यो यो टेस्ट क्या होता है पूरी जानकारी

यो यो टेस्ट क्या होता है कई बार आपने मन में ये सवाल जरुर आया होगा क्योंकि Yo Yo Test की खबरे अखबारों और टीवी पर आती रहती हैं आपको बता दे कि टीम इंडिया जब भी कोई सीरीज या टूर्नामेंट खेलने जाती है तो इससे पहले सीरीज या टूर्नामेंट में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को एक टेस्ट देना होता है जिससे खिलाड़ियों की फिटनेस का पता चलता है. आपको बता दे कि इस टेस्ट में फैल होने के कारण कई दिग्गज खिलाड़ी टीम इंडिया से बाहर हो गए है तो चलिए इसके बारे में जानते हैं.

यो यो टेस्ट क्या होता है पूरी जानकारी

यो यो टेस्ट क्या होता है

यह एक ऐसा टेस्ट होता है जिसका इस्तेमाल खिलाड़ी या एथिलीट की फिटनेस को साबित करने के लिए किया जाता है. दुनिया में सबसे पहले फुटबॉल में इस टेस्ट का इस्तेमाल किया गया था. इसके बाद हॉकी में और अब क्रिकेट में भी इस टेस्ट का इस्तेमाल किया जाने लगा है. क्रिकेट में सबसे पहले ऑस्ट्रेलिया टीम ने अपनी खिलाडियों की फिटनेस को साबित करने के लिए इस टेस्ट का इस्तेमाल किया था और अब तो लगभग सभी क्रिकेट बोर्ड अपने खिलाड़ियों की फिटनेस को इसी टेस्ट से घोषित करते हैं. टीम इंडिया में अब लगभग सभी खिलाड़ी यो यो टेस्ट से ही एंट्री लेते हैं.

यो यो टेस्ट क्या होता है इसकी प्रक्रिया क्या है

अब बात करते हैं इसकी प्रक्रिया की और इसे किस प्रकार से आजमाया जाता है तो आपको बता दे कि यह एक सॉफ्टवेयर बेस्ड टेस्ट होता है इसका मतलब कोई भी मेनुअल या कोई भी आदमी इस टेस्ट को नहीं लेता है. भारत में बेंगलोर में स्थित NCA यानि नेशनल क्रिकेट अकादमी में इस टेस्ट को लिया जाता है.

यो यो टेस्ट क्या होता है पूरी जानकारी

इस टेस्ट को देने के लिए खिलाड़ी को दो कोन के बीच लगातार भागना पड़ता है ये दोनों कोन 20 मीटर की दूरी पर लगे रहते हैं जब सॉफ्टवेयर पहली बीप देता है तो खिलाड़ी एक कोन से दूसरे कोन की तरफ भागता है जब खिलाड़ी दूसरे कोन तक पहुँचता है तो सॉफ्टवेयर दूसरी बीप देता है इस तरह से सॉफ्टवेयर में खिलाड़ी के एक कोन से दूसरे कोन तक भागने का टाइम रिकॉर्ड हो जाता है ये प्रोसेस लगातार चलती रहती है और आखिरी में सॉफ्टवेयर फिटनेस स्कोर के माध्यम से ये बताता है कि खिलाड़ी खेलने के लिए फिट है या नहीं.

सॉफ्टवेयर के फिटनेस स्कोर की बात करे तो यहां पर टीम में एंट्री लेने के लिए किसी भी खिलाड़ी का स्कोर 19.5 या इससे ज्यादा होना चाहिए. 19.5 से कम स्कोर होने पर खिलाड़ी को अनफिट माना जाता है उसे टीम में शामिल नहीं किया जाता है. टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली का स्कोर 21 या इससे ज्यादा होता है विराट कोहली लगातार टीम इंडिया के सबसे फिट खिलाड़ी के रूप में निकलते आ रहे हैं.

तो अब आप यो यो टेस्ट क्या होता है इसके बारे में जान गए होंगे. टीम में शामिल होने के लिए प्रत्येक खिलाड़ी को ये टेस्ट देना अनिवार्य होता है इस टेस्ट से ही खिलाड़ी की फिटनेस का पता चलता है अगर आपको ये जानकारी पसंद आयी है तो इसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे.

ये भी पढ़े –

यो यो टेस्ट क्या होता है पूरी जानकारी
Rate this post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here