कलेक्टर कैसे बने IAS की सैलरी आयु सीमा और प्रक्रिया जाने

आज के आर्टिकल में हम जानेंगे कलेक्टर कैसे बने IAS की सैलरी आयु सीमा और प्रक्रिया आज के समय में हर कोई कलेक्टर या IAS बनना चाहता है क्योंकि कलेक्टर का पद एक बहुत ही मान सम्मान वाला पद होता है। हर एक बच्चे का कलेक्टर बनने का सपना होता है IAS बनने के लिए जितनी मेहनत करनी पड़ती है, तो कलेक्टर बनने के उपरांत मेहनत का फल भी मिलता है ऐसा माना जाता है कि भारत में आईएस की परीक्षा सबसे कठिन होती है जिसे पास करने के लिए पहले तो आपको ग्रेजुएट होना जरुरी उसके बाद आपको IAS की परीक्षा UPSC में पास होना होता है।

कलेक्टर कैसे बने

भारत में जितने भी जिले हैं उन सभी के अपने जिला कलेक्टर होते हैं जिनका काम अपने जिले में कानून व्यवस्था को बनाये रखना और उसे सुचारू रूप से चलाना होता है इसके अलावा एक IAS की कई सारी जिम्मेदारियां होती है जिन्हें उन्हें ईमानदारीपूर्वक निभाना होता है अगर बात करें कि किसी जिले में सबसे बड़ा पद कौन सा होता है तो उसे आप आईएस यानी कलेक्टर के रूप में मान सकते हैं

इस आर्टिकल में मैं आपको IAS के विषय में हर एक जानकारी डिटेल में दूंगा। आइए आर्टिकल को शुरू करते हैं और सबसे पहले जान लेते हैं कि कलेक्टर कौन होता है और कलेक्टर का काम क्या होता है फिर हम देखेंगे कि IAS ऑफिसर कैसे बन सकते हैं और कलेक्टर बनने के लिए किस एग्जाम को क्लियर करना होगा।

कलेक्टर कैसे बने

जिला कलेक्टर का पद हासिल करने के लिए आपको UPSC जाने की यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन का एग्जाम देना होगा जब आप UPSC क्लियर कर लेंगे तो उसके बाद ही कलेक्टर बन सकते हैं। आपको बता दूं कि UPSC 3 चरणों में पार की जाती है पहला प्रारंभिक परीक्षा होती है जो कि एक लिखित परीक्षा है इसके बाद मुख्य परीक्षा और आखिर में इंटरव्यू क्लियर करना होता है जो कि सबसे मुश्किल माना जाता है।

इसके अलावा IAS ऑफिसर बनने के लिए हमें बहुत से मानकों से गुजरना पड़ता है जब UPSC एंट्रेंस एग्जाम लेकर आता है तो उसे क्लियर करके ही आप परीक्षा दे सकते हैं। बिना UPSC करे आप कलेक्टर नहीं बन पाएंगे, क्योंकि कलेक्टर के लिए पदों का भराव UPSC द्वारा ही होता है।

कलेक्टर कौन होता है

कलेक्टर एक उच्च अधिकारी होता है जिसे लोग IAS के नाम से भी जानते हैं। आप ने कलेक्टर से ज्यादा आईएएस नाम अधिक सुना होगा कलेक्टर या आईएएस एक बहुत ही गणमान्य पद होता है। भारत के हर एक राज्य में अलग अलग जिलों में डिस्टिक IAS ऑफिसर होता है डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर के नीचे बहुत सारी अधिकारी काम करते हैं कलेक्टर एक ऐसा प्रशासनिक व्यक्ति होता है जो राज्य के किसी भी एक जिले में काम करता है।

कलेक्टर कैसे बने

आसान भाषा में समझाने की कोशिश करूं तो कहना चाहूंगा कि कलेक्टर एक पूरे जिले का मालिक होता है किसी भी एक जिले में सबसे बड़ा अधिकारी IAS ऑफिसर को ही माना जाता है और अपने नीचे आने वाले सभी प्रशासनिक अधिकारियों को संभालने की जिम्मेवारी भी कलेक्टर की ही होती है कलेक्टर का काम जिले में कानून व्यवस्था को बरकरार रखना और शांति बनाए रखना होता है। आइए कलेक्टर द्वारा किए जाने वाले सभी कामों को विस्तार से देख लेते हैं।

कलेक्टर का काम क्या होता है

कलेक्ट्रेट गणमान्य और उच्च पद होता है इसलिए इसका कार्यभार भी काफी ज्यादा होता है वैसे कलेक्टर के नीचे बहुत सारे बड़े बड़े अधिकारी काम करते हैं जो इन कामों को संभाल लेते हैं लेकिन हो रहे काम की निगरानी रखना कलेक्टर का ही काम होता है IAS ऑफिसर द्वारा किए जाने वाले कामों की सूची नीचे दी गई है।

  • अपने जिले की भूमिका का मूल्यांकन करना कलेक्टर का काम होता है।
  • कलेक्टर भूमि अधिग्रहण करने का काम भी करता है।
  • अपने जिले में आने वाली भूमि का रिकॉर्ड रखना राजस्व का संग्रहण करना और भूमि सुधार से जुड़े सभी कार्य भी कलेक्टर ही करता है।
  • उत्पाद शुल्क बकाया इनकम टैक्स और सिंचाई पर बकाया को वसूलने का काम भी कलेक्टर का ही होता है।
  • लोगों को महामारी बाढ़ या किसी प्राकृतिक आपदा से बचाने का काम भी कलेक्टर का ही होता है।
  • दंगों के समय जनता की सुरक्षा का ख्याल भी कलेक्टर ही रखेगा।
  • IAS ऑफिसर फसलों पर बीमा और लोन आदि की सुविधाओं में फेरबदल कर सकता है।
  • कलेक्टर जिला योजनाओं की अध्यक्षता भी करता है।
  • जिले में आने वाले बैंकों की आपस में संबंधित से समिति का अध्यक्ष भी कलेक्टर ही होता है।

कलेक्टर बनने के लिए योग्यता

अगर आप कलेक्टर बनना चाहते हैं तो पहले IAS ऑफिसर के लिए आवश्यक योग्यता के बारे में जानकारी जरूर ले लीजिए क्योंकि अगर आप बिना जानकारी हासिल किए कलेक्टर के लिए अप्लाई करेंगे तो हो सकता है कि आपकी एप्लीकेशन को रिजेक्ट कर दिया जाए।

IAS ऑफिसर बनने के लिए आपको किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएट होना होगा क्योंकि अगर आपकी ग्रेजुएशन कंप्लीट नहीं है तो आप UPSC एग्जाम नहीं दे पाएंगे जो कि कलेक्टर बनने के लिए जरूरी होता है। आपको बता दूं कि अगर आप IAS ऑफिसर बनना चाहते हैं तो आपके पास भारत की राष्ट्रीयता होने जरूरी है क्योंकि केवल भारत के नागरिक ही कलेक्टर बन सकते हैं।

कलेक्टर बनने के लिए आयु सीमा

आईएस ऑफिसर बनने के लिए हमारे देश में अलग अलग कैटेगरी के हिसाब से अलग अलग आयु सीमा निर्धारित की गई है।

अगर आप जनरल कैटेगरी से हैं तो आपकी आयु कम से कम 21 वर्ष और ज्यादा से ज्यादा 32 वर्ष होने चाहिए क्योंकि जनरल कैटेगरी के लिए आयु सीमा में कोई छूट नहीं मिलती।

अगर आप ओबीसी श्रेणी से आते हैं तो भी 21 से 32 वर्ष की आयु सीमा निर्धारित की गई है लेकिन यहां पर उम्मीदवारों को 3 वर्ष की छूट दी जाती है यानी कि 35 वर्ष तक भी आईएएस बन सकते हैं।

अगर आप SC/ST कैटेगरी से बिलॉन्ग करते हैं तो यहां पर आपको 5 वर्ष की छूट मिलेगी यानी कि आप 37 साल की उम्र तक भी आईएएस बन सकते हैं।

कलेक्टर बनने के लिए कौन सी किताब पढ़े

अगर आप किसी संस्थान में कलेक्टर बनने की तैयारी करेंगे तो आपके लिए ज्यादा सही रहेगा संस्थान द्वारा आपको IAS ऑफिसर बनने की सभी किताबें भी प्रोवाइड करवाई जाएगी। लेकिन अगर आप चाहे तो घर बैठे भी UPSC की तैयारी कर सकते हैं और बहुत सारे स्टूडेंट्स ऐसे करते भी हैं।

आप इसके लिए किसी भी गणमान्य संस्थान द्वारा बताई गई किताबों को खरीद सकते हैं दृष्टि आईएएस जो कि भारत का एक गणमान्य संस्थान है इसके द्वारा रिकमेंड की गई किताबों का लिंक मैं नीचे दे दिया है।

Books Link

कलेक्टर के लिए अप्लाई कैसे करें

अगर आप कलेक्टर के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तो ध्यान रखिए कि सबसे पहले आपको UPSC की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा और वहां पर UPSC एग्जाम के लिए अप्लाई करना होगा। जब आप यूपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट खोलेंगे तो वहां पर आपको ऑनलाइन एग्जामिनेशन अप्लाई का ऑप्शन मिल जाएगा।

यहां से आप एग्जाम के लिए अप्लाई कर सकते हैं इसके लिए आपको अपने निम्नलिखित डाक्यूमेंट्स भरने होंगे और पूरा प्रोसेस कंप्लीट होने के बाद ₹100 का शुल्क देना होगा।

कलेक्टर के लिए अप्लाई करने के लिए डाक्यूमेंट्स

  • पहचान पत्र के तौर पर आधार कार्ड
  • स्थाई निवास प्रमाण पत्र
  • जनरल कैटेगरी के अलावा किसी कैटेगरी में है तो जाति प्रमाण पत्र
  • Graduation की मार्कशीट
  • सबसे लेटेस्ट दो पासपोर्ट साइज फोटो
  • स्थाई मोबाइल नंबर
  • Gmail ID
  • सिग्नेचर या थम्प्रिंट/ कई बार दोनों

UPSC क्या है

भारत की केंद्र सरकार में रिक्त पदों पर भर्तियां UPSC द्वारा ही की जाती है UPSC का काम खाली पदों पर भर्तियां निकालना और एग्जामिनेशन आयोजित करना होता है। एग्जामिनेशन हो जाने के बाद इंटरव्यू लेने का काम भी UPSC द्वारा ही किया जाता है इसके बाद विद्यार्थियों की रैंक निर्धारित कर के रिक्त पदों के लिए विद्यार्थियों का चुनाव करना होता है।

UPSC तीन चरणों में एग्जामिनेशन पूरा करता है आइए इन तीनों के बारे में जानकारी ले लेते हैं।

Preliminary Exam

प्रारंभिक एग्जामिनेशन में आपको करंट अफेयर और जनरल स्टडीज से जुड़े हुए सवाल आप पूछे जाते हैं यह एक रिटन एग्जाम होता है जिसको क्लियर करना अनिवार्य होता है अगर आप प्री एग्जाम क्लियर नहीं करेंगे तो आप मेन एग्जाम नहीं दे पाएंगे।

Mains Exam

मेन एग्जाम अलग-अलग विषयों पर एक मुश्किल एग्जाम माना जाता है अगर आप यह एग्जाम क्लियर करते हैं तो ही आप इंटरव्यू के लिए आगे बढ़ सकते हैं।

स्टूडेंट्स के लिए प्रारंभिक एग्जाम अधिक मुश्किल नहीं होता लेकिन मेन एग्जाम काफी उलझा हुआ लगता है क्योंकि यहां पर अलग-अलग देशों से प्रश्न पूछे जाते हैं।

Interview

इंटरव्यू में कैंडिडेट की परफॉर्मेंस हाव-भाव मानसिक और शारीरिक योग्यता को देखा जाता है, यह इंटरव्यू काफी मुश्किल माना जाता है।

लेकिन एक बार इंटरव्यू करने के बाद अगर आप सिलेक्ट हो जाते हैं तो इसके बाद आपकी ट्रेनिंग होती है और ट्रेनिंग के बाद डायरेक्ट पोस्टिंग हो जाती है।

आइए एक बार देख लेते हैं कि कलेक्टर की ट्रेनिंग कहां होती है और IAS ऑफिसर का वेतन के बारे में भी विचार करेंगे और आगे कलेक्टर के बारे में पूछे जाने वाले कुछ सवालों को देखना बिल्कुल ना भूलें

कलेक्टर की ट्रेनिंग कहां होती है

जब आपकी UPSC की परीक्षा पास हो जाएगी तो इसके बाद आपको ट्रेनिंग करने के लिए लाल बहादुर शास्त्री नेशनल अकैडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन में भेजा जाएगा। यह आईएएस ऑफिसर के लिए ट्रेनिंग सेंटर होता है जहां पर उन्हें अपने पद के बारे में जरूरी जानकारी दी जाती है। ट्रेनिंग पूरी हो जाने के बाद पोस्टिंग के लिए भेजा जाता है, पोस्टिंग के बाद आप कलेक्टर के रूप में अपना पद संभाल पाएंगे।

कलेक्टर को कितनी सैलरी मिलती है

दोस्तों कलेक्टर बनने के लिए लाखों कैंडिडेट तैयारी करती हैं और इनमें से लगभग सभी के मन में यह विचार होता है कि कलेक्टर को कितनी तनख्वाह दी जाती है। आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि IAS ऑफिसर की शुरुआती तनख्वाह 60,000 भारतीय रुपए से तीन लाख भारतीय रूपया तक होती है।

सैलरी के अलावा सरकार कलेक्टर को और भी बहुत सारी सुविधाएं देती है, सुविधाओं के तौर पर कलेक्टर को रहने के लिए एक अच्छा बंगला और घर के कामकाज के लिए नौकर चाकर भी सरकार द्वारा दिए जाती हैं। इसके अलावा सरकार द्वारा एक बढ़िया गाड़ी और ड्राइवर भी सरकार द्वारा मुफ्त उपलब्ध करवाया जाता है। अगर आप IAS ऑफिसर बनते हैं तो आपका लगभग हर प्रकार का खर्चा सरकार ही उठाती है।

कलेक्टर से जुड़े प्रश्न

1. क्या हम 12वीं के बाद कलेक्टर बन सकते हैं

अगर आपने अभी तुरंत 12वीं पास की है और आप कलेक्टर बनने का सपना देख रहे हैं तो आपको बता दूं कि आपको पहले ग्रेजुएशन कंप्लीट करनी होगी क्योंकि अगर आप ग्रेजुएशन कंप्लीट नहीं करते हैं तो आप UPSC की परीक्षा नहीं दे पाएंगे क्योंकि आईएएस और आईपीएस की भर्तियां UPSC द्वारा ही पूरी की जाती है।

आपको 12वीं के बाद किसी भी विषय में बैचलर डिग्री करनी चाहिए और ग्रेजुएशन करते हुए साथ में ही आपको UPSC परीक्षा की तैयारी भी करनी चाहिए, ताकि आपको आगे चलकर परीक्षा उत्तीर्ण करने में कोई परेशानी ना आए। जब आप UPSC क्लियर कर लेंगे तो आपकी पोस्टिंग आईएएस अधिकारी के तौर पर होगी जहां पर आप को पदोन्नति मिलेगी और कुछ समय बाद आप जिला कलेक्टर बन जाएंगे।

2. कलेक्टर की पढ़ाई कितने सालों की होती है

ग्रेजुएशन को ही कलेक्टर की पढ़ाई माना जाता है और ग्रेजुएशन जैसा कि आप जानते हैं केवल 3 वर्ष की होती है आप ग्रेजुएशन के समय से ही IAS ऑफिसर बनने की तैयारी कर सकती हैं।

अगर आप ग्रेजुएशन के बाद UPSC की परीक्षा देने के लिए समय लगाएंगे तो आपको अधिक समय भी लग सकता है लेकिन आपको बता दूं कि अगर आप UPSC क्लियर करना चाहते हैं तो यहां पर आपको अच्छी तैयारी के साथ ही एग्जाम देना चाहिए समय पर ध्यान मत दीजिए।

क्योंकि अगर आप ग्रेजुएशन करते हैं तो आपकी उम्र 22 से 23 वर्ष ही होगी लेकिन अभी आपके पास लगभग 10 साल का समय है तो आप आराम से अपनी परीक्षा उत्कृष्ट कर पाएंगे। इसलिए आपको अधिक जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए आपको पूरी तैयारी के साथ ही आगे बढ़ना चाहिए चाहे एक दो वर्ष फालतू ही क्यों ना लग जाए।

3. कलेक्टर बनने के लिए कितने पैसे लगेंगे

IAS जैसा गणमान्य पद हासिल करने के लिए आपको पैसे के नहीं साहस की जरूरत होती है साहस और बुद्धिमता ही सबसे महत्वपूर्ण होती है अगर आप UPSC क्लियर करना चाहते हैं लेकिन अगर आप किसी संस्थान में रहकर UPSC का एग्जाम देंगे तो भी आपको कम से कम एक से दो लाख तक का खर्चा आ जाएगा। लेकिन इतने गणमान्य पद के लिए यह खर्चा अधिक नहीं है।

इस आर्टिकल में हमने देखा है कि कलेक्टर कैसे बने IAS की सैलरी आयु सीमा और प्रक्रिया कैसा लगा आपको आज का यह आर्टिकल आशा करूंगा कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और इसे आप अपने करीबी साथियों के साथ है जरूर जरूर साझा करेंगे। इस आर्टिकल में मैंने आपको बताया कि कलेक्टर कैसे बनते हैं और IAS ऑफिसर बनने के लिए किस प्रकार की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है। यहां पर मैंने आपको UPSC परीक्षा से जुड़े कुछ सवालों का जवाब भी दिया है आशा करूंगा कि आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा।

ये भी पढ़े –

पेटीएम एजेंट कैसे बनते हैं पूरी प्रक्रिया जानिये

भारत के सात अजूबे फोटो सहित देखिये

भारत की कुल जनसँख्या कितनी है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here