मूल निवासी प्रमाण पत्र कैसे बनवाएं मध्यप्रदेश उत्तरप्रदेश राजस्थान में

आज के इस आर्टिकल के अंदर हम देखेंगे की अपना मूल निवासी प्रमाण पत्र कैसे बनवाएं मध्यप्रदेश उत्तरप्रदेश रजस्थान इस विषय के ऊपर डिटेल से चर्चा करेंगे अगर आप अपना मूल निवास प्रमाण पत्र बनवाना चाहते हैं और अगर आपको MP UP राजस्थान उत्तराखंड में मूल निवासी प्रमाण पत्र बनवाने में कोई दिक्कत आ रही है, तो आप आज के इस आर्टिकल को पूरा लास्ट तक जरूर पढ़े हर एक पॉइंट को अच्छे से समझे और जो मैंने इसके अंदर स्टेप बताएं हैं, उन्हें फॉलो करोगे तो आपको मूल निवास प्रमाण पत्र बनवाने में कोई भी दिक्कत नहीं आएगी।

मूल निवासी प्रमाण पत्र कैसे बनवाएं

पहले के समय में जब हमें मूल निवासी प्रमाण पत्र बनवाना होता था तो हमें सरकारी दफ्तर के चक्कर लगाने पड़ते थे और फिर भी हमें कई बार ऐसा देखने को मिलता था कि हमारा मूल निवास प्रमाण पत्र नहीं बनता था, इस मुसीबत को देखते हुए सरकार ने सभी कामों को ऑनलाइन कर दिया है, इसी प्रकार से अब हम हमारे मूल निवास को भी घर बैठे ऑनलाइन बनवा सकते हैं।

हम मूल निवास को घर बैठे ऑनलाइन किस प्रकार बनवा सकते हैं, यह हम आज के इस आर्टिकल के अंदर देखेंगे, तो चलिए इस आर्टिकल को स्टार्ट करते हैं आपका ज्यादा समय न लेते हुए।

मूल निवासी प्रमाण पत्र कैसे बनवाएं

अपना मूल निवासी प्रमाण पत्र बनवाने के लिए आपको अपनी तहसील जाना होगा तहसील में आपको संबंधित कर्मचारी से निवास प्रमाण पत्र का आवेदन फॉर्म लेना होगा आवेदन फॉर्म को अच्छे से भरने के बाद उसमें आपको जरुरी दस्तावेज जैसे आधार कार्ड, वोटर कार्ड आदि संलग्न करना होगा इसके बाद फॉर्म को आप विभाग में जमा करदे आपका मूल निवासी प्रमाण पत्र बन जायेगा

अगर आप अपने घर बैठे ऑनलाइन प्रमाण पत्र बनवाना चाहते हैं तो इसके लिए भी सरकार ने ऑनलाइन सुविधा दे रखी है जिसके बारे में आपको इस पोस्ट में पता चल जायेगा तो चलिए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं

मूल निवासी प्रमाण पत्र क्या होता है

दोस्तों मूल निवासी हमारा एक बहुत ही महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट होता है, मूल निवास प्रमाण पत्र के जरिए हम किसी भी व्यक्ति को प्रूफ दे सकते हैं, कि हम किस स्थान के रहने वाले हैं मूल निवासी प्रमाण पत्र एक हमारा प्रूफ होता है कि हमारा गांव या शहर कौन सा है।

अगर हमारे पास मूल निवास प्रमाण पत्र नहीं होता है, तो हम किसी भी स्थान पर हमारे मुख्य स्थान का प्रूफ नहीं दे सकते कि हम कहां के रहने वाले हैं, अगर हमारे पास मूल निवास प्रमाण पत्र होता है तो हम कहीं पर भी जाकर हमारा मुख्य स्थान का प्रमाण दे सकते हैं, क्योंकि मूल निवास पर हमारा असली पता नोट किया हुआ होता है।

मूल निवासी प्रमाण पत्र की जरूरत

दोस्तों मूल निवास प्रमाण पत्र की जरूरत हमें हर जगह पड़ती रहती है, क्योंकि मूल निवास के जरिए हमारा जो मुख्य स्थान होता है, जहां पर हमारा जन्म हुआ है और जहां के हम रहने वाले हैं, उस स्थान का इसके जरिए पता चलता है, तो मूल निवास प्रमाण पत्र की जरूरत हमें किन किन जगहों पर देखने को मिलती उन्हें भी देख लेते हैं।

  1. जब हम किसी भी जगह पर सरकारी नौकरी के लिए अप्लाई करने के लिए जाते हैं, या फिर सरकारी नौकरी के लिए फॉर्म भरते हैं, तो उस टाइम हमें मूल निवास प्रमाण पत्र की जरूरत पड़ती है, क्योंकि तब हमें हमारा मुख्य स्थान वहां पर बताना होता है और साथ में प्रूफ भी देना होता है।
  2. जब हम कहीं बाहर पढ़ रहे होते हैं, और हम वहां पर छात्रवृत्ति के लिए फॉर्म भरते हैं, तो वहां पर भी हमें मूल निवास की जरूरत पड़ती है, क्योंकि उस टाइम भी हमें हमारे मुख्य स्थान का प्रूफ उस जगह पर देना होता है।
  3. और जब हम कहीं कॉलेज या फिर कहीं स्कूल में एडमिशन लेते हैं, या फिर जितने भी सरकारी काम होते हैं उन सभी के अंदर हमें मूल निवासी प्रमाण पत्र की आवश्यकता पड़ती है।
  4. जब आप कोई डॉक्यूमेंट बनवाते हैं जैसे कि पासपोर्ट, आधार कार्ड आदि तो आपको वहां पर आपका मूलनिवासी दिखाना जरूरी होता है, क्योंकि इन सभी के अंदर  आप का मुख्य एड्रेस डाला जाता है, इस कारण से आपको मूल निवास का प्रूफ देना जरूरी होता है।

मूल निवास प्रमाण पत्र के लाभ

जब हमारा मूल निवास प्रमाण पत्र बन जाता हैं, तो इसके बाद हमें मूल निवास प्रमाण पत्र के जरिए भी बहुत सारे लाभ देखने को मिल जाते हैं हम मूल निवास के जरिए बहुत सी सरकारी योजनाओं के लाभ ले सकते हैं, तो चलिए देख लेते हैं की इससे हमें कौन कौन से लाभ देखने को मिल जाते हैं।

  1. यह एक अधिकारीक डॉक्यूमेंट है, जिससे कि आपके रहने के स्थान का अधिकार पता चलता है।
  2. जब आपके पास मूल निवास प्रमाण पत्र होता है, तो आपकी राज्य सरकार द्वारा और केंद्र सरकार द्वारा चलाए गए सरकारी योजनाओं का लाभ भी आपको मिलता रहता है।

मूल निवास प्रमाण पत्र बनवाने के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट 

जब आप मध्य प्रदेश में अपना मूल निवास प्रमाण पत्र बनवाने जाओगे या फिर खुद घर बैठे अपना मूल निवास प्रमाण पत्र बनवाना चाहते हो तो इसके लिए आपको कुछ आवश्यक दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी अगर आपके पास यह दस्तावेज नहीं होंगे तो आप का मूल निवास प्रमाण पत्र नहीं बन सकता अगर आप मूल निवास प्रमाण पत्र बनवाना चाहते हैं, तो सबसे पहले आपको इन जरूरी दस्तावेजों को पूरा करना होगा तो चलिए देख लेते हैं कि वे जरूरी दस्तावेज कौन-कौन से हैं।

  1. आधार कार्ड
  2.  जन आधार कार्ड
  3.  राशन कार्ड
  4.  स्कूल प्रमाण पत्र
  5.  पासपोर्ट साइज फोटो
  6. 10 वर्ष का निवास प्रमाण पत्र
  7. भरा हुआ आवेदन पत्र 

अगर आप मूल निवास प्रमाण पत्र अप्लाई करने के बारे में सोच रहे हैं, तो सबसे पहले आपको इन् डॉक्यूमेंट को कंप्लीट करना होगा उसके बाद ही आप अपने मूल निवास प्रमाण पत्र के लिए अप्लाई कर सकते हैं, अगर आपके पास यह डॉक्यूमेंट पहले से अवेलेबल है, तो आप नीचे के पॉइंट को पढ़ कर बड़ी ही आसानी से मूल निवास प्रमाण पत्र के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

मूल निवासी प्रमाण पत्र को ऑनलाइन कैसे बनाएं

लोगों की परेशानी को देखते हुए आजकल सरकार ने हर काम ऑनलाइन कर दिया है, इसी प्रकार से मध्य प्रदेश सरकार ने भी मूल निवासी बनवाने के लिए एक वेबसाइट चला दी है, जिसके माध्यम से आप घर बैठे बहुत ही आसानी से मूल निवास प्रमाण पत्र के लिए अप्लाई कर सकते हैं तो देख लेते हैं कि किस प्रकार हम घर बैठे मूल निवास प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं तो चलिए देखते कुछ आसान स्टेपस को।

1. मूल निवासी प्रमाण पत्र बनाने के लिए अपना ब्राउज़र ओपन करें 

सबसे पहले आपको अपने फोन में या अपने लैपटॉप में किसी भी ब्राउज़र को ओपन कर लेना है, जैसे कि मैं अभी क्रोम ब्राउजर को ओपन कर लेता हूं क्रोम ब्राउजर को ओपन करने के बाद आपको वहां Mpedistrict सर्च कर देना है, जैसी आप इस वेबसाइट को सर्च करोगे तो यह आपको फर्स्ट नंबर वेबसाइट देखने को मिलेगी तो आपको सबसे पहले इस वेबसाइट को ओपन कर लेना है, यह वेबसाइट मध्य प्रदेश में मूल निवास प्रमाण पत्र बनवाने की ऑफिशियल वेबसाइट है।

अगर आप इस वेबसाइट के ऑफिशियल पेज पर यहां से भी जाना चाहते हैं, तो हमारे इस लिंक पर क्लिक करके आप इस वेबसाइट के ऑफिशियल पेज पर पहुंच सकते हैं।

मूल निवासी प्रमाण पत्र कैसे बनवाएं

2. स्थानीय निवास प्रमाण पत्र पर क्लिक करें

आप जैसे ही इस वेबसाइट को ओपन करोगे तो आप को पेज को थोड़ा ऊपर स्क्रोल करने पर वहां एक ऑप्शन देखने को मिलेगा जैसा कि आप नीचे फोटो में देख सकते हैं, तो आपको वहां पर आप को “स्थानीय निवास प्रमाण-पत्र” नाम से ऑप्शन देखने को मिलेगा आप को उस पर क्लिक कर देना है, क्लिक करने के बाद आप एक नए पेज पर रीडायरेक्ट कर दिए जाओगे।

सबसे पहले आपको एक बात का ध्यान जरूर रखना है कि इस वेबसाइट के अंदर आपको पहले लॉगइन करना पड़ेगा नहीं तो इसके अंदर आपको आपका नाम देखने को नहीं मिलेगा।

मूल निवासी प्रमाण पत्र कैसे बनवाएं

3. अपना मोबाइल नंबर डालने के बाद ओटीपी वेरीफाई करिए

आप जैसे ही इस ऑप्शन पर क्लिक करोगे तो आपके सामने एक नया पेज ओपन हो जाएगा और आपको यहां पर दो ऑप्शन देखने को मिलेंगे पहला ऑप्शन कि आपको यहां पर आपका मोबाइल नंबर डाल देना है, जो कि आपका रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर होना चाहिए और उसके बाद आपको नीचे एक कैप्चा कोड देखने को मिलेगा तो आपको उस कैप्चा कोड को फील करके “Get OTP” वाले ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।

मूल निवासी प्रमाण पत्र कैसे बनवाएं

4. फॉर्म को अच्छे से भरें

आप जैसे ही गेट ओटीपी वाले ऑप्शन पर क्लिक करोगे तो आपके सामने एक फॉर्म ओपन हो जाएगा और आपको उस फॉर्म को पूरा कंपलीट फील कर लेना है, और एक बात का ध्यान जरूर रखें कि उसके अंदर डाली गई डिटेल सभी आपकी ओरिजिनल डिटेल होनी चाहिए क्योंकि अगर आप गलत डिटेल डालोगे तो आपके मूल निवास में दिक्कत हो जाएगी।

और जब आप इस फॉर्म को पूरा फील कर ले तो आपको उस फॉर्म का प्रिंट निकलवा लेना है, और उस फॉर्म का प्रिंट राजस्व विभाग में उसे जमा करवा देना है, और इस प्रकार से आपका फॉर्म अप्लाई हो जाएगा और आने वाले कुछ दिनों में आपका मूल निवास प्रमाण पत्र भी बन कर तैयार हो जाएगा।

मूल निवास प्रमाण पत्र को ऑफलाइन अप्लाई कैसे करें

अगर आप मूल निवास प्रमाण पत्र को ऑनलाइन अप्लाई नहीं करना चाहते अगर आपको लगता है कि आपको ऑनलाइन अप्लाई करने में कोई दिक्कत आ रही है, तो आप मूल निवासी प्रमाण पत्र को ऑफलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं, तो इसके लिए आपको नीचे दिए हुए स्टेप को फॉलो करना है, और अगर आप इन स्टेप को फॉलो करोगे तो आप बड़ी ही आसानी से मूल निवास प्रमाण पत्र को ऑफलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं।

1. मूल निवासी प्रमाण पत्र को ऑफलाइन अप्लाई करने के लिए आपको सबसे पहले एक आवेदन फॉर्म में ले लेना है यह आवेदन फॉर्म आपको किसी भी ई-मित्र या सीएससी सेंटर पर बहुत ही आसानी से मिल जाएगा।

2. फॉर्म लेने के बाद आपको इसमें मांगी गई सभी जानकारी अच्छे से साफ सुथरी राइटिंग में और सही-सही दर्ज कर देनी है, जब आप इसके अंदर पूरी जानकारी अच्छे से दर्ज कर दें तो ऊपर बताए हुए सभी डॉक्यूमेंट की फोटो कॉपी आपको इसके साथ अटैच कर देनी है।

3. जब आपका फॉर्म अच्छे से कंप्लीट हो जाए तो आपको इस फोरम को राजस्व विभाग में जमा करवा देना है, और जमा करवाने के 7 से 8 दिनों के अंदर आपका मूल निवास प्रमाण पत्र बन कर तैयार हो जाएगा।

आज के इस आर्टिकल के अंदर हमने देखा कि हम घर बैठे ऑनलाइन किस तरीके से हमारा मूल निवास प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं और यह मैंने आपको बिल्कुल आसान तरीके से समझाने की कोशिश की है, और हर एक स्टेप को अच्छे से समझाया है ताकि आपको मूल निवास बनवाने में कोई दिक्कत ना आए।

तो अब आप जान गए होंगे कि मूल निवासी प्रमाण पत्र कैसे बनवाएं मध्यप्रदेश उत्तरप्रदेश राजस्थान में अगर आपको पोस्ट में दी हुई जानकारी अच्छी लगी हो तो हमारी इस पोस्ट को अपने दोस्तों में ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि यह जानकारी आपके दोस्तों और परिवार वालों तक भी पहुंचे सके और वह भी इसका फायदा उठा सकें, अगर आपको पोस्ट के अंदर कोई दिक्कत आ रही है, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं, हम आपके सवाल का जल्दी से जल्दी उत्तर देने की कोशिश करेंगे।

ये भी पढ़े –

ऐसा कौन सा देश है जहाँ एक भी मुस्लिम नहीं है

भारत का यह राज्य कभी अंग्रजों का गुलाम नहीं बना

फ्लिप्कार्ट से पैसे कैसे कमाए घर बैठे

MakeHindi.Com is a Professional Educational Platform. Here we will provide you only interesting content, which you will like very much. We’re dedicated to providing you the best of Education.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here