दुनिया के ज्यादातर हवाई जहाज का रंग सफेद ही क्यों होता है जानिए कारण

हवाई जहाज का रंग सफेद ही क्यों होता है हम अपने बचपन से हवाई जहाज को आसमान में उड़ते हुए देख रहे है और शायद आप हवाई जहाज से कई बार सफर भी कर चुके होंगे लेकिन क्या आपने कभी इस बात पर ध्यान दिया है कि हवाई जहाज का रंग सफेद ही क्यों होता है. किसी अन्य वाहन की बात करे जैसे कार, बाइक, बस या ट्रेन सभी अलग अलग कलर की होती हैं. लेकिन दुनिया के ज्यादातर हवाई जहाज सफेद रंग के होते हैं हालाकि उनपर रंग विरंगी पट्टियाँ और कंपनी का नाम दूसरे कलर में होता है लेकिन जो मुख्य कलर होता है वह सफेद ही होता है तो आज हम आपको इसके पीछे के कुछ कारण बताने जा रहे हैं जिससे आपको भी पता चल जाये कि ज्यादातर एरोप्लेन का कलर सफेद ही क्यों होता है.

हवाई जहाज का रंग सफेद ही क्यों होता है

हवाई जहाज का रंग सफेद ही क्यों होता है

हम सभी जानते है कि सफेद रंग बाकि रंग की तुलना में प्रकाश को ज्यादा परावर्तित करता है ये सूर्य से आने वाली किरणों को आसानी से परावर्तित कर देता है जिससे हवाई जहाज की सतह गर्म नहीं होती है इस कारण हवाई जहाज की अधिक ऊंचाई होने पर भी सूर्य से आने वाली गर्म किरणों का हवाई जहाज के अन्दर बैठे यात्रियों पर कोई असर नहीं पड़ता है. आपको बता दे कि सुरक्षा की द्रष्टि से भी सफेद रंग रखना काफी फायदेमंद रहता है क्योंकि सफेद रंग पर अगर किसी प्रकार की दरार, क्षती या डेंट्स पड़ जाते है तो इसका आसानी से पता चल जाता है इसके अलावा अगर हवाई जहाज के किसी हिस्से में तेल रिसाव हो रहा है उसे भी आसानी से पता किया जा सकता है.

किसी कारणवश अगर विमान दुर्घटनाग्रस्त हो जाता है तो उसे ढूंढने में भी आसानी हो जाती है क्योंकि सफ़ेद रंग प्रकाश को ज्यादा परावर्तित करता है इसलिए दूसरे रंग की तुलना में सफेद रंग के हवाई जहाज को ढूंढने में काफी मदद मिलती है. आपको बता दे कि किसी हवाई जहाज को पेंट कराने में 3 लाख से 1 करोड़ रूपये तक खर्च हो जाते है इसके साथ एक हवाई जहाज को पेंट करने में 4 से 5 हफ्ते का समय लग जाता है ऐसे में हवाई जहाज की कंपनियां पेंट में होने वाले भारी भरकम खर्च से बचने के लिए हवाई जहाज को सफेद रंग में पेंट करवाती हैं.

ज्यादातर हवाई जहाज धूप में खड़े रहते है इसके अलावा उन्हें धूप में ही सफ़र करना होता है सफेद रंग को छोड़कर बाकी रंग हल्के पड़ने लगते हैं लेकिन सफेद रंग में ऐसी कोई परेशानी नहीं होती है. हवाई जहाज की कंपनियां आपस में हवाई जहाजों को खरीदती और बेचती रहती हैं विमान का रंग सफेद होने से उसमें कंपनी का नाम लिखना आसान हो जाता है. अब आप जान गए होंगे कि हवाई जहाज का रंग सफेद ही क्यों होता है.

ये भी पढ़े –

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here