ऐसा कौन सा देश है जहां मुस्लिम नहीं है

क्या आप जानते हैं ऐसा कौन सा देश है जहां मुस्लिम नहीं है जैसा कि आपको भी पता होगा कि दुनिया में ईसाई धर्म को मानने वाले लोगो के बाद सबसे ज्यादा जनसँख्या मुस्लिम लोगो की हैं ईसाईयों की तरह मुस्लिम लोग भी पूरी दुनिया में फैले हैं। हालाकि इनकी अधिकतर आबादी एशिया महाद्वीप में निवास करती है लेकिन यह एशिया के अलावा यूरोप अमेरिका महाद्वीप में भी रहते हैं। इतना ही नहीं दुनिया के 197 देशों में से 57 देशों ने स्वयं को मुस्लिम राष्ट्र घोषित किया हुआ है ऐसे में आप अंदाजा लगा सकते हैं कि दुनिया में इस्लाम धर्म का प्रभाव कितना है।

ऐसा कौन सा देश है जहां मुस्लिम नहीं है

वर्तमान समय में पूरे विश्व की जनसँख्या 7.7 अरब से भी ज्यादा है ऐसे में आप भी जानना चाहते होंगे इनमें सबसे अधिक आबादी कौन से धार्मिक समुदाय की है। तो आपको बता दे कि इनमें 2.2 अरब के साथ ईसाई समुदाय पहले स्थान पर आता है इसके बाद 1.6 अरब के साथ इस्लाम समुदाय आता है वहीं 1 अरब की आबादी के साथ हिन्दू धर्म तीसरी सबसे बड़ी आबादी वाला धर्म है। यहाँ मुस्लिम समुदाय की बात हो रही है तो इण्डोनेशिया दुनिया का सबसे अधिक मुस्लिम आबादी वाला देश हैं जहाँ करीब 20 करोड़ लोग मुस्लिम धर्म को मानते हैं।

ऐसा कौन सा देश है जहां मुस्लिम नहीं है

वैटिकन सिटी एक ऐसा देश है जहाँ एक भी मुस्लिम नहीं है ऐसा क्यों है यह आपको इस पोस्ट में पता चल जायेगा वैटिकन सिटी यूरोप के कंट्री इटली की राजधानी रोम के बीचों बीच बसा हुआ देश है जिसकी स्थापना 1929 में हुई थी आपकी जानकारी के लिए बता दे यह दुनिया का सबसे छोटा देश है जिसे अंतर्राष्ट्रीय मान्यता हासिल है यहाँ एक भी मुस्लिम नागरिक नहीं है।

ऐसा कौन सा देश है जहां मुस्लिम नहीं है

यहाँ ईसाई धर्मगुरु पोप का शासन चलता है और इस देश की जनसंख्या महज 825 लोगो की है। दुनिया की सबसे बड़ी चर्च इसी देश में मौजूद है जिस तरह मुस्लिम लोगो के लिए सऊदी अरब का मक्का सबसे पवित्र स्थल माना जाता है उसी तरह वैटिकन सिटी ईसाई लोगो के लिए किसी पवित्र स्थान से कम नहीं है इसलिए इस कंट्री को दुनिया भर के ईसाई लोग दान देते हैं।

वैटिकन सिटी का इतिहास

पहले वैटिकन सिटी यूरोप के देश इटली का हिस्सा हुआ करता था और इटली के अधिकतर राज्यों में इसाइयों के धर्मगुरु पोप का शासन चलता था लेकिन जब 1871 में इटली संगठित हुआ तो पोप की शक्तियां कम होती चली गयी। क्योंकि पोप की अनुमति के बिना पोप शासित राज्यों को इटली में शामिल कर लिया गया इससे पोप और इटली के राजा के बीच मतभेद हो गए थे।

काफी लम्बे समय के बाद इटली के राजा और ईसाई धर्मगुरु पोप के बीच 11 फरवरी 1929 को संधि हुई जिसमे फैसला लिया गया कि पोप इटली के किसी भी राजनीतिक फैसले में शामिल नहीं होंगे। इसके बदले में उन्हें वैटिकन सिटी दिया जायेगा और इसे एक स्वतंत्र राष्ट्र का दर्जा मिलेगा इस तरह साल 1929 में दुनिया के सबसे छोटे देश का जन्म हुआ।

जैसा कि आपको अब पता चल गया होगा कि वैटिकन सिटी की जनसँख्या 825 के करीब है जिनमें सभी ईसाई धर्म को फॉलो करते हैं चूँकि वैटिकन सिटी एक ईसाई राष्ट्र है ऐसे में यहाँ मुस्लिम आबादी होना मुस्किल है। हालाकि इस्लामी लोग टूरिस्ट बन कर इसे विजिट कर सकते हैं लेकिन किसी भी मुस्लिम व्यक्ति को फिलहाल वैटिकन सिटी की नागरिकता हासिल नहीं है।

तो अब आप जान गए होंगे कि ऐसा कौन सा देश है जहां मुस्लिम नहीं है बहुत से लोग जापान को बिना इस्लाम आबादी वाला देश मानते हैं लेकिन ऐसा नहीं है क्योंकि यहाँ भी इस्लाम धर्म को मानने वाले लोगो की जनसँख्या मौजूद है जिनकी संख्या 70 हजार से 1 लाख के बीच बताई जाती है। जापान की मुस्लिम आबादी में 90 प्रतिशत बाहरी लोग हैं जापान में रह रहे मुस्लिम लोगो में सबसे बड़ी संख्या इंडोनेशियाई नागरिकों की है जो अब जापान में बस गए हैं। ऐसे में अब आप जापान को बिना इस्लामी लोगो की संख्या वाला कंट्री नहीं मान सकते हैं लेकिन वैटिकन सिटी जिसकी आबादी महज 825 लोगो की हैं वहां मुस्लिम लोग नहीं है।

ये भी पढ़े –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here