EVM मशीन कहाँ बनता है EVM की कीमत कितनी है

क्या आप जानते हैं EVM मशीन कहाँ बनता है EVM मशीन की कीमत कितनी होती है नहीं पता। आज हम आपको इसी बारे में बताने जा रहे हैं। आपको बता दे कि ईवीएम की फुलफॉर्म इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन होती है। इसका प्रयोग वोटिंग में हुए मतदान की गणना के लिए किया जाता है। इसकी दो यूनिट होती है पहला कंट्रोल यूनिट जो इस पूरे सिस्टम को कण्ट्रोल करता है और दूसरा बैलेटिंग यूनिट होता है। जो 5 मीटर की केबल द्वारा एक दूसरे से जुड़े होते हैं।

EVM मशीन कहाँ बनता है

वर्तमान समय में देश के लगभग सभी राज्यों में वोटिंग के लिए EVM मशीन का प्रयोग किया जाने लगा है लेकिन इससे पहले वोटिंग के लिए बैलेट पेपर का इस्तेमाल किया जाता था। इसमें बहुत अधिक कागज की जरुरत पड़ती थी। इसके साथ खर्चा भी काफी अधिक होता था लेकिन इस खर्चे को कम करने के लिए और समय बचाने के लिए EVM मशीन की खोज की गयी। इस मशीन के आ जाने से अब वोटिंग की प्रक्रिया काफी आसान हो गयी है।

EVM मशीन कहाँ बनता है

वैसे देखा जाए तो भारत में टेक्नोलॉजी दूसरे देशों से आयात की जाती है। ऐसे में आप भी सोच रहे होंगे कि EVM मशीन को दूसरे देशों से मंगवाया जाता होगा लेकिन यह पूरी तरह सत्य नहीं है। EVM मशीन भारत में ही बनती है। आपको बता दे कि भारत में EVM मशीन दो जगहों पर बनाई जाती है। पहला इलेक्ट्रॉनिक कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड हैदराबाद और दूसरी जगह भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड बेंगलोर है।

इस मशीन में अलग से बिजली की जरुरत नहीं पड़ती है क्योंकि इसमें बैटरी लगी होती है। ऐसे में इस मशीन से उन जगहों पर भी वोटिंग की जा सकती है जहां फिलहाल बिजली मौजूद नहीं है। इसके अलावा EVM मशीन का फायदा पर्यावरण को भी होता है क्योंकि इसके जरिये वोटिंग में प्रयोग होने वाले कागज की बड़ी मात्रा में बचत होती है। बता दे कि इस मशीन के कण्ट्रोल यूनिट की मेमोरी में चुनाव प्रत्याशी का परिणाम 10 साल या इससे भी अधिक समय तक रहता है।

EVM मशीन की कीमत कितनी होती है

जब शुरुआत में यानी साल 1989-90 में EVM खरीदी गयी थी। तब उस समय इनकी कीमत 5500 रूपये थी। इसमें एक कंट्रोल यूनिट, एक बैलेटिंग यूनिट और बैटरी भी शामिल है। समय के साथ इसमें भी शुरुआत से लेकर अब तक कई अपडेट भी किये गए हैं। वर्तमान में भारत में दो तरह की EVM मशीन है। पहली M2 और दूसरी M3 है।

M2 EVM को साल 2006 और 2010 के बीच बनाया गया था। तब इनकी प्राइस 8 हजार से 9 हजार रूपये के बीच हुआ करती थी। अभी जो वर्तमान में उपयोग की जा रही है उस EVM की कीमत 17 से 18 हजार के बीच है।

तो अब आप जान गए होंगे कि EVM मशीन कहाँ बनता है EVM मशीन की कीमत कितनी होती है हालाकि अब भारत में इसका प्रयोग काफी तेजी बढ़ा है लेकिन इससे जुड़े कई विवाद भी सामने आये है। जैसे किसी पार्टी ने आरोप लगाया है कि EVM मशीन को हैक कर लिया गया है। लेकिन कोई भी अभी तक इसके हैक होने की बात को साबित नहीं कर पाया है।

ये भी पढ़े –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here