Mankading क्या है इससे जुड़ा क्रिकेट नियम जानिए

Mankading क्या है in Hindi क्रिकेट में इसका मतलब क्या होता है आईपीएल 2019 के शुरूआत में ही एक नया विवाद सामने आया है. जब राजस्थान रॉयल और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच खेले गए मुकाबले पंजाब टीम के गेंदबाज रविचन्द्रन अश्विन ने राजस्थान रॉयल के खिलाड़ी जॉस बटलर को Mankading के तहत रनआउट कर दिया था. इस रनआउट ने पूरे मैच का रुख बदल दिया था. जिस तरह से जॉस बटलर खेल रहे थे. उससे यही लग रहा था कि राजस्थान रॉयल यह मैच आसानी से जीत जाएगी लेकिन जॉस बटलर के आउट होने के बाद राजस्थान रॉयल टीम स्कोर को चेज नहीं कर पायी और उसे पंजाब टीम के खिलाफ इस मैच में हार का सामना करना पड़ा.

Mankading क्या है in Hindi
mankading kya hai

ऐसे में बहुत से क्रिकेट प्रेमी जानना चाहते है कि आखिर मांकडिंग का इतिहास क्या है और यह क्रिकेट में कब से लागू हुआ है. और इससे जुड़ा क्रिकेट नियम क्या कहता है. रविचंद्रन अश्विन के जॉस बटलर के रनआउट किये जाने पर अब तक कई बड़े क्रिकेटरों के बयान सामने आ चुके हैं जिसमें कई लोगो ने इसे नियम तो कुछ लोगो ने इसे खेल भावना के विपरीत बताया है. हालाकि यह क्रिकेट का एक नियम है लेकिन कहीं न कहीं अश्विन को आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है.

Mankading क्या है

क्रिक्केट में इससे जुड़ा नियम क्या कहता है नॉन स्ट्राइकर के क्रीज छोड़ने से दौरान जिस समय बॉल खेल का हिस्सा बनती है मतलब जब गेंदबाज बॉल डालता है. यदि उस समय नॉन स्ट्राइकर क्रीज से बाहर है तो गेंदबाज उसे रन आउट कर सकता है. यदि गेंदबाज अपनी कोशिश में कामयाब नहीं होता मतलब नॉन स्ट्राइकर को आउट नहीं कर पाता तो उस गेंद को डेड बॉल करार दिया जाता है. इसे आसान भाषा में जाने तो दूसरे छोर पर खड़ा बल्लेबाज अगर गेंदबाज के हाथ से गेंद छूटने से पहले क्रीज से बाहर निकल आये तो उस रन आउट को मांकडिंग कहते है.

अब आप जानना चाहते होंगे क्रिकेट में Mankading शब्द कहा से आया है और इसका इतिहास क्या है. तो आपको बता दे कि इस शब्द का उपयोग पहली बार साल 1947 में किया गया था. जब भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गयी थी. उस समय वीनू मांकड़ ने ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज बिल ब्राउन को एक बार नहीं बल्कि दो दो बार क्रीज से बाहर होने पर आउट किया था. हालाकि तब ऑस्ट्रेलिया के कप्तान ने डॉन ब्रैडमैन ने मांकड़ के तरीके को सही ठहराया था लेकिन ऑस्ट्रेलिया की मीडिया ने इसकी कड़ी आलोचना की थी.

आपको बता दे कि रविचंद्रन अश्विन इससे पहले भी नॉन स्ट्राइकर बल्लेबाज को आउट करने के लिए Mankading का सहारा ले चुके है. साल 2012 में ऑस्ट्रेलिया में खेली गयी कॉमनवेल्‍थ बैंक सीरीज में अश्विन ने श्री लंका के बल्लेबाज लाहिरु थिरिमाने को भी इसी तरह रनआउट किया था. उस वक्त अश्विन ने थिरिमाने को पहले चेतावनी भी दी थी. लेकिन थिरिमाने के क्रीज से बाहर निकलने पर अश्विन ने उनको इसी तरह आउट किया था हालाकि भारतीय टीम की कप्तानी कर रहे वीरेंद्र सहवाग से अपील वापस ले ली थी इसके बाद अंपायर ने उस गेंद को डेड बॉल करार दिया था.

तो अब आप जान गए होंगे कि Mankading क्या है in Hindi क्रिकेट में इसका मतलब क्या होता है. जब अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में इस नियम को मान्यता हासिल है तो ऐसे में इस नियम का उपयोग कहीं भी किया जा सकता है. चूँकि अश्विन इस तरह का रन आउट पहले भी कर चुके हैं. इसी को देखते हुए उन्होंने इस नियम का उपयोग किया है. अगर आप एक क्रिकेट प्रेमी है तो आपको यह जानकारी पसंद जरुर आयी होगी. आपको भी इससे जुड़े नियम के बारे में पता चल गया होगा.

ये भी पढ़े –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here