Prepaid और Postpaid में क्या अंतर है

Prepaid और postpaid में क्या अंतर है आज हम आपको इसी बारे में बताने जा रहे हैं. अगर आप इन दोनों के बारे में ज्यादा कुछ नहीं नहीं जानते तो आपके लिए आर्टिकल काफी हेल्पफुल साबित हो सकता है. इंडिया में दो तरह की सिम प्रयोग की जाती है पहली prepaid sim होती है जबकि दूसरी postpaid sim होती है. देखने में भले ही दोनों एक जैसे लगते है लेकिन दोनों में बहुत फर्क है. एक तरफ प्रीपेड को आम लोगो को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है वहीं दूसरी तरफ पोस्टपेड का इस्तेमाल ज्यादातर बिजनेस करने वाले लोग करते हैं. इंडिया की बात करे तो ज्यादातर लोग प्रीपेड सिम यूज़ करना पसंद करते हैं क्योंकि इसमें काफी अच्छी सुविधा मिलती है.

Prepaid और postpaid में क्या अंतर है

इस prepaid sim में आप पहले रिचार्ज करवाते है उसके बाद आप कॉल, मैसेज और इंटरनेट का प्रयोग करते हैं जबकि पोस्टपेड में इसका उल्टा होता है. इसमें आप पहले कॉल और इंटरनेट का प्रयोग करते है महीने के अंत में आपको एक बिल मिलता है जिसे आपको भुगतान करना होता है. इन दोनों के बीच में यही सबसे बड़ा अंतर है. यहाँ हम आपको दोनों में और भी difference बताने जा रहे हैं. जिससे आपको इन दोनों को समझने में आसानी होगी. तो चलिए जानते हैं.

Prepaid और postpaid में क्या अंतर है

1. रिचार्ज

जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया है कि प्रीपेड सिम में पहले रिचार्ज करवाना पड़ता है इसके बाद ही आप इसकी सुविधा का लाभ ले सकते है जबकि पोस्टपेड में ऐसा नहीं है इसमें आप कॉल और इंटरनेट जैसी सुविधा का लाभ पहले ले सकते हैं.

2. वैलिडिटी

प्रीपेड में आप जो भी रिचार्ज करवाते हैं उसकी वैलिडिटी की कोई लिमिट नहीं होती है जबकि पोस्टपेड में रिचार्ज की वैलिडिटी मंथली या इयरली होती है. इसमें हर महीने या हर साल रिचार्ज करवाना पड़ता है.

3. प्लान

इसमें आम आदमियों के लिए काफी सस्ते प्लान होते हैं और बिजनेसमैन लोगो के लिए प्लान मंहगे होते हैं. पोस्टपेड सिम में इसका उल्टा होता है इसमें सभी प्लान मंहगे होते हैं लेकिन यह बिजनेसमैन लोगो के लिए सस्ता पड़ जाता है क्योंकि बिजनेसमैन लोग ज्यादा कॉल और इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं.

4. बेनिफिट

प्रीपेड सिम में यदि ज्यादा कॉल और इंटरनेट का उपयोग करते हैं तो इसमें कोई फायदा नहीं होता है जबकि पोस्टपेड में ज्यादा कॉल, मैसेज का उपयोग करने पर फायदा मिलता है. हालाकि इसमें इन्टरनेट यूज़ करने की लिमिट होती है जिससे ज्यादा इन्टरनेट यूज़ नहीं किया जा सकता है.

5. पेमेंट

जहां तक प्रीपेड की बात करे तो इसमें पेमेंट करने के लिए क्रेडिट कार्ड की जरुरत नहीं पड़ती है जबकि पोस्टपेड में पेमेंट करने के लिए क्रेडिट कार्ड की जरुरत पड़ती है.

6. बिल

इस प्रीपेड सिम में आपको किसी भी तरह का बिल पेमेंट नहीं करना पड़ता है जितना बैलेंस होगा आप उतना प्रयोग कर सकते हैं जबकि पोस्टपेड में आपको मंथली या इयरली बिल का भुगतान करना पड़ता है.

7. एमरजेंसी लोन

इस प्रीपेड सिम में बैलेंस खत्म होने पर 5 से 10 रूपये का एमरजेंसी लोन लिया जा सकता है जबकि पोस्टपेड में बैलेंस खत्म होने का झंझट ही नहीं रहता है क्योंकि इसमें प्लान मंथली होते है जिनको बाद में भुगतान करना पड़ता है.

तो इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद अब आप जान गए होंगे कि prepaid और postpaid में क्या अंतर है अब आप जानना चाहते होंगे दोनों में कौन सा सिम अच्छा है तो आपको बता दे दोनों अपने अपने क्षेत्र में अच्छे हैं. आम लोगो के लिए प्रीपेड सिम काफी फायदेमंद साबित होता है जबकि बिजनेस करने वाले लोगो के लिए पोस्टपेड सिम बेहतर होता है. ऐसा नहीं है कि आम लोग पोस्टपेड सिम का प्रयोग नहीं कर सकते है बिल्कुल कर सकते हैं लेकिन इसमें उतनी कॉल और इंटरनेट का प्रयोग न कर पाने से घाटा ही साबित होता है. इसमें अगर आप कॉल और इंटरनेट का प्रयोग नहीं करेंगे तो भी मंथली बिल आता है. इसलिए आम लोगो के लिए prepaid sim ही बेहतर होता है इसमें जितना रिचार्ज होगा उतनी कॉल और इंटरनेट का प्रयोग कर सकते हैं.

ये भी पढ़े –

Prepaid और Postpaid में क्या अंतर है
5 (100%) 1 vote

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here