गारंटी और वारंटी में अंतर क्या होता है पूरी जानकारी

गारंटी और वारंटी में अंतर क्या होता है जब आप किसी दुकान में कोई सामान लेने जाते है तो दूकानदार आपको सामान की वारंटी या गांरटी देकर आपको लुभाने की कोशिश करता है. कई बार तो लोग बिना गारंटी और वारंटी के सामान नहीं लेते हैं क्योंकि उन्हें पता होता है कि अगर सामान कुछ दिन बाद खराब हो गया तो वह कुछ नहीं कर सकते है लेकिन अगर सामान की गारंटी या वारंटी है तो लोग खराब हुए सामान को रिपेयर या बदलवा सकते है.

इसी कारण ज्यादातर लोग Guarantee या Warranty वाला सामान लेना पसंद करते है लेकिन आपको बता दे कि गारंटी और वारंटी में अंतर काफी होता है. बहुत से लोग इन दोनों में अंतर नहीं जानते है और असमंजस में रहते है कि आखिर गारंटी क्या होती है और वारंटी क्या होती है अगर आप भी किसी भी तरह से कंफ्यूज है तो आज हम आपको गारंटी और वारंटी के बीच अंतर बताकर आपको कंफ्यूजन दूर करने वाले हैं.

गारंटी और वारंटी में अंतर
guarantee or warranty mein antar

वारंटी का मतलब

सबसे पहले किसी सामान की वारंटी के बारे में जानते है अगर कोई दुकानदार किसी सामान की Warranty देता है तो इसका मतलब ये हुआ कि अगर दुकानदार के द्वारा दिए गए समय के अन्दर सामान खराब हो जाता है तो दुकानदार उस खराब हुए सामान को रिपेयर यानी सुधार करके देगा. इसे ही वारंटी कहते हैं. आपको बता दे कि जब ग्राहक को किसी सामान की वारंटी दी जाती है तो इसके साथ एक वारंटी का बिल भी दिया जाता है. अगर सामान खराब हो जाता है तो ग्राहक इस वारंटी बिल को दिखाकर दुकानदार से सामान को रिपेयर या सुधारवा सकता हैं. वैसे ज्यादातर वारंटी की अवधि 1 साल से ज्यादा तक की होती है.

गारंटी का मतलब

गारंटी में जब कोई दुकानदार किसी सामान की गारंटी देता है तो इस मतलब ये हुआ कि अगर Guarantee अवधि के अंदर सामान खराब हो जाता है तो दुकानकार उस सामान को बापस लेकर आपको नया सामान देता है. इसे ही गारंटी कहते हैं. इसमें भी सामान लेने के दौरान गारंटी कार्ड या बिल दिया जाता है जिसे ग्राहक को अपने पास संभाल कर रखना होता है जिससे अगर गारंटी अवधि के अंदर सामान खराब हो जाए तो ग्राहक गारंटी बिल को दिखाकर अपना सामान बदलवा सकता है.

गारंटी और वारंटी में अंतर

Guarantee और Warranty दोनों में काफी अंतर होता है जैसे अगर वारंटी में सामान खराब हो जाए तो दूकानदार उस सामान को ठीक करके देता है जबकि गारंटी में दुकानदार सामान को ठीक करने की बजाय उसे बदलकर नया सामान देता है. आपको बता दे कि वारंटी लगभग हर सामान में मिल जाती है लेकिन गारंटी कुछ चुनिन्दा सामान पर ही मिलती है वहीं वारंटी का समय अधिक होता है जबकि गारंटी का समय कम होता है. अगर दोनों में फायदे की बात की जाये तो गारंटी में ज्यादा फायदा होता है क्योंकि इसमें सामान रिपेयर होने की बजाय नया सामान मिलता है.

अब आप जान गए होंगे कि गारंटी और वारंटी में अंतर क्या होता है. इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद Guarantee और Warranty के बीच आपका असमंजस दूर हो गया होगा. वैसे आपको बता दे दोनों दशा में आपको सामान खरीदने पर एक बिल दिया जाता है जिसे आपको संभालकर रखना होता है अगर ये बिल कहीं खो जाता है तो दुकानदार से अपना सामान ठीक या नया नहीं ले सकते है क्योंकि दुकानदार इस बिल को देखने के बाद ही आपके सामान पर काम करता है.

ये भी पढ़े –

इस आर्टिकल को शेयर करें

MakeHindi.Com is a Professional Educational Platform. Here we will provide you only interesting content, which you will like very much. We’re dedicated to providing you the best of Education.

5 thoughts on “गारंटी और वारंटी में अंतर क्या होता है पूरी जानकारी”

  1. अगर बाइक इंजन की गारंटी होती है। तो क्या पूरी नई बाइक देगा शोरूम ।

    Reply
  2. Good article…. by the way Philips trimmer par 3 years ki guarantee hai, MRP 1,999 QT4011/15 corded and cordless, ab to lg Raha hai mujhe kharid hi Lena chahiye….

    Reply

Leave a Comment