गड़ियाघाट वाली माँ के मंदिर में पानी से जलता है दीपक जानिए वजह

गड़ियाघाट वाली माँ का मंदिर भारत में बहुत से चमत्कार देखने को मिल जाते है और इन चमत्कारों की वजह से भक्तों की भगवान पर आस्था और भी बढ़ जाती है आज हम आपको ऐसे चमत्कारी मंदिर के बारे में बताने जा रहे है जहाँ का दीपक तेल से नहीं पानी से जलता है. इस वजह से ये मंदिर काफी फेमस हो चुका है.

गड़ियाघाट वाली माँ के मंदिर में पानी से जलता है दीपक
गड़ियाघाट वाली माँ का मंदिर

हम बात कर रहे है गड़ियाघाट वाली माँ के नाम से जाने वाले मंदिर की जो की मध्यप्रदेश के शाजापुर जिले में कालीसिंध नदी के तट पर बना हुआ है. इस मंदिर की अनोखी रहस्यमय के कारण यहां हमेशा माता के भक्तों का तांता लगा रहता है. बता दे कि दीपक जलाने के लिए मन्दिर के पास उपस्थित कालीसिंध नदी से पानी लाया जाता है.

इस मंदिर में बरसात के दिनों में दीपक नहीं जलता है क्योंकि ये मंदिर कालीसिंध नदी के तट पर बना हुआ है जहाँ बरसात के दिनों में नदी का जलस्तर बढ़ जाता है जिस वजह ये मंदिर डूब जाता लेकिन बरसात के बाद दीपक फिर से जला दिया जाता है जो अगली बरसात के आने तक जलता है.

गड़ियाघाट वाली माँ के मंदिर में पानी से जलता है दीपक
Gadiyaghat wali ma ka mandir

पानी से ये दीपक आज से नहीं बल्कि 6 सालों से जल रहा है मंदिर के पुजारी दावा है कि गड़ियाघाट वाली माँ के इस मंदिर में पहले हमेशा तेल का ही दीपक जला करता था लेकिन लगभग 6 साल पहले माता ने सपने में दर्शन दिए और ये कहा कि तुम अब पानी का दीप जलाओ. तब से इस मंदिर में दीपक पानी से जलता है.

इस आर्टिकल को शेयर करें

MakeHindi.Com is a Professional Educational Platform. Here we will provide you only interesting content, which you will like very much. We’re dedicated to providing you the best of Education.