एक भी किस्त का समय पर भुगतान करने से चूक जाते हैं तो आपको पेनल्टी शुल्क के साथ-साथ क्रेडिट स्कोर में नुकसान भी नुकसान भी उठाना पड़ सकता है।

2. सिबिल स्कोर सुधारने के लिए अपनी क्रेडिट हिस्ट्री को समय समय पर जांचते रहें

इस तरीके को अपनाकर आप क्रेडिट हिस्ट्री के रिकॉर्ड में होने वाली गलतियों से बच सकते हैं, अपनी क्रेडिट रिपोर्ट पर हमेशा निगरानी बनाए रखें और उसकी जांच करते रहें, सिबिल कंपनी आपकी सिबिल रिपोर्ट को अपडेट करती रहती है।

लेकिन हो सकता है कि कभी आपकी रिपोर्ट अपडेट न हुई हो, या फिर अपडेट में कुछ गलती कर दी गई हो, इसलिए अपनी क्रेडिट हिस्ट्री की जांच अवश्य और लगातार करनी चाहिए।

3. सिबिल स्कोर बढ़ाने के लिए क्रेडिट लिमिट को क्षमता के अनुसार सेट करें

क्रेडिट कार्ड का उपयोग तभी करें जब इसकी आवश्यकता हो, क्रेडिट कार्ड का 30% हमेशा बचाकर रखना चाहिए, इससे क्रेडिट स्कोर बेहतर बनता है, अगर आप क्रेडिट स्कोर को जल्दी से बढ़ाना चाहते हैं तो आपको क्रेडिट लिमिट को पूरा खाली नहीं करना है।

मान लीजिए आपकी क्रेडिट लिमिट 1 लाख रुपए है तो आपको 70 हजार रुपए ही खर्च करने चाहिए, इससे साबित होता है कि आप आर्थिक रूप से मजबूत हैं।

4. सिबिल स्कोर के लिए अपने पुराने खाते का सही उपयोग करें

अगर आप अपने पुराने बैंक खाते के साथ जुड़े रहते हैं तो यह दर्शाता है कि आपका फाइनेंस कंपनीज के साथ अच्छा जुड़ाव है, क्रेडिट ब्यूरो इसे अच्छा मानता है, इससे आपके क्रेडिट स्कोर को बेहतर बनाने में काफी सहायता मिलती है।

5. सिबिल स्कोर हेतु क्रेडिट हिस्ट्री को बेहतर बनाये रखें

अगर आप अपने बकाया पैसों को समय पर चुकाते हैं तो आपकी क्रेडिट हिस्ट्री अच्छी बनी रहेगी, अगर आप अच्छा क्रेडिट स्कोर पाना चाहते हैं तो क्रेडिट बिल और किस्तों को हमेशा समय पर चुकाएं, इससे आपका सिबिल स्कोर बहुत ही जल्दी से बढ़ेगा।

6. कम लोन की रकम से अपना सिबिल स्कोर बढ़ा सकते हैं

जब शुरुआत में आपका सिबिल स्कोर कम होता है तो यह तरीका आपके लिए एक बहुत ही अच्छा विकल्प है, शुरुआत में छोटे छोटे लोन लें और फिर उन्हें समय पर चुका दें, अगर लोन की राशि कम रहेगी तो उसे चुकाना भी आसान रहेगा, और धीरे धीरे आपका सिबिल स्कोर भी बढ़ जाएगा।

7. गारंटर या संयुक्त आवेदक की जांच करते रहें

आमतौर पर यह सलाह दी जाती है कि संयुक्त आवेदक या गारंटर नहीं बनना चाहिए, क्योंकि अगर आपके गारंटर की वजह से लोन की कोई किस्त नहीं भरी जाती है या उसमें कुछ गड़बड़ हो जाती है तो दंड के आप भी उतने ही भागीदार होंगे जितना आपका गारंटर।

आपके गारंटर की गलती या लापरवाही की वजह से आपको अच्छा खासा नुकसान उठाना पड़ सकता है, इससे आपका सिबिल स्कोर भी नीचे चला जाता है।

इसलिए अगर आप किसी खाते के लिए संयुक्त आवेदक या गारंटर बनने की सोच रहे हैं, तो यह कदम आपको सोच-समझकर और सावधानी से उठाना चाहिए, क्योंकि यह आपके सिबिल स्कोर को प्रभावित कर सकता है।

8. बार बार क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन न करें

अगर आप असल में अपने सिबिल स्कोर को कम होने से बचाना चाहते हैं तो आपको बार बार अन्य क्रेडिट कार्ड के लिए पूछताछ नहीं करनी चाहिए, और न ही आपको अन्य क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करना है, हमेशा एक ही क्रेडिट कार्ड रखने का प्रयास करें।

9. मल्टीपल क्रेडिट सुविधा लेने से बचें

आपको हमेशा एक ही क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करना चाहिए, बहुत ज्यादा जरूरी होने पर ही दूसरे क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करें, आमतौर पर लोग दूसरे क्रेडिट कार्ड की सुविधा ले लेते हैं लेकिन यह उनकी खराब आर्थिक हालत को दर्शाता है।

क्रेडिट ब्यूरो को लगता है कि जो लोग मल्टीपल क्रेडिट कार्ड लेते हैं वह क्रेडिट कार्ड पर बहुत ज्यादा निर्भर होते हैं, ऐसे में वह आपके सिबिल स्कोर को डाउन कर देते हैं, आजकल आपको मार्केट में ऐसी बहुत सी कंपनियां देखने को मिलेगी जो लुभावने ऑफर्स देती हैं लेकिन आपको सावधान रहना है।

सिबिल कंपनी क्या होती है

ट्रांसयूनियन सिबिल लिमिटेड / TransUnion CIBIL Limited लोगों का क्रेडिट स्कोर और उनकी रिपोर्ट बनाने वाली एक प्रमुख एजेंसी है सिबिल कंपनी ही क्रेडिट कार्ड से जुड़े भुगतानों का लेखा जोखा रखती है, आपको बता दें कि CIBIL की शुरुआत साल 2000 में हुई थी, यही कंपनी तय करती है कि लोगों को लोन देना है या नहीं।

सिबिल स्कोर की रेंज क्या है

आपको बता दें कि किसी भी व्यक्ति का सिबिल स्कोर हमेशा के लिए एक जैसा नहीं रहता है, उसमें उतार-चढ़ाव होता रहता है, सिबिल स्कोर की श्रेणियां कुछ इस प्रकार हैं – 

1. सिबिल स्कोर 750-900

यह दर्शाता है कि आपके पास एक क्रेडिट हिस्ट्री है, और आपने पहले के क्रेडिट यानी उधार को समय पर चुका रखा है, सिबिल स्कोर की यह श्रेणी बहुत ही बढ़िया मानी जाती है।

इसमें किसी भी प्रकार का लोन मिलने की संभावना बहुत ही ज्यादा होती है, इस क्रेडिट स्कोर में होम लोन, पर्सनल लोन, क्रेडिट कार्ड और अन्य असुरक्षित लोन बड़ी ही आसानी से ले सकते हैं।

2. सिबिल स्कोर 700-750

यह सिबिल स्कोर भी यही दर्शाता है कि आपने हमेशा समय पर भुगतान किया है, यह सिबिल स्कोर बहुत ही अच्छा माना जाता है, लेकिन बैंक अपनी तरफ से कुछ डिटेल्स को खंगाल सकता है, और बैंक अपनी मर्जी के अनुसार ही क्रेडिट कार्ड और लोन ऑफर करता है।

3. सिबिल स्कोर 550-700

यह दर्शाता है कि आपने पिछले बकाया को चुकाने में कुछ गलतियां कर रखी हैं, हो सकता है कि आपने पिछले बकाया को चुकाया ना हो या देरी से भुगतान किया हो, इस श्रेणी के अंदर बैंक को लोन व क्रेडिट कार्ड देना थोड़ा जोखिम भरा लगता है, अगर आपको बैंक लोन देता है तो उसके ऊपर अधिक ब्याज दर भी लगाई जा सकती है।

4. सिबिल स्कोर 300-550

यह दर्शाता है कि आपने पिछले बकाया को चुकाने में बहुत ही अधिक मात्रा में गलतियां कर रखी हैं, इसके मुख्य कारण हो सकते हैं पिछली कुछ किस्त बकाया हो, पिछला लोन चुकाने में असमर्थ, बहुत ही अधिक मात्रा में लोन के लिए अप्लाई कर दिया हो आदि, इसमें ज्यादातर मौकों पर लोन नहीं मिल पाता है।

सिबिल स्कोर जरूरी क्यों होता है

Cibil Score उन लोगों के लिए बहुत मायने रखता है जो बैंक से किसी भी प्रकार का लोन लेते हैं या लोन लेने की सोच रहे हैं, Cibil Score अच्छा होगा तभी आप लोन ले सकते हैं।

ये भी पढ़े – बिटकॉइन से पैसे कैसे कमाए

अगर आपने बीते समय में कोई लोन लिया है और उसका भुगतान समय पर किया है, तो उससे आपकी क्रेडिट हिस्ट्री अच्छी होगी, आपका सिबिल स्कोर बढ़ने में सहायता होगी और आपको बड़ी ही आसानी से लोन मिल जाएगा।

FAQs सिबिल स्कोर से संबंधित

सिबिल स्कोर क्या है?

सिबिल स्कोर 300 और 900 के बीच एक तीन अंकों का नंबर होता है, यह आपकी क्रेडिट योग्यता को दर्शाता है, अगर आपका उच्च स्कोर होगा तो यह आपको लोन और क्रेडिट कार्ड पर तेज़ अप्रूवल और बेहतर डील प्राप्त करने में सहायता कर सकता है, ज्यादातर बैंक और नॉन-बैंकिंग के क्षेत्र में लोन अप्रूवल के लिए जरूरी न्यूनतम क्रेडिट स्कोर 750 है।

सिबिल स्कोर कैसे बढ़ा सकते हैं?

अगर आप Cibil Score बढ़ाना चाहते हैं तो समय समय पर अपनी ईएमआई का भुगतान करते रहें, अलग अलग क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई न करें, इनके अलावा भी बहुत से उपाय हैं जिन्हें अपनाकर आप अपना सिबिल स्कोर बढ़ा सकते हैं, उनके बारे में हमने आपको ऊपर अच्छे से बता दिया है।

एक अच्छा सिबिल स्कोर कितना होता है?

जैसा कि आपको पता है कि सिबिल स्कोर 300 से 900 तक होता है, अगर आपका सिबिल स्कोर 800 से अधिक है तो वह एक अच्छे सिबिल स्कोर की श्रेणी में आता है।

सिबिल स्कोर ऑनलाइन चेक कैसे करें?

इसके लिए आपको सबसे पहले cibil.com पर जाना है, अब आपको गेट माय सिबिल स्कोर पर क्लिक करना है, फिर सदस्यता उत्पाद को चुनना है, फिर अपना पहचान प्रमाण का विवरण देना है, उसके बाद फीस का भुगतान करना है, उसके बाद आपका सिबिल स्कोर आपकी ईमेल आईडी पर भेज दिया जाएगा।

सिबिल स्कोर को अपडेट होने में कितना समय लगता है?

सिबिल के अनुसार आपका सिबिल स्कोर 30 से 45 दिनों में अपडेट हो जाता है, इस कार्य को पूरा होने में कम से कम 30 दिनों का समय लगता है और ज्यादा से ज्यादा 45 दिनों का समय लगता है, मान लीजिए आज आपने किसी लोन या क्रेडिट कार्ड के बिल की पेमेंट करी है, तो उसको अपडेट होने में 45 दिनों तक का समय लग सकता है।

Conclusion

इस आर्टिकल के जरिए हमने जाना कि सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए अगर आपको इस आर्टिकल में कुछ समझ नहीं आया है, या आप कोई और जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, या हमारे लिए आपके पास कोई और सुझाव है तो आप आर्टिकल के नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमें अपनी राय दे सकते हैं, हम आपके कमेंट का जवाब जल्द से जल्द देने का प्रयास करेंगे। अगर आपको आर्टिकल अच्छा लगा है तो इसे शेयर अवश्य करें।

इस आर्टिकल को शेयर करें

MakeHindi.Com is a Professional Educational Platform. Here we will provide you only interesting content, which you will like very much. We’re dedicated to providing you the best of Education.

Leave a Comment