सरपंच की शिकायत कहां और कैसे करें ऐसे होगी कार्यवाही

आज के आर्टिकल में हम जानेंगे ग्राम प्रधान सरपंच की शिकायत कहां और कैसे करें ऐसे होगी कार्यवाही इसके साथ साथ हम यह भी जानने की कोशिश करेंगे कि ग्राम प्रधान सरपंच का क्या कार्य होता है सरपंच की कितनी सैलरी होती है हम सरपंच को हटाने के नियम के ऊपर विस्तार से चर्चा करेंगे। ग्राम प्रधान सरपंच की शिकायत करने की प्रक्रिया काफ़ी आसान होती है अगर आपको सरपंच रिश्वत लेता दिखाई दे या सही तरीके से काम ना करता हो या लोगों के साथ गलत व्यवहार करता हो या इस तरह के कुछ और काम करता हो तो आप उसके खिलाफ शिकायत कर सकते हैं।

सरपंच की शिकायत कहां और कैसे करें

लेकिन उससे पहले आपको यह पता होना चाहिए कि सरपंच की शिकायत कहां करें लेकिन आपको चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि आज हम आपको सरपंच के खिलाफ शिकायत कैसे करनी है कहां करनी है सभी बिंदुओं को विस्तार से बताएंगे। दोस्तों यह आर्टिकल बहुत ही मजेदार होने वाला है इसलिए आर्टिकल को आखिर तक ध्यान से देखिएगा तो चलिए दोस्तों वक्त ना करते हुए आर्टिकल को जल्दी से जल्दी शुरू करते हैं।

यह तो सभी जानते हैं कि भारत एक ऐसा देश है जहां 60-70% आबादी कृषि पर निर्भर है जो कि गांव में रहती है, पंचायती स्वभाव भारतीय संविधान के अनुच्छेद 243 पर आधारित है जो हमारे सामने ग्राम सभा व ग्राम पंचायत का सारांश प्रस्तुत करता है हर गांव का मुखिया सरपंच होता है जिसकी अवधि 5 साल की होती है।

सरकार गांव के विकास कार्यों और समस्याओं को सुलझाने के लिए हर साल लाखों रुपए खर्च करती है ऐसे मामले में अगर गांव का मुखिया इन पैसों का गलत उपयोग करता है तो आप इसकी शिकायत भी दर्ज करवा सकते हैं और फिर उसके ऊपर सख्त कार्रवाई की जाती है। अगर आपको यह पता नहीं है कि इसकी शिकायत कैसे करनी है तो हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से अच्छे से समझाने जा रहे हैं इसलिए आर्टिकल को आखिर तक ध्यान से देखिएगा।

सरपंच की शिकायत कहां और कैसे करें

अगर आप ग्राम प्रधान सरपंच के खिलाफ शिकायत कर रहे हैं तो आपको इस बात की पूरी जानकारी होनी चाहिए कि आप जिस बारे में शिकायत करने जा रहे हैं क्या सच में सरपंच उसका दोषी है भी या नहीं, अगर आप सरपंच के खिलाफ किसी भी प्रकार की शिकायत करने जा रहे हैं, तो इससे पहले आप उस विषय की सारी जानकारी जरूर प्राप्त कर लें।

सरपंच की शिकायत कहां और कैसे करें

हर राज्य ने अपनी अलग अलग वेबसाइट जारी कर रखी है और सरकार ने उन वेबसाइट में भेजे गए पैसे और खर्च किए गए पैसों का सारा विवरण दे रखा है। उन वेबसाइट में आपको ग्राम पंचायत के पैसों की सारी जानकारी देखने को मिल जाती है अगर आपको इसमें कोई गड़बड़ लगती है और सरपंच ग्राम प्रधान की शिकायत करना चाहते हैं तो आप हमारे बताए गए निम्नलिखित तरीकों से शिकायत कर सकते हैं।

1. कलेक्टर से शिकायत करना

अगर आपको जिले से किसी भी अधिकारी या कर्मचारी की शिकायत करनी हो तो आप सीधे लिखित में कलेक्टर/जिलाधिकारी के सामने शिकायत पेश कर सकते हैं लेकिन इसके लिए आपके पास पर्याप्त कारण होना चाहिए अगर आपको सरपंच की कलेक्टर कार्यालय में शिकायत करनी है तो आपको एक application लिखनी होती है।

इसमें आपको किस वजह से या किस कारण से आप ग्राम प्रधान सरपंच की शिकायत कर रहे हैं यह सब लिखना होता है अगर आपके पास इससे जुड़ा कोई दस्तावेज है तो आप उसे भी अपने शिकायती पत्र के साथ अटैच कर सकते हैं।

अब आपको अपना आधार कार्ड लेकर कलेक्टर कार्य जाना होता है आप अकेले या कुछ गांव वालों को साथ लेकर भी कलेक्टर कार्य जा सकते हैं ताकि यह साबित हो सके कि आप उसी गांव के हैं जिस गांव के सरपंच कि आप शिकायत कर रहे हैं फिर आप अपनी एप्लीकेशन को कलेक्टर को देकर सरपंच की शिकायत कर सकते हैं।

2. सीएम हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत करना

हर राज्य में अपना अलग-अलग हेल्पलाइन नंबर होता है और आप सीधे सीएम हेल्पलाइन नंबर 181 पर भी अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं यह बहुत ही आसान तरीका है जिससे आप घर बैठे-बैठे अपनी शिकायत दर्ज करवा पाएंगे लेकिन आपको यह ध्यान रखना है कि आपके पास सरपंच के खिलाफ शिकायत का उचित कारण होना चाहिए।

3. आरटीआई के तहत शिकायत करना

अगर आप चाहें तो ऑनलाइन RTI के जरिए भी ग्राम प्रधान सरपंच के खिलाफ शिकायत दर्ज करवा सकते हैं, इसके लिए सरकार द्वारा एक वेबसाइट जारी की गई है click here आपको इस वेबसाइट पर जाकर सबमिट रिक्वेस्ट के ऑप्शन पर क्लिक करना है, उसके बाद आपको कुछ guidelines दिखाई देंगी इनको पढ़कर ही आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना है।

अब आपके सामने एक फॉर्म खुल जाएगा इस फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी भरनी जरूरी होती हैं अब आपको एक डिस्क्रिप्शन बॉक्स दिखाई देगा उसमें अपनी शिकायत लिख दें और supporting document के विकल्प में आप शिकायत से जुड़े दस्तावेज भी अटैच कर सकते हैं उसके बाद आपको सिक्योरिटी कोड डालने के लिए कहा जाएगा उसे भरकर सबमिट पर क्लिक करें।

रिक्वेस्ट submit करने के बाद आपको एक पेमेंट का विकल्प दिखाई देगा इसमें आपको ₹10 पेमेंट करनी होती है जिसे आप नेट बैंकिंग, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड के जरिए भी कर सकते हैं। उसके बाद आपको एक ट्रैकिंग नंबर मिलेगा, जिसे आप को संभाल कर रख लेना है बाद में यह नंबर शिकायत का status देखने के काम आएगा।

4. आरटीआई का स्टेटस कैसे चेक करें

अगर आप आरटीआई के माध्यम से दर्ज कराई गई शिकायत का स्टेटस देखना चाहते हैं तो आपको RTI की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर view status पर क्लिक करना है, उसके बाद आपको शिकायत दर्ज करते समय जो ट्रैकिंग नंबर मिला था उसे यहां भर देना है उसके बाद आप अपनी दर्ज कराई गई शिकायत का स्टेटस चेक कर सकते हैं।

सरपंच की शिकायत के बाद कैसे होती है कार्यवाही

आपकी शिकायत के बाद जिलाधिकारी एक टीम का गठन करता है टीम आपके गांव आएगी और विकास कार्यों का निरीक्षण करेगी, टीम निरीक्षण के दौरान गांव वालों से पूछताछ करने के बाद एक रिपोर्ट तैयार करती है और बाद में यह रिपोर्ट जिलाधिकारी के सामने प्रस्तुत की जाती है।

यदि रिपोर्ट में शिकायतकर्ता के आरोप सही पाए गए, तो सरपंच के खिलाफ वैधानिक कार्यवाही की जाती है और उस पर जुर्माना भी लगाया जा सकता है।

सरपंच को हटाने के नियम

यदि कोई सरपंच अपना कार्य ठीक से नहीं कर रहा है तो इसकी सूचना आपको लिखित में जिलाधिकारी को देनी होती है इस लिखित पत्र में गांव के आधे से ज्यादा लोगों के हस्ताक्षर होना आवश्यक है। जिस समय यह लिखित शिकायती पत्र जिलाधिकारी पंचायत राज के समक्ष पेश करना होता है उस समय ग्राम पंचायत के 3 सदस्यों का उपस्थित होना जरूरी है।

जिला अधिकारी को सूचना प्राप्त होने के 30 दिनों के अंदर अंदर एक बैठक बुलाई जाती है और इस बैठक की सूचना सरपंच और गांव के सदस्यों को कम से कम 15 दिन पहले दे दी जाती है, बैठक में भाग लेने वाले और मतदान करने वाले सदस्यों के दो तिहाई बहुमत से सरपंच को बर्खास्त कर दिया जाता है।

सरपंच की शिकायत कौन करता है

ग्राम प्रधान सरपंच के खिलाफ कोई भी व्यक्ति शिकायत कर सकता है लेकिन इसके लिए लिखित शिकायत में आधे से ज्यादा वार्ड सदस्यों के हस्ताक्षर होना जरूरी है सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव में शिकायत के सभी कारणों का उल्लेख होना चाहिए बाद में वह प्रस्ताव जिला अधिकारी को भेजा जाता है।

उसके बाद गांव में एक बैठक बुलाई जाती है जिसकी सूचना कम से कम 15 दिन पहले सरपंच और ग्रामीणों को दे दी जाती है अविश्वास प्रस्ताव पर सरपंच ग्रामीणों और वार्ड पंच को समान रूप से बहस का मौका दिया जाता है जरूरत पड़ने पर उसी जगह अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान भी करा लिया जाता है।

अगर दो तिहाई सदस्य सरपंच के खिलाफ वोट करते हैं तो सरपंच को हटा दिया जाता है इसके बाद सरपंच का चुनाव होने तक प्रधान की जिम्मेदारी गांव के उपसरपंच को दे दी जाती है। हालांकि अधिकांश राज्यों में सरपंच चुनने के शुरूआती 2 वर्ष और सरपंच के कार्यकाल के अंतिम 6 महीनों में अविश्वास प्रस्ताव को नहीं लाया जा सकता है।

सरपंच का क्या कार्य होता है

  • खेल के मैदान बनाना का खेल को बढ़ावा देना
  • कृषि संबंधी कार्य
  • गांव के विकास संबंधी कार्य
  • महिला एवं बाल विकास संबंधी कार्य
  • राशन की दुकानों का आवंटन व निरस्तीकरण
  • गरीब बच्चों के लिए मुफ्त शिक्षा की व्यवस्था
  • गांव में सड़कों का रखरखाव
  • युवा कल्याण संबंधी कार्य
  • आंगनवाड़ी केंद्रों को सुचारू रूप से चलाना
  • गांव में स्वच्छता बनाए रखना
  • सरकार की योजनाओं को गांव में लागू करना
  • पशुपालन व बागवानी को बढ़ावा देना
  • गांव को हरा-भरा बनाए रखना

सरपंच की सैलरी कितनी होती है

देश के सभी राज्यों में ग्राम पंचायत के चुनाव कराए जाते हैं जिसमें गांव का मुखिया सरपंच को बनाया जाता है इसके अलावा गांव में वार्ड पंच भी होते हैं केंद्र सरकार और राज्य सरकार की ओर से ग्राम पंचायत को गांव के विकास के लिए 7 से 8 करोड रुपए प्रदान किए जाते हैं। बाद में गांव का मुखिया यानी सरपंच इन पैसों को गांव का विकास करने में लगाता है।

सरकार द्वारा सरपंच की तय सैलरी ₹2500 से ₹3000 तक होती है लेकिन इसके अलावा हर महीने की ग्राम सभा बैठक में सरपंच को ₹100 भत्ता भी प्रदान किया जाता है, यानी कुल मिलाकर सरपंच को ₹3000 मिलते हैं।

तो दोस्तों कैसा लगा आपको हमारा यह आर्टिकल, इस आर्टिकल में हमने ग्राम प्रधान सरपंच की शिकायत कहां और कैसे करें ऐसे होगी कार्यवाही के बारे में अच्छे से जान लिया है आशा करते हैं कि आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया होगा और इसमें दी गई जानकारी आपको सही सही समझ आ गई होगी। अगर आपको अभी भी कुछ समझ नहीं आया है या आपका कोई प्रश्न बाकी रह गया है या सरपंच के बारे में कुछ और जानना चाहते हैं तो आप आर्टिकल के नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमसे पूछ सकते हैं

ये भी पढ़े –

दुनिया का सबसे बड़ा मुस्लिम देश कौन सा है

अमेरिका में हिंदू जनसँख्या कितनी है

पेटीएम एजेंट कैसे बने पूरी प्रक्रिया जाने

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here