सिनेमा का आविष्कार किसने और कब किया था इसके फायदे और नुकसान जानिये

सिनेमा का आविष्कार किसने और कब किया जब से हमारी जिंदगी में सिनेमा आया है तब से हमारी जिंदगी पूरी तरह बदल गई है सिनेमा आने से हमारी जिंदगी में अनेकों प्रकार के लाभ देखने को मिले हैं और इसी के साथ साथ हमें इससे कुछ नुकसान भी हुए हैं तो यहाँ हम जानेंगे सिनेमा क्या होता है और इसके क्या फायदे और नुकसान हैं।

सिनेमा का आविष्कार किसने और कब किया

आज के समय ऐसा कोई इंसान नहीं है जिसने सिनेमा नहीं देखा होगा हालाकि आज मनोरंजन के लिए लोग ऑनलाइन कंटेंट पर शिफ्ट होते जा रहे हैं लेकिन आज भी काफी लोग अपने पसंदीदा एक्टर की एक्टिंग को देखने के लिए सिनेमा जाना पसंद करते हैं लेकिन धीरे धीरे सिनेमा की लोकप्रियता ख़त्म होती जा रही है और इसकी सबसे बड़ी वजह इसका समय और कंटेंट है जब इंटरनेट नहीं आया था तो मनोरंजन का सबसे बड़ा साधन सिनेमा था लेकिन इंटरनेट में सिनेमा की सारी सुविधा मिलने के कारण लोग सिनेमा को भूलते जा रहे हैं।

अगर आपको अभी भी सिनेमा के बारे में पूरी जानकारी नहीं है तो आज इस आर्टिकल में आपको हम सिनेमा से रिलेटेड हर एक जानकारी प्रदान करें अगर सिनेमा से रिलेटेड किसी भी प्रकार का डाउट आपके मन में हैं तो इस आर्टिकल को पूरा अंत तक जरूर पढ़ें क्योंकि इस आर्टिकल के अंदर हमने लगभग ए टू जेड जानकारी देने की कोशिश की है।

हमने सिनेमा पर पूरी रिसर्च कर के इस आर्टिकल को अच्छे से तैयार किया है ताकि जो भी व्यक्ति इस आर्टिकल को पढ़े  उसे सिनेमा के बारे में अच्छी से अच्छी जानकारी मिल सके तो चलिए जानते हैं Cinema Ka Avishkar Kisne Aur Kab Kiya उम्मीद करते हैं यह आर्टिकल आपको पसंद आएगा।

सिनेमा क्या है

ज्यादातर लोग जब सिनेमा देखने के लिए जाते हैं तो उनका मेन मकसद रहता है कि उनका थोड़ा बहुत मनोरंजन हो जाए और आज के टाइम में लगभग फिल्में भी ऐसी ही आ रही है जो कि मनोरंजन के लिए बनाई जाती हैं लेकिन इन फिल्मों के अंदर भी कुछ ऐसी फिल्में रिलीज की गई है जो की ऐतिहासिक फिल्म है।

जिनके अंदर इतिहास की जानकारी दी गयी है, जो बच्चा पढाई में कमजोर होता है तो वह इन फिल्मों के जरिए इतिहास को बहुत ही जल्दी समझ पाता है तो एक प्रकार से कहें तो सिनेमा हमारे जीवन में अच्छा भी साबित हो रहा है।

जिस प्रकार से आपने कई बार देखा होगा कि बहुत सी जगह पर स्टेज प्रोग्राम होते हैं जहां पर कुछ लोग इकट्ठे होकर अपनी कलाओं का प्रदर्शन करते हैं उसी प्रकार सिनेमा के अंदर भी बहुत से लोग इकट्ठे होकर अपनी कला का प्रदर्शन करते हैं लेकिन सिनेमा की कला और अन्य कलाओं के अंदर काफी अंतर होता है।

सिनेमा की लैंग्वेज भी अन्य कलाओं की लैंग्वेज से अलग होती है सिनेमा कई सारी कलाओं का मिश्रण कर के बना होता है इस प्रकार से सिनेमा अन्य कलाओं से अलग होता है, सिनेमा के अंदर हमें एक कहानी के जरिए पूरी जानकारी दी जाती है और कुछ करैक्टर द्वारा उसी को एक बड़े पर्दे पर प्रदर्शित किया जाता है जिसे हम सिनेमा या चलचित्र के नाम से जानते हैं।

सिनेमा का आविष्कार किसने और कब किया

सिनेमा का आविष्कार Louis and Auguste Lumiere ने किया था, लुमियर ब्रदर्स फ्रांस के रहने वाले दो भाई थे और इन्होने सिनेमा को सबसे पहले सन् 1895 में इसे सबके सामने प्रस्तुत किया और सबसे पहले सिनेमा को पेरिस के Society for the Development of the National Industry में दिखाया गया था।

अमेरिका के बाद सिनेमा की दुनिया में भारत का दूसरा स्थान है और भारत में सबसे पहला सिनेमा दादा साहेब फाल्के के द्वारा सन् 1913 बनाया गया जिसे कि लोगों द्वारा बहुत ही ज्यादा पसंद किया गया और उसके बाद वर्तमान समय तक काफी फिल्मों का निर्माण भारत द्वारा किया गया यानी कि भारत में दादा साहेब फाल्के को सिनेमा का जनक माना जाता है।

सिनेमा बनाम OTT प्लेटफार्म

सिनेमा देखने के लिए आपको घर से बाहर जाना पड़ता है और फिर निश्चित समय में आप सिनेमा देख सकते हैं लेकिन क्या हो अगर आप सिनेमा अपने घर में देख सकें वो भी किसी भी समय अब ऐसी सुविधा मिलेगी तो कोई भी इसका फायदा उठाना चाहेगा सिनेमा को बदलने का सबसे बड़ा कारण इंटरनेट है क्योंकि इंटरनेट से सिनेमा को घर घर पहुँचाने का काम किया है।

इसके अलावा अब सिनेमा में रिलीज़ होने वाली काफी फिल्मे अब ऑनलाइन OTT प्लेटफार्म नेटफ्लिक्स और अमेजन प्राइम में रिलीज हो रही हैं और यह ऑनलाइन प्लेटफार्म सिनेमा में लगने वाले पैसे की तुलना में काफी सस्ता सब्सक्रिप्शन देते हैं इस वजह से भी काफी लोग फिल्मों को ऑनलाइन देखना ही पसंद करते हैं।

सिनेमा के आविष्कार से फायदा

अगर आपने सिनेमा के बारे में जानकारी हासिल कर ली है तो अब आपके मन में सवाल उठ रहा है कि सिनेमा से हमें फायदा है या फिर नहीं तो सिनेमा से हमें कई प्रकार के फायदे हो सकते हैं तो चलिए हम आपको बताते हैं कि सिनेमा से हमें क्या-क्या फायदे होते हैं चलिए जानते हैंआज के समय में कुछ बच्चे ऐसे हैं जिन्हें की हमारा इतिहास जाने में काफी दिक्कत होती है और पढ़ाई करते वक्त उन्हें इतिहास की चीजें याद नहीं रहती हैं।

आज इस समय पर इतिहास से रिलेटेड काफी फिल्में रिलीज की गई है जिसके जरिए कि बच्चों को इतिहास की जानकारी बड़ी ही आसानी से हो जाती है क्योंकि बच्चे फिल्म देखना पसंद करते हैं और अगर वह इतिहास से रिलेटेड फिल्म देखेंगे तो फिल्म के जरिए उन्हें इतिहास की जानकारी बड़ी आसानी से याद हो जाएगी तो इस प्रकार से बच्चों के लिए सिनेमा काफी फायदेमंद है।

समाज को सुधारने के लिए भी सिनेमा ने बहुत ही बड़ा योगदान दिया है और साथ में आने वाले समय के लिए योगदान दे रहा है क्योंकि हमारे समाज में कुछ ऐसे लोग भी हैं जो कि गलत काम करते हैं लेकिन सिनेमा के जरिए कुछ ऐसी फिल्मों को बनाकर उन्हें हिदायत दी जाती है जिसके जरिए कि वह सुधर जाए। 

सिनेमा के अंदर कुछ ऐसी फिल्मों का भी निर्माण किया गया है जिसके जरिए समाज सुधारक के कार्य काफी हुए हैं और ऐसी ऐसी फिल्में बनाई गई हैं जिससे कि हम लोगों के आसपास काफी सुधार देखने को मिला है और इसका कारण यह है कि फिल्मों के अंदर चलचित्र के द्वारा उन सभी लोगों को समझाया जाता है जो कि बुरे काम करते हैं और उन्हें पता लग जाता है कि बुरे काम का क्या अंजाम होता है तो इस प्रकार से इन फिल्मों के जरिए और हमारे सिनेमा के जरिए काफी सुधार वाले कार्य हो रहे हैं।

सिनेमा के आविष्कार से नुकसान

जिस प्रकार से सिनेमा आने से हमें काफी लाभ देखने को मिले हैं इसी प्रकार से सिनेमा से कुछ हमें नुकसान भी देखने को मिले हैं तो चलिए अब हम जानते हैं कि सिनेमा से हमें क्या-क्या नुकसान हुए हैं।

जिस प्रकार से सिनेमा के अंदर ऐतिहासिक फिल्मों का निर्माण होता है उसी प्रकार से वर्तमान समय में सिनेमा के अंदर कुछ ऐसी फिल्मों का भी निर्माण हुआ है जिससे कि लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचती है और कुछ फिल्में ऐसी भी है जिससे कि लोग क्राइम की दुनिया की तरफ ज्यादा आकर्षित होते हैं।

आज के समय में सिनेमा के अंदर डेली नई-नई फिल्में रिलीज होती है जिसके चलते कई ऐसे बच्चे होते हैं जो कि डेली सिनेमा मूवी में देखने के लिए जाते हैं और इस कारण से उनका कीमती समय भी बर्बाद होता है और साथ में पैसे भी बर्बाद होते हैं।

ये भी पढ़े – PayTM से घर बैठे पैसे कैसे कमाए

वर्तमान समय में सिनेमा के अंदर रात को लेट तक फिल्म लगती है जिस कारण से कि लड़के और लड़कियां रात को लेट तक फिल्में देखने जाते हैं और जिस कारण से उनके साथ रात को कोई भी गलत काम हो सकता है।

FAQ सिनेमा के आविष्कार से संबंधित

भारत में सिनेमा का आविष्कार किसके द्वारा किया गया?

भारत में सिनेमा का आविष्कार दादा साहेब फाल्के द्वारा सन् 1913 में किया गया था। दादा साहब फाल्के का जन्म 30 अप्रैल 1870 को महाराष्ट्र के नासिक में एक मराठी परिवार में हुआ था। उनका असली नाम धुंडिराज गोविंद फाल्के था लेकिन बाद में उन्हें दादा साहब फाल्के के नाम से जाना गया। दादा साहब फाल्के को भारतीय सिनेमा का पितामह कहा जाता है।

भारतीय सिनेमा की पहली टॉकी फिल्म कौन सी थी?

भारत की पहली टॉकी फिल्म आलम आरा थी आलम आरा फिल्म को 1931 में रिलीज किया गया था, इस फिल्म को इम्पीरियल फिल्म कंपनी द्वारा बनाया गया था और इस फिल्म के निर्देशक आर्देशिर ईरानी थे। ईरानी को टॉकी फिल्म बनाने का विचार अमेरिकन फिल्म शो बोट (1929) को देखने के बाद आया था।

भारतीय सिनेमा की पहली स्वदेशी रंगीन फिल्म कौन सी थी?

1937 में रिलीज की गई किसान कन्या फिल्म भारत की पहली रंगीन स्वदेशी फिल्म थी। इस फिल्म के निर्माता आर्देशिर ईरानी थे और मोती गिडवानी ने इस फिल्म का निर्देशन किया था।

सिनेमा का आविष्कार कौन से सन् में किया था?

आज जितनी भी टेक्नोलॉजी चल रही हैं उनमें से अधिकतर का का जन्म सन् 1800 से शुरू हो गया था यह वहीं समय था जब वैज्ञानिक नए नए आविष्कार कर रहे थे सिनेमा का आविष्कार भी इसी सदी यानी 1895 में हुआ था जिसे सबसे पहले फ्रांस के दो भाइयों Louis and Auguste Lumiere ने लोगो के सामने सफल प्रस्तुतिकरण किया था।

सिनेमा के आविष्कार के बाद लोगो के जीवन में क्या बदलाव आये हैं?

सिनेमा के आविष्कार से हमारी जिंदगी में काफी सारे बदलाव देखने को मिले जैसे कि जब हमारे लाइफ में सिनेमा नहीं था तो लोग आपस में बैठकर बातें किया करते थे लेकिन जब से सिनेमा आया है तब से लोग एक दूसरे से मिलना जुलना काफी कम हो चुका है।
सिनेमा आने से काफी फायदे भी हुए हैं जैसे कि हमें हमारे इतिहास के बारे में जानकारी मिलती है और अन्य समाज सुधारक बातों की भी जानकारी हमें मिलती है तो इस प्रकार से जब से सिनेमा हमारी जिंदगी में आया है तब से हमें हमारी जिंदगी में काफी बदलाव देखने को मिले हैं जिसमें से कुछ बदलाव अच्छे हैं और कुछ बदलाव बुरे भी हैं।

Conclusion

आज के इस आर्टिकल में हमने जाना कि सिनेमा का आविष्कार किसने किया और कब किया और इस आर्टिकल के अंदर हमने आपको सिनेमा से रिलेटेड हर एक जानकारी प्रदान की है। अगर आपको फिर भी सिनेमा से रिलेटेड किसी भी प्रकार का डाउट है तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते हैं, हम आपका जल्दी से जल्दी रिप्लाई करने की कोशिश करेंगे। अगर आपको आज का यह आर्टिकल अच्छा लगा है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों में और अपनी फैमिली मेंबर के साथ जरुर शेयर करें।

इस आर्टिकल को शेयर करें

MakeHindi.Com is a Professional Educational Platform. Here we will provide you only interesting content, which you will like very much. We’re dedicated to providing you the best of Education.

Leave a Comment