हज सब्सिडी क्या है इसकी शुरुआत कैसे हुई

हज सब्सिडी क्या है In Hindi इसकी शुरुआत कब हुई थी तो आज हम आपको इसी विषय के बारे में बताने जा रहे हैं हम सभी जानते हैं कि हर साल लगभग लाखों मुस्लिम अलग अलग देशो से मुस्लिम समुदाय के तीर्थस्थल मक्का और मदीना की तीर्थ यात्रा के लिए सऊदी अरब जाते हैं इनमे भारत के मुस्लिम लोग भी शामिल होते है. मुस्लिमों के मक्का और मदीना की तीर्थ यात्रा को ही हज यात्रा कहते हैं.

मुस्लिम समुदाय में ऐसा माना जाता है कि हर एक मुस्लिम व्यक्ति को अपने जीवनकाल में कम से कम एक बार मक्का और मदीना की तीर्थ यात्रा यानी हज यात्रा जरुर करना चाहिए यह यात्रा इस्लाम के पाँच स्तंभों में से एक है साथ ही यह हर एक मुस्लिम व्यक्ति का धार्मिक कर्तव्य भी है लेकिन पैसों के आभाव के चलते हर एक मुस्लिम के लिए हज यात्रा संभव नहीं होती है हालाकि काफी सालों से भारत सरकार हज यात्रा में सब्सिडी देकर मुस्लिम यात्रियों की मदद कर रही थी जिसे अब बंद कर दिया है तो हज सब्सिडी क्या है चलिए जानते हैं.

Haj Subsidy क्या है
haj subsidy kya hai

हज सब्सिडी क्या है

आपको बता दे कि केंद्र सरकार पहले हज पर जाने वाले मुस्लिम यात्रियों को हवाई सफ़र के किराये पर छूट दिया करती थी जिसे हज सब्सिडी भी कहते हैं अगर किसी मुस्लिम को Haj Subsidy चाहिए होती थी तो वह इसके लिए हज सब्सिडी कमेटी पर आवेदन करता था जहां पर उसे हवाई सफ़र के किराये पर छूट यानी हज सब्सिडी मिलती थी. हवाई किराये में जो भी पैसा लगता था वह कमेटी के तरफ से एयर इंडिया विमान वाहक कंपनी को दिया जाता था.

सुप्रीमकोर्ट के फैसले के अनुसार हज सब्सिडी को बंद करना सही माना गया है क्योंकि हज सब्सिडी का फायदा गरीब मुसलामानों को नहीं मिल रहा था. सुप्रीम कोर्ट ने 2012 में कहा कि हज सब्सिडी को 2022 तक पूरी तरह समाप्त कर दिया जाएगा. इस आदेश में कहा गया था कि यह सब्सिडी न केवल असंवैधानिक है बल्कि कुरान की शिक्षाओं के अनुरूप भी नहीं है. इसके बाद केंद्र सरकार ने हज सब्सिडी को बंद कर इसके पैसों को मुस्लिम लड़कियों की शिक्षा पर खर्च करने का फैसला लिया है.

हज सब्सिडी कब और कैसे शुरू हुई

हज सब्सिडी क्या है ये तो आप जान गए होंगे अब आपको बताते हैं ये हज सब्सिडी कब और कैसे शुरू हुई पहले भारत से मुस्लिम यात्री हज यात्रा के लिए समुद्री मार्ग से जाते थे लेकिन एक बार हज यात्रा के लिए जा रहे यात्रियों का भयंकर हादसा हुआ जिसमें कई मुस्लिम यात्रियों की जान चली गयी थी ये हादसा साल 1973 में हुआ था. इन हादसों को देख कर इंदिरा गाँधी की सरकार ने हवाई सब्सिडी की शुरुआत की थी.

इस सब्सिडी के अंतर्गत हज कमेटी ऑफ इंडिया का गठन किया गया जो हर साल हज पर जाने वाले यात्रियों को आर्थिक रूप से यानी हवाई किराये देने पर मदद करती थी. समुद्री मार्ग में होने वाले हादसों को देखते हुए हज यात्रा के लिए हवाई यात्रा की शुरुआत की गयी थी. आपको बता दे कि हज यात्रियों को हज यात्रा पर जाने के लिए करीब 8 महीने पहले पैसे जमा कराने पढ़ते है और हज के फॉर्म को भरना पढ़ता है जिसकी कीमत 300 रूपये होती है.

तो अब आप जान गए होंगे कि हज सब्सिडी क्या है In Hindi हज सब्सिडी की शुरुआत कब और कैसे हुई थी. सुप्रीमकोर्ट के एक फैसले के बाद हज सब्सिडी को अब ख़त्म कर दिया गया है क्योंकि इससे गरीब मुस्लिम लोगो को फायदा नहीं मिल रहा था अब इस हज सब्सिडी के पैसों को मुस्लिम लड़कियों की पढ़ाई पर खर्च किया जा रहा है.

ये भी पढ़े –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here