NEFT क्या है कैसे काम करता है पूरी जानकारी

NEFT क्या है और ये कैसे काम करता है अगर आपको नहीं पता तो आज हम आपको इसी विषय के बारे में बताने जा रहे हैं कि ये NEFT क्या होता है अगर आप बैंकिंग इस्तेमाल करते है तो आपने कभी न कभी इसके बारे में जरुर सुना होगा लेकिन शायद आपको इसके बारे में पूरी जानकारी नहीं पता होगी तो चलिए इसके बारे में जानते है.

NEFT क्या है
neft kya hai

NEFT क्या है

NEFT की फुल फॉर्म National Electronic Funds Transfer होती है इस प्रक्रिया के द्वारा आप दो अलग अलग बैंक में इलेक्ट्रोनिक वे में फण्ड ट्रांसफर कर सकते हैं. मान लीजिये आपका अकाउंट Bank of Baroda में है और आपको किसी दूसरे बैंक के अकाउंट जो की HDFC Bank में है इसमें आपको पैसे ट्रांसफर करने है तो आप NEFT के द्वारा इलक्ट्रोनिक वे में अपने पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं इसकी टाइमिंग की बात करे तो इसकी टाइमिंग सुबह 8 बजे से लेकर शाम 7 बजे तक होती है.

आपको बता दे कि NEFT के द्वारा सामने वाले के अकाउंट में 2 से 3 घंटे के अन्दर पैसे ट्रांसफर हो जाते हैं इस प्रक्रिया में मिनिमम और मैक्सिमम अमाउंट की कोई लिमिट नहीं होती है आप कम से कम 1 रूपये से लेकर ज्यादा से ज्यादा कितना भी अमाउंट ट्रान्सफर कर सकते हैं. इस प्रक्रिया में लगने वाले चार्ज भी बहुत कम होते है उदाहरण के तौर पर मान लीजिये आप 10 हजार से 1 लाख के बीच पैसे ट्रांसफर कर रहे है तो इसमें लगने वाला सर्विस चार्ज महज 5 रूपये होता है हालाकि यह समय समय पर अलग बैंक पर निर्भर करता है यह आपकी ट्रान्सफर होने वाली राशी पर निर्भर करता है ट्रांसफर होने वाली राशी जितनी ज्यादा होगी चार्ज भी उतने ज्यादा होंगे.

NEFT कैसे काम करता है

आपको बता दे कि NEFT में लेनदेन के लिए इन्टरनेट बैंकिंग यूज़ करने वाले लोगो के पास थर्ड पार्टी का लेनदेन एक्टिवेट कराना जरुरी है इसके अलावा आप जिस आदमी को इस प्रक्रिया के तहत पैसे भेज रहे है आपके पास उसकी पूरी डिटेल होना चाहिए जैसे अकाउंट होल्डर का नाम, उसका अकाउंट नंबर, ब्रांच का नाम और उस ब्रांच का IFSC कोड होना जरुरी है.

जब आप किसी अकाउंट को बेनिफिशरी के तौर पर जोड़ते है तो उसको वेरीफाई करने पर कुछ घंटे का समय लगता है एक बार जाँच पूरी हो जाने के बाद बेनिफिशरी अकाउंट एक्टिवेट हो जाता है अब आप उस अकाउंट में पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं.

इस प्रक्रिया के दौरान जब आप पैसे ट्रान्सफर करते है तो सबसे पहले आपको NEFT और RTGS में से किसी एक को चुनना होता है इसके बाद बेनिफिशरी अकाउंट की पूरी डिटेल देने के बाद और लेनदेन का सिक्यूरिटी पासवर्ड देने के बाद फण्ड ट्रान्सफर की प्रक्रिया शुरू हो जाती है और इसमें पैसे ट्रांसफर होने में कुछ घंटे का समय लगता है यानी कुछ घंटे बाद आपके पैसे ट्रान्सफर हो जाते हैं.

इस पोस्ट को पढ़ने के बाद अब आप जान गए होंगे कि NEFT क्या है और ये कैसे काम करता है. इसकी फुलफॉर्म National Electronic Funds Transfer होती है यानी यह पैसे ट्रान्सफर करने की इलेक्ट्रोनिक प्रक्रिया होती है. इसमें पैसे ट्रांसफर करने में थोड़ा समय लगता है लेकिन इसमें लगने वाले चार्ज बहुत कम होते हैं.

ये भी पढ़े –

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here