टीवी का आविष्कार किसने किया था और कब हुआ

आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे टीवी का आविष्कार किसने किया था और कब हुआ ज्यादातर लोगों को इस जानकारी के बारे में पता नहीं है कि टेलीविजन के आविष्कारक कौन है तो इस आर्टिकल के अंदर हम आपको बिल्कुल डिटेल से बताएंगे और हर एक पॉइंट को अच्छे से कवर करने की कोशिश करेंगे और आपको ज्यादा से ज्यादा जानकारी देंगे ताकि अगर आप इस नॉलेज को किसी और के साथ भी शेयर करें तो उसे भी यह जानकारी काम आए।

टीवी का आविष्कार किसने किया था

जब तक टीवी का आविष्कार नहीं हुआ था तब ज्यादातर लोग अपना समय व्यतीत करने के लिए या तो अपने दोस्तों के साथ या फिर किसी नुक्कड़ पर जाकर नृत्य देख कर अपना समय व्यतीत करते थे। वही बात करें बच्चों की तो बच्चे अपना ज्यादातर समय खेलने में और अपने दोस्तों के संग मस्ती करने में बिताते थे लेकिन जब से टेलीविजन का आविष्कार हुआ है तब से मानो बच्चे खेलना तो भूल ही गए हैं क्योंकि आजकल ज्यादातर बच्चे पूरा दिन अपना समय टीवी के सामने ही व्यतीत करते हैं।

और बच्चों के साथ साथ बड़े और बूढ़े भी पूरा दिन टीवी देखते हैं और ज्यादातर समय अपना टीवी देखने में बिता देते हैं लेकिन इन सभी बातों में क्या आपके दिमाग में कभी यह बात आई है कि टेलीविजन का आविष्कार किसने किया और सबसे पहले टेलीविजन कब आया था तो अगर आपके दिमाग में यह बात है नहीं आई या आपको इसके बारे में नहीं पता तो आपको इस आर्टिकल के अंदर है इन सभी चीजों के बारे में पूरी जानकारी मिलेगी तो चलिए बढ़ते हैं हमारे आज के इस आर्टिकल की तरफ।

टीवी क्या है

दोस्तों टीवी के बारे में बात करें तो आज के टाइम में सबसे पहले तो टेलीविजन एक मनोरंजन का साधन है और मनोरंजन का साधन होने का सबसे बड़ा कारण यह है कि टीवी के ऊपर हम लोग सबसे ज्यादा समय व्यतीत करते हैं और सबसे ज्यादा समय व्यतीत करने का कारण है कि सभी लोगों को टीवी के अंदर मनोरंजन की चीजें देखने को मिल जाती है जिस कारण से हम टीवी को बहुत ज्यादा पसंद करने लगे हैं।

टेलीविजन के जरिए हम घर बैठे ही सिनेमाघर जैसी फिल्मों का मजा ले सकते हैं क्योंकि पहले के टाइम में सिनेमाघर में भी ब्लैक एंड वाइट फिल्में देखने को मिलती थी और उस टाइम पर ब्लैक एंड व्हाइट टीवी ही चलते थे लेकिन जब सिनेमा घर में कलरफुल फिल्में आने लगी तो अब हमारे गमों में भी कलरफुल टेलीविजन आने लगे हैं आजकल टीवी के भी बहुत सारे प्रकार होते हैं और सभी प्रकार एक से बढ़कर एक हैं।

टीवी का आविष्कार किसने किया था

टीवी का आविष्कार करने वाले महान वैज्ञानिक का नाम है जॉन लॉगी बेयर्ड इन्होंने सर्वप्रथम टेलीविजन का आविष्कार साल 1925 में किया था और इन्होंने टीवी को सर्वप्रथम The televisor के नाम से संबोधित किया था। जब टीवी का आविष्कार हुआ तो सबसे पहले इस पर कठपुतली को प्रसारित किया गया था। जब जॉन लॉगी बेयर्ड ने टेलीविजन का आविष्कार किया तो उन्होंने सोचा कि इस आविष्कार को दुनिया तक पहुंचाया जाए तो उसके लिए उन्होंने टीवी को प्रमोट करने के लिए अखबार में जाकर इसकी एडवरटाइजमेंट भी की।

जॉन लॉगी बेयर्ड द्वारा जो टीवी बनाया गया था वह एक मैकेनिकल टेलीविजन था लेकिन उसके बाद एक और टीवी का आविष्कार हुआ जो कि एक इलेक्ट्रॉनिक टेलीविजन था और सबसे पहले इलेक्ट्रॉनिक टीवी का आविष्कार महान वैज्ञानिक Philo Farnsworth ने साल 1927 में किया था और जब इन दोनों टीवी का आविष्कार हो गया तो उसके बाद बात चलने लगी कि कलर टीवी का भी आविष्कार किया जाए तो उसके बाद कलर टेलीविजन का भी आविष्कार 1938 में किया गया और कलर टेलीविजन का आविष्कार करने वाले महान वैज्ञानिक का नाम Werner Flechsig है।

टीवी का आविष्कार किसने किया था

कलर टीवी को सर्वप्रथम न्यूयॉर्क में लोगों के सामने प्रदर्शित किया गया उसके बाद लोगों में कलर टेलीविजन की मांगे बढ़ गई लोगों की जरूरतों को पूरा करने के लिए वैज्ञानिकों ने peter Goldmark के निर्देश पर जॉन लॉगी बेयर्ड के सिद्धांत को अपनाते हुए मैकेनिकल कलर टीवी को बनाया सन 1946 में गोल्डमार्क ने कलर टीवी को संघीय संचार आयोग को दिखाया और यह टीवी संघीय समाचार आयोग द्वारा पसंद करने के बाद इसे अमेरिका में 1 मिलियन लोगों को बेचा गया।

टीवी कितने प्रकार के होते है

जब लोगों में टेलीविजन की इतनी ज्यादा डिमांड बढ़ने लगी तो उसी स्पीड से वैज्ञानिकों ने भी टीवी के आविष्कार करने शुरू कर दिए जैसे जैसे लोगों टीवी के अंदर इंटरेस्ट दिखाने लगे वैसे ही वैज्ञानिकों ने आए दिन नए टीवी का आविष्कार करना शुरू कर दिया उसी के बदौलत आज हमें मार्केट में बहुत सारी अच्छी क्वालिटी के टीवी देखने को मिल जाते हैं, जिनमें से कुछ इस प्रकार है।

1. CRT

दोस्तों सबसे पहले टीवी का आविष्कार हुआ था वह टीवी सीआरटी ही था जितने भी टेलीविजन हैं उन सभी का आविष्कार इसके बाद ही हुआ था और सीआरटी का मतलब कैथोड-रे ट्यूब है। अगर दोस्तों आपको सीआरटी टीवी के बारे में नहीं पता तो मैं बता दूं कि आपने अगर पुराने जमाने के टीवी देखे हैं तो उनके अंदर एक बड़ी सी ट्यूब होती है उसे ही सीआरटी कहते हैं। उस ट्यूब के अंदर फोटो को वीडियो के रूप में दिखाया जाता है जिससे कि हमें सीआरडी टीवी के अंदर फिल्में दिखाई देती थी।

2. Plasma TV

प्लाजमा टीवी एक एचडी टीवी होता था यह टीवी कैथोड किरण पर काम करता है प्लाज्मा एक वैज्ञानिक नाम है क्योंकि इसके अंदर कैथोड किरणें आदि का यूज किया जाता था इस कारण से प्लाज्मा एक साइंटिफिक नाम है प्लाजमा टेलीविजन के अंदर बहुत सारे छोटे छोटे घटक होते थे जिन्हें हम आज के टाइम में पिक्सल के रूप में जानते हैं। जब हम प्लाज्मा टीवी के अंदर विद्युत धारा का प्रवाह करते हैं तो इसके अंदर है उपस्थित प्लाज्मा हमें चमकता हुआ प्रतीत होता है जिस कारण से हमें इसके अंदर फिल्म दिखाई देती है या फिर कोई भी चल चित्र दिखाई देता है।

3. LCD TV

सीआरटी टीवी और प्लाजमा टीवी तो शायद कुछ लोगों ने देखा होगा क्योंकि आज के टाइम वाले बच्चे शायद ही सीआरटी टीवी और प्लाजमा टीवी के बारे में जानते होंगे लेकिन अगर हम आज के बच्चों से एलसीडी टेलीविजन के बारे में पूछे तो लगभग हर एक बच्चे को इसके बारे में पता होगा क्योंकि यह टीवी अभी बहुत ज्यादा प्रचलित है ज्यादातर घरों में हमें एलसीडी टीवी देखने को मिल जाते हैं एलसीडी का पूरा नाम लिक्विड क्रिस्टल डिस्प्ले है, एलसीडी टेलीविजन के अंदर दृश्य बनाने के लिए इसके अंदर एक लिक्विड भरा होता है जिसके ऊपर हमें कोई भी चलचित्र या फिर हमें इसके अंदर फिल्में देखने को मिलती।

4. LED TV

आजकल मार्केट के अंदर है अनेकों प्रकार के टीवी आ चुकी हैं जिनमें से एक टेलीविजन है एलइडी टीवी यह टीवी वजन में है बहुत ही ज्यादा हल्के होते हैं और उनकी उनकी पिक्चर क्वालिटी बहुत ही बढ़िया होती है इनके अंदर हमें मूवी या फिर कोई भी चलचित्र देखने में बहुत ही ज्यादा आनंद आता है एलइडी का पूरा नाम Light Emitting Diode है, जब हम इसके अंदर विद्युत धारा प्रवाहित करते हैं तो इसका सर्किट पूरा हो जाता है और हमें इसके अंदर है चलचित्र देखने को मिलते हैं यह टीवी आज के जमाने की नई तकनीक पर आधारित है।

5. OLED TV

आज के टाइम में मार्केट में जितने भी टेलीविजन चल रहे हैं उनमें सबसे स्मार्ट टीवी यही है और लेटेस्ट भी यही है इसके ऊपर है अभी तक कोई भी टीवी नहीं आया है और इस टीवी की क्वालिटी आपको सबसे बेस्ट देखने को मिलेगी और इसके आपको बहुत ही ज्यादा साइज भी देखने को मिलेंगे OLED का पूरा नाम organic Light Emitting Diode है, इसके अंदर हम जो विद्युत द्वारा देते हैं इसे यह लाइट के अंदर परिवर्तित करके हमें स्क्रीन पर दिखाता है जिससे कि हमें इसके अंदर फिल्में और अन्य धारावाहिक चैनल देखने को मिलते हैं।

टीवी के बारे में कुछ अन्य महत्वपूर्ण जानकारी

अगर हम टीवी के बारे में अन्य जानकारी में बात करें तो भारत में सबसे पहले टेलीविजन का प्रयोग कोलकाता के neogi परिवार ने किया था सर्वप्रथम भारत में टीवी 15 September 1959 आया था जब टेलीविजन का आविष्कार हो गया था तो टीवी के आविष्कार करने वाले वैज्ञानिक ने अपने बच्चे पर टीवी को देखने के लिए रोक लगा दी थी। उनका कहना था कि इसके अंदर है बच्चों को देखने के लायक कोई भी चीज नहीं है। क्या आप लोग जानते हैं हम लोग हमारी जिंदगी में टीवी को देखते हुए लगभग 10 साल बिता देते हैं। दोस्तों क्या आपको पता है सैमसंग कंपनी ने दुनिया भर में अपने लगभग 427 मिलियन टेलीविजन बेच दिए हैं।

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने देखा कि टीवी का आविष्कार किसने और कब किया था और इस टॉपिक के ऊपर मैंने आपको बिल्कुल डिटेल से समझाने की कोशिश की है और इस टॉपिक पर जितने भी पॉइंट बनते थे उन सभी पॉइंट को इस आर्टिकल के अंदर मैंने कवर किया है क्योंकि अगर आपको किसी भी पॉइंट के बारे में अधूरी जानकारी होगी तो वह आगे आपको जाकर है कोई ना कोई तकलीफ जरूर देगी लेकिन अगर आपको पूरी जानकारी होगी तो उसका आपको आगे फायदा जरूर होगा।

इस आर्टिकल में हमने देखा है टीवी का आविष्कार किसने किया था और कब हुआ अगर आपको आर्टिकल के अंदर दी हुई जानकारी में कोई भी दिक्कत आ रही है, तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं, हम आपका जल्दी से जल्दी रिप्लाई करने की कोशिश करेंगे और इस आर्टिकल को अपने दोस्तों में और अपने परिवार में ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि यह जानकारी उन लोगों तक भी पहुंच सके और आप हमें इंस्टाग्राम और फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं ऐसी ही जानकारी वाली पोस्ट पढ़ने के लिए।

ये भी पढ़े –

भारत की सबसे ऊँची बिल्डिंग कौन सी है

अमेरिका की जीडीपी कितनी है वर्तमान में

मीटर नंबर से बिजली बिल कैसे निकाले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here