EMI क्या है EMI कैसे करे पूरी जानकारी

EMI क्या है EMI कैसे करे पूरी जानकारी अगर आपने बैंक या क्रेडिट कार्ड के जरिये लोन लिया है या फिर लेने की सोच रहे है तो आपको यहां EMI की गणना की पूरी जानकारी जान लेना चाहिए. जब आप बैंक से कोई लोन लेते है तो बैंक आपसे EMI के जरिये ही रूपये लेती है और अब तो ऑनलाइन शोपिंग साईट जैसे अमेज़न और फ्लिप्कार्ट में भी आप किसी भी सामान को EMI के जरिये खरीद सकते है ऐसे में सवाल उठता है कि ये EMI क्या होता है और ये कैसे काम करता है अगर आप भी नहीं जानते तो आज हम आपको इसी विषय के बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं.

EMI क्या है
emi kya hai

EMI क्या है

इसकी फुल फॉर्म Equated monthly installment होती है जिसे हिंदी भाषा में कन्वर्ट करे तो ये समान मासिक किश्तें होता है यानी किसी लोन को चुकाने या सामान को खरीदने पर जो समान मासिक किश्तों का भुगतान किया जाता है उसे हम EMI कहते हैं. आज हर किसी को लोन की जरुरत पड़ जाती है लोन में तो आपको एक साथ पूरे रूपये मिल जाते है लेकिन जब आपको लोन को चुकाना होता है तो आप एक साथ पूरे रूपये नहीं चुका सकते है इसलिए इसे आसान बनाने के लिए बैंक आपको EMI का ऑप्शन देती है जिसके जरिये आप हर महीने भुगतान करके अपने लोन को आसानी से चुका सकते हैं आपको बता दे कि जब आप EMI यानी मासिक किश्त चुकाते है तो इसमें आपके मूल रूपये के अलावा ब्याज भी शामिल होता है यानी जो आपकी मासिक किश्त होती है उसमें ब्याज के रूपये भी जोड़ दिए जाते हैं.

EMI कैसे करे

आपको ये तो पता चल गया होगा कि मासिक किश्त को ही EMI कहते हैं अब आप ये भी जानना चाहते होंगे कि EMI कैसे काम करती है तो आपको बता दे कि जो आपने लोन लिया उसे अवधि के हिसाब से बाँट दिया जाता इसके साथ पूरे लोन की राशी में लगने वाले ब्याज को भी अवधि के हिसाब से बाँटकर उसे मासिक किश्त में जोड़ दिया जाता है. उदाहरण से समझे तो जैसे किसी व्यक्ति ने एक साल यानी 12 महीनों के लिए 1 लाख रूपये का लोन लिया है और इसमें बैंक 10% का ब्याज ले रही है तो आपकी एक महीने की किश्त 8792 रूपये बनेगी. इस किश्त में 8333 रूपये प्रिंसिपल यानी मूल राशी रहेगी वहीं इसमें 458 रूपये ब्याज जोड़ा गया है. EMI की ऑनलाइन गणना के लिए आप वेबसाइट emicalculator.net पर जा सकते हैं.

EMI के भुगतान करने के तरीके

मासिक किश्त यानी EMI के भुगतान करने के मुख्यतः दो तरीके हैं जिसमे पहला ऑनलाइन होता है वहीं दूसरा ऑफलाइन होता है. EMI भुगतान के ऑनलाइन तरीके में आप अपने क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड से कर सकते है इसके लिए आपको बैंक की वेबसाइट पर जाना है और वहां अपना क्रेडिट या डेबिट कार्ड नंबर डालना है आपके अकाउंट से मासिक किश्त के रूप में रूपये कट जायेंगे. वहीं ऑफलाइन तरीके में आपको बैंक में जाकर नगद पैसो में भुगतान करना पड़ता हैं.

ऊपर बताई गयी कुछ बातों से अब आपको पता चल गया होगा कि EMI क्या है और EMI कैसे करे अब इन्टरनेट में कई ऐसी वेबसाइट आ गयी है जो आपको ऑनलाइन EMI की गणना करके देती हैं इन वेबसाइट में आपको मूल राशी और ब्याज का प्रतिशत लिखता होता इसके बाद आपको मासिक किश्त या EMI क्या होगी आपको बता दिया जाता है. ऐसी ही एक वेबसाइट emicalculator.net है जिसपर आप EMI की गणना कर सकते हैं.

ये भी पढ़े –

8 COMMENTS

  1. Nice sir, but hme ye janana ydi hamara bank account nhi to… Kya offline EMI paid nhi kr skte bank ja K…. Plzzz btaii q ki mera av bank account nhi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Content is protected !!