NOKIA कंपनी के बनने की पूरी कहानी

NOKIA कंपनी के बनने की पूरी कहानी NOKIA दुनिया की सबसे बढ़ी पोर्टेबल मोबाइल मेकिंग कंपनी जिसने काफी साल तक मोबाइल मार्केट में राज किया बैसे आप मे से बहुत से लोगो का पहला मोबाइल NOKIA ही होगा वो चाहे स्मार्टफोन हो या फिर कीपैड मोबाइल | नोकिया की जर्नी काफी दिलचस्प और उतार चढ़ाव वाली रही है तो आज हम आपको नोकिया की इंट्रेस्टिंग कहानी बताने जा रहे है जिसमे आपको बताएँगे की नोकिया कैसे बनी और किसने बनाई थी

NOKIA कंपनी 150 साल पहले 1865 में Fredrik Idestam , Leo Mechelin और Eduard Polon ने स्टार्ट की थी दरअसल 1865 में फेडरिक एक माइनिंग इंजीनियर थे और उन्होंने एक बल्ब मील स्टार्ट की थी उसके बाद 1871 में इन तीनो ने मिलकर एक कंपनी स्टार्ट की जिसका नाम NOKIA रखा गया इसके बाद तीनो ने इसमें 9 साल तक काम किया |

1922 में नोकिया ने ट्रायो के साथ पार्टनरशिप करके केबल और रबर का काम शुरू किया इसके बाद नोकिया टेलिफोन इलेक्ट्रिक केबल मिलिट्री यूज़ के लिए रबर के जूते और मास्क भी बनाने लगी थी फिर 1967 में तीन बढ़ी कंपनियों ने मिलकर नोकिया कॉर्पोरेशन कंपनी की स्थापना की थी और इस कंपनी का उदेश्य नेटवर्क और रेडिओ इंडस्ट्रीज पर केन्द्रित था इसके तहत इन्होने फ़िनलैंड डिफेन्स फ़ोर्स के लिए न्यू मिलट्री इक्विपमेंट और रेडिओ इक्विपमेंट बनाये थे

उसके बाद नोकिया कंपनी ने 1981 से 1991 तक प्रोफेशनल मोबाइल रेडिओ मोबाइल फीचर कैपेसिटर बनाये और इनके साथ पर्सनल कंप्यूटर पर भी काम किया | 1981 में मोबिरा कंपनी जो कि नोकिया कंपनी की ब्रांड थी उन्होंने दुनिया का सबसे पहला इंटरनेशनल सेल्युलर नेटवर्क लाँच किया जिसका नाम था नॉटिक मोबाइल टेलीफोन सर्विस इसके बाद 1982 में मोबिरा कंपनी ने कार फोन लाँच किया इसके साथ ही नोकिया ने पहला कदम मोबाइल नेटवर्क में रख दिया था |

फिर 1987 में नोकिया ने पहला फुल्ली पोर्टेबल मोबाइल फोन लाँच किया जिसका नाम था मोबिरा सिटीमेन 900 फिर 1990 में नोकिया ने सीमेंस नेटवर्क के साथ मिलकर दुनिया का सबसे पहलाGSM नेटवर्क डेवेलप किया | इसके बाद दुनिया का सबसे पहला कॉल फिनिश प्राइम मिनिस्टर ने 1 जुलाई 1991 में नोकिया के फोन से ही किया था इसके साथ ही मोबाइल नेटवर्क की दुनिया में नोकिया का नाम टॉप पर लिया जाने लगा |

NOKIA का पहला कमर्शियल फोन नोकिया 1011 नवम्बर 1992 में लाँच हुआ उसके बाद 1998 तक नोकिया ने मोबाइल की सबसे बढ़ी कंपनी मोटोरोला को भी पीछे छोड़ दिया फिर नोकिया ने 2003 में आज तक सबसे बेस्ट सेलिंग फोन nokia 1100 लाँच किया जो की टार्च के साथ आता था TV पर इसके AD भी आते थे |

इसके साथ नोकिया ने गेमिंग इंडस्ट्रीज के लिए पोर्टेबल गेमिंग फोन नोकिया इंगेज लाँच किया उसके बाद नोकिया ने पहला कैमरा फोन नोकिया 7605 लाँच किया इसके साथ के मोडल NOKIA 3600 और NOKIA 3650 मोबाइल भी लाँच किये ये मोबाइल सबसे पहले नार्थ अमेरिका में लाँच किये गए थे |

नोकिया की कैमरा परफॉरमेंस पहले से ही बेहतर थी तो नोकिया का 2006 में एडवांस कैमरा के साथ मोबाइल आया जिसका नाम nokia n93 था इसके बाद 2010 में n8 लाँच हुआ जो की सबसे हाई परफॉरमेंस 12 मेगा पिक्सेल के साथ था इसके बाद नोकिया अपने मोबाइल फोन्स की क्वालिटी और परफॉरमेंस इनक्रीज करके नए फोन लाँच करता रहा.

लेकिन इसके बाद NOKIA के बुरे दिन शुरू आ गए थे क्योंकि मार्केट में अब IPHONE और एंड्राइड फ़ोन आ गए थे जिनमे नोकिया से काफी अच्छे फीचर मिलते है हालाकि काफी मुश्किलो के बाद NOKIA ने बापसी की है | तो

नोकिया की मोबाइल मार्केट में बापसी कैसे हुई जानिए पूरी कहानी

इस आर्टिकल को शेयर करें

MakeHindi.Com is a Professional Educational Platform. Here we will provide you only interesting content, which you will like very much. We’re dedicated to providing you the best of Education.

6 thoughts on “NOKIA कंपनी के बनने की पूरी कहानी”

Leave a Comment