न्यूज़ रिपोर्टर कैसे बने कोर्स योग्यता और सैलरी जाने

आज के आर्टिकल में आपको बताएँगे न्यूज़ रिपोर्टर कैसे बने कोर्स योग्यता और सैलरी यहां पर मैं बात करूंगा कि पत्रकार बनने के लिए आपको कौन सा कोर्स करना होगा या आपके अंदर कौन सी योग्यता होनी चाहिए अगर आप एक सफल न्यूज़ रिपोर्टर या जर्नलिस्ट बनना चाहते हैं तो आर्टिकल को आखिर तक जरूर देखिए यहां हम आपको पूरी इंफॉर्मेशन डिटेल में देंगे। तो सबसे पहले आपको अपना पसंदीदा विकल्प चुनना होगा मतलब आप किस फील्ड के रिपोर्टर बनना चाहते हैं जैसे कोई राजनीतिक पत्रकार बनना चाहता है तो किसी को खेल में रूचि होती है।

न्यूज़ रिपोर्टर कैसे बने

पत्रकार भी अलग अलग तरह के होते हैं जैसे राजनीति, मनोरंजन, खेल, या अन्य फ़ील्ड में लेकिन इन सभी में एक चीज कॉमन होती है और वह आपका ज्ञान जी हाँ पत्रकार बनने के लिए आपको देश दुनिया का नॉलेज होना आवश्यक है वैसे न्यूज़ रिपोर्टर को पत्रकार या मीडिया एंकर भी कहा जाता है यह एक प्रचलित पद होता है, मीडिया को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ भी कहा जाता है, मीडिया का काम पूरे देश दुनिया में किसी खबर को पहुंचाना होता है।

बहुत से लोग इस पद पर कार्य करने के लिए इच्छुक होते हैं इसलिए इस आर्टिकल में मैं आपको न्यूज़ रिपोर्टर के बारे में पूरी जानकारी दूंगा कि आप पत्रकार कैसे बने जैसा कि हम सभी जानते हैं पत्रकारिता में अलग अलग पद होते हैं जिनमें से आप अगर किसी एक पद पर कार्यरत हो जाते हैं तो आपके काम अनुसार आपका प्रमोशन बड़े पदों पर होता चला जाता है।

न्यूज़ रिपोर्टर कैसे बने

अगर आप न्यूज़ रिपोर्टर या पत्रकार बनना चाहते हैं तो ध्यान रखिए कि एक सफल पत्रकार वही व्यक्ति बन सकता है जो किसी बात को गहराई से समझ सकता है और दूसरों को समझा सकता है। न्यूज़ रिपोर्टर का मुख्य कार्य होता है कि किसी भी घटना के बारे में पूरी रिसर्च और जानकारी हासिल करके उसे लोगों तक आसान शब्दों में पहुंचा सके। यानी की न्यूज़ रिपोर्टर और पत्रकार का मुख्य काम लोगों तक घटनाओं का ब्यौरा पहुंचाना और किसी घटना या किसी बात के बारे में अवगत करवाना होता है।

पत्रकार तो बहुत सारे होते हैं लेकिन एक सफल पत्रकार वह होता है जो लोगों को उनके अधिकारों के बारे में अवगत करवा सके और हमेशा जनता के पक्ष में रहकर बात करे, न्यूज़ रिपोर्टर को जनता का सारथी भी कहा जाता है क्योंकि न्यूज़ रिपोर्टर चाहे तो जनता की बात सरकार तक पहुंचा सकता है।

एक पत्रकार का यह कर्तव्य होता है कि वह कभी भी गलत बात का समर्थन ना करें अगर मुद्दा सही है तो पत्रकार को सरकार या किसी बड़ी संस्था के खिलाफ भी बोलना चाहिए और एक अच्छा पत्रकार हमेशा सही को सही और गलत को गलत कहता है।

न्यूज़ रिपोर्टर कैसे बने

अगर हमारे समाज शहर या देश में कुछ गलत हो रहा है तो एक न्यूज़ रिपोर्टर का यह कर्तव्य होता है कि वह इस बात का खुलकर विरोध करें और ज्यादा से ज्यादा लोगों तक इस बात को पहुंचाए न्यूज़ रिपोर्टर का यह धर्म होता है कि वह सही जानकारी को लोगों तक पहुंचाए।

न्यूज़ रिपोर्टर की योग्यता

1. न्यूज़ रिपोर्टर की फील्ड में एंट्री करने के लिए आपको पहले किसी भी फील्ड से 12वीं कक्षा में उत्कीर्ण होना होगा।

2. इसके अलावा एक सफल न्यूज़ एंकर बनने के लिए आप में साहस, ईमानदारी, महनत करने का जज्बा और वाकपटुता होनी चाहिए।

3. इसी के साथ साथ आपकी आयु 18 वर्ष से उपर होनी चाहिए।

4. न्यूज़ रिपोर्टर बनने के लिए आपको नीचे दिखाए गए कोर्सेज में से कोई भी एक कोर्स या डिग्री कंप्लीट करना होगा।

न्यूज़ रिपोर्टर बनने के लिए कोर्स और डिग्री

भारत देश में एक सफल न्यूज़ रिपोर्टर बनने के लिए या न्यूज़ रिपोर्टर का पद हासिल करने के लिए आपको निम्नलिखित प्रकार के कोर्स और डिग्री में से किसी भी एक को पूर्ण करना होगा इसके बाद आप एक अच्छा न्यूज़ रिपोर्टर बन सकते हैं और इस फील्ड में कदम रख सकते हैं।

नीचे दिखाई गई लिस्ट में से कुछ कोर्स आप 12वीं के तुरंत बाद कर सकते हैं और कई अलग प्रकार की डिग्री के लिए आपको काफी पढ़ाई करनी होगी। आप कितना बड़ा न्यूज़ रिपोर्टर बनेंगे यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस कोर्स या डिग्री का चुनाव करते हैं।

1. बैचलर डिग्री इन जर्नलिज्म

दोस्तों अगर आप भारी भरकम पढ़ाई का खर्चा नहीं उठा सकते हैं तो आपको जर्नलिज्म से बैचलर डिग्री करनी चाहिए अगर आप जर्नलिज्म से बीए करते हैं तो यह आपको‌ काफी सस्ता भी पड़ेगा और आप ग्रेजुएट भी कहलाएंगे।

अगर आप जर्नलिज्म से बैचलर डिग्री करना चाहते हैं तो आपको 12वीं में कम से कम 50% अंकों से पास होना होगा इस डिग्री की अवधि 3 साल की है।

अगर आप जर्नलिज्म में बैचलर डिग्री करते हैं तो यह 25000 से ₹100000 सालाना के खर्च में हो जाती है वहीं अगर आप किसी गवर्नमेंट कॉलेज से बैचलर डिग्री करते हैं तो यह 5- ₹6000 में भी पूरी हो जाएगी।

2. बैचलर इन साइंस एनीमेशन एंड मल्टीमीडिया

दोस्तों अगर आप न्यूज़ की फील्ड में जाना चाहते हैं तो वहां पर केवल न्यूज़ एंकर ही एकमात्र व्यक्ति नहीं होता बल्कि वहां पर वीडियो मेकर वीएफएक्स आर्टिस्ट न्यूज़ एडिटर भी होते हैं।

इसलिए अगर आप चाहें तो एनिमेशन और मल्टीमीडिया की फील्ड से भी न्यूज़ रिपोर्टर बन सकते हैं इसके लिए आपको साइंस से बैचलर करना होगा या आप चाहे तो मल्टीमीडिया या एनिमेशन का कोई भी एक कोर्स कर सकते हैं।

अगर आप एनीमेशन एंड मल्टीमीडिया में कोर्स या डिग्री करना चाहते हैं तो आपको 12वीं में कम से कम 50% अंकों से पास होना होगा इस कोर्स की अवधि भी 3 वर्ष की होती है और यहां पर आपको बैचलर डिग्री से थोड़ी ज्यादा कॉस्टिंग आ सकती है, आपका सालाना 50000 से डेढ़ लाख तक खर्च आएगा और यही अगर आप किसी गवर्नमेंट कॉलेज से करेंगे तो सस्ते में भी निपट सकता है।

3. मास कम्युनिकेशन

मास कम्युनिकेशन कोर्स केवल और केवल न्यूज़ रिपोर्टर के लिए ही होता है अगर आप मास कम्युनिकेशन करते हैं तो यहां पर आपको न्यूज़ रिपोर्टिंग की बेसिक से एडवांस तक सारी नॉलेज दी जाएगी। मास कम्युनिकेशन करने के बाद आप किसी भी मीडिया हाउस में आसानी से नौकरी पा सकते हैं या चाहे तो अपनी खुद की भी न्यूज़ एजेंसी खोल सकते हैं।

इसमें आपको वीडियो एडिटिंग न्यूज़ एडिटिंग रिपोर्टिंग न्यूज़ राइटिंग मीडिया प्रिंटिंग आदि चीजों का ज्ञान दिया जाएगा जो कि एक न्यूज़ रिपोर्टर के पास होना अनिवार्य है। अगर आप किसी बड़े न्यूज़ चैनल के साथ मिलकर काम करना चाहते हैं तो आपको मास कम्युनिकेशन जरूर करनी चाहिए।

इसे करने के बाद आपको एक न्यूज़ एंकर का कार्ड भी मिलता है, जिससे कि आप बेझिझक कहीं भी पब्लिक एरिया में रिपोर्टिंग कर सकते हैं। मास कम्युनिकेशन भी 3 वर्ष का एक कोर्स है, जहां पर आपको 12वीं में कम से कम 50% अंकों से उत्तीर्ण होना होगा यहां पर आपको कोर्स के लिए अधिक फीस देनी पड़ सकती है क्योंकि मास कम्युनिकेशन एक महंगा कोर्स माना जाता है और इसकी सालाना फीस 50000 से 2.5 लाख भारतीय रुपए तक जाती है।

न्यूज़ रिपोर्टर के लिए कुछ डिप्लोमा कोर्स

  • डिप्लोमा इन पब्लिक रिलेशन
  • पीजी डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन
  • एग्जीक्यूटिव डिप्लोमा इन जर्नलिज्म
  • पीजी डिप्लोमा इन ब्रॉडकास्टिंग

न्यूज़ रिपोर्टर के प्रकार

पत्रकारिता के कई भाग हैं जिनमें आप नौकरी हासिल कर सकते हैं यहां पर नीचे विभिन्न प्रकार के पत्रकारिता के बारे में समझाया गया है आप अगर इंडिविजुअल न्यूज़ रिपोर्टर बनना चाहते हैं तो भी आप नीचे के विभागों में से किसी भी एक विभाग का चयन कर सकते हैं।

पत्रकारिता दो प्रकार की होती है पहली तो जर्नल रिपोर्टिंग होती है जर्नल रिपोर्टिंग में आप किसी समारोह या कार्यक्रम के बारे में रिपोर्टिंग करते हैं दूसरी रिपोर्ट खास प्रकार की रिपोर्टिंग होती है और इसका क्षेत्र जनरल रिपोर्टिंग से काफी बड़ा होता है।

खास प्रकार की रिपोर्टिंग के अंतर्गत आप राजनीतिक, खेल रिपोर्टिंग, अदालत, फिल्म सांस्कृतिक गतिविधियों के बारे में रिपोर्टिंग या व्यापार की रिपोर्टिंग करते हैं। आइए एक बार इन सभी को डिटेल में देख लेते हैं।

1. फिल्म और सांस्कृतिक रिपोर्टिंग

आपने अक्सर देखा होगा कि सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भी रिपोर्टर्स न्यूज़ रिपोर्टिंग करते रहते हैं इस प्रकार की रिपोर्टिंग को सांस्कृतिक रिपोर्टिंग की श्रेणी में रखा गया है इसी श्रेणी में फिल्मों और नाटकों की रिपोर्टिंग भी आती है। अगर कोई नई फिल्म लांच होती है तो आपने देखा होगा कि किस तरह से फिल्म के सेट पर जाकर रिपोर्टर रिपोर्टिंग करते हैं और कई बार फिल्म रिलीज होने के बाद किसी मुख्य किरदार की रिपोर्टिंग या बायोग्राफी के बारे में बताया जाता है, इस प्रकार की सभी रिपोर्टिंग को सांस्कृतिक और फिल्म रिपोर्टिंग के अंतर्गत रखा गया है।

इसी के साथ साथ फिल्म जगत की अन्य प्रकार की रिपोर्टिंग भी की जाती है, जहां पर फिल्म जगत में हो रही किसी घटनाओं को बताया जा सकता है या किसी इवेंट के बारे में जानकारी दी जा सकती है।

2. खेल रिपोर्टिंग

आपने खेल की रिपोर्टिंग बहुत ज्यादा देखी होगी दोस्तों आपने देखा होगा कि किस प्रकार से आईपीएल के समय में इस प्रकार की रिपोर्टिंग बहुत ज्यादा बढ़ जाती है अगर आप इंडिविजुअल रिपोर्टर हैं तो आप अपने आसपास हो रहे खेलों को दिखा सकते हैं खेलों की रिपोर्टिंग काफी बड़े स्तर पर भी की जाती है।

नेशनल और इंटरनेशनल खेलों में बहुत सारे मीडिया चैनल रिपोर्टिंग करते हैं आपने खेलों को लाइव देखा होगा और वहां पर देखा होगा कि किस तरह से जर्नलिस्ट लाइव ही रिपोर्टिंग करते रहते हैं। आप किसी खिलाड़ी का इंटरव्यू कर सकते हैं या किसी टीम के बारे में जानकारी साझा कर सकते हैं इस प्रकार की रिपोर्टिंग भी खेल रिपोर्टिंग के अंतर्गत आती है।

3. अपराध की रिपोर्टिंग

अगर कहीं कोई अपराध या हिंसा होती है तो ऐसे मामलों की रिपोर्टिंग बहुत ज्यादा होती है और ऐसे मामलों की रिपोर्टिंग होना भी अच्छी बात है क्योंकि इससे हो रहे अपराध के बारे में समाज को जानकारी मिलती है और लोग जागरूक होते हैं अगर आप हो रही हिंसा की रिपोर्टिंग कर रहे हैं तो यह एक रिस्की खेल है।

लेकिन वहीं अगर आप किसी अपराध के बारे में बताते हैं तो यह भी काफी रिस्की हो सकता है क्योंकि आए दिन देखने को मिलता है कि किस प्रकार से पत्रकारों को धमकियां मिलती रहती है लेकिन एक अच्छा रिपोर्टर कभी भी इन चीजों से नहीं घबराता क्योंकि अच्छे रिपोर्टर को हमेशा साहसी होना पड़ता है।

अगर कोई बड़ा अपराधी पकड़ा जाता है तो भी रिपोर्टिंग काफी ज्यादा होती है इसी के साथ साथ अगर आप किसी अपराध का खुलासा कर सकते हैं तो भी यह एक अच्छी चीज मानी जाती है और आए दिन पत्रकार ऐसा करते रहते हैं। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि अब तक की सबसे बड़ी शेयर मार्केट घटना में एक पत्रकार ने ही जानकारी दी थी जब 1992 के शेयर मार्केट कांड में एक युवा महिला पत्रकार ने अपने लेख में इस विषय में छापा था तो इस घटना का भंडाफोड़ हो गया था।

4. व्यापारिक रिपोर्टिंग

आपने बहुत सारे बिजनेस न्यूज़ चैनल भी देखे होंगे जहां पर आप बड़े बड़े बिजनेसमैन के साथ डिबेट करते हैं और व्यापारिक क्षेत्र में हो रही समस्याओं से लोगों को अवगत करवाते हैं। इसी के साथ साथ आपको व्यापार मंडल की कई प्रकार की रिपोर्टिंग भी कर सकती हैं,जैसे कि आप शेयर मार्केट में हो रहे उतार चढ़ाव के बारे में लोगों को अवगत करवा सकते हैं या किसी भी अच्छे बिजनेसमैन का इंटरव्यू भी ले सकते हैं।

इस प्रकार की सभी रिपोर्टिंग को बिजनेस रिपोर्टिंग कहा जाता है। आप छोटे व्यापारियों की बात सरकार तक पहुंचा सकते हैं, या व्यापारिक क्षेत्र में हो रही किसी बड़ी घटना का खुलासा भी कर सकते हैं।

5. राजनीतिक रिपोर्टिंग

चुनाव के समय में राजनीतिक रिपोर्टिंग बहुत ज्यादा बढ़ जाती है राजनीतिक रिपोर्टिंग को लोग बहुत ज्यादा देखते हैं ध्यान रखिए कि अगर आप राजनीतिक रिपोर्टिंग करते हैं तो आपको किसी भी एक पार्टी का समर्थन नहीं करना है क्योंकि रिपोर्टर का काम रिपोर्टिंग करना होता है और जनता की बात सरकार के पास पहुंचाना होता है।

लेकिन अगर एक रिपोर्ट किसी भी एक पार्टी की तरफ हो जाएगा तो वह सही से रिपोर्टिंग भी नहीं कर सकता और जनता के द्वारा उसको काफी विरोध का सामना भी करना पड़ सकता है इसलिए आपको अपनी छवि बचाने के लिए ध्यान रखना है कि कभी भी किसी भी पार्टी का समर्थन नहीं करना है और जो सही है उसे सही कहना है और जो गलत है उसे गलत कहना है क्योंकि आपका धर्म रिपोर्टिंग करना है ना की किसी एक पार्टी का समर्थन करना।

न्यूज़ रिपोर्टर की सैलरी कितनी होती है

अगर आप जानना चाहते हैं कि न्यूज़ रिपोर्टर की सैलरी कितनी होती है तो आपको बता दूं कि अगर आप इंडिविजुअल रिपोर्टिंग करते हैं यानी कि अगर आप खुद से रिपोर्टिंग करते हैं किसी भी न्यूज़ चैनल के साथ काम नहीं करते हैं तो यहां पर सैलरी असीमित होती है।

अगर आप एक यूट्यूब चैनल पर काम करते हैं तो सैलरी डिपेंड करती है कि आपका यूट्यूब चैनल कितना ज्यादा चलता है और आपकी रिपोर्टिंग में कितना दम है क्योंकि एक आम यूट्यूब चैनल जो कि अच्छा खासा चल रहा है वहां पर एक रिपोर्टर आसानी से एक से डेढ़ लाख रुपए महीना कमा सकता है।

वहीं अगर आप किसी मीडिया चैनल के साथ मिलकर काम करते हैं तो वहां पर देखा जाता है कि मीडिया चैनल किस प्रकार का है यानी कि अगर इंटरनेशनल मीडिया है तो वहां पर आपकी सैलरी 5,00,000 से 15,00,000 रुपए महीना तक जा सकती है और अगर कोई छोटा न्यूज़ चैनल है तो आपकी सैलरी कम से कम 50,000 से ₹200,000 तक रहेगी।

इस आर्टिकल में हमने देखा कि न्यूज़ रिपोर्टर कैसे बने कोर्स योग्यता और सैलरी इसी के साथ साथ हमने न्यूज़ रिपोर्टर की कमाई और रिपोर्टिंग के अलग अलग प्रकारों के बारे में भी विस्तृत चर्चा की है। तो कैसा लगा आपको आज का यह आर्टिकल, आशा करूंगा कि आर्टिकल अच्छा लगा होगा और दी गई जानकारी पसंद आई होगी। इस आर्टिकल को अपने करीबी साथियों के साथ जरूर साझा करें।

ये भी पढ़े –

भारत की जीडीपी कितनी है वर्तमान में

टीवी चैनल पैसे कैसे कमाते हैं

पीएचडी क्या होता है और कैसे करें

इस आर्टिकल को शेयर करें

MakeHindi.Com is a Professional Educational Platform. Here we will provide you only interesting content, which you will like very much. We’re dedicated to providing you the best of Education.

Leave a Comment