RTGS क्या है RTGS और NEFT में अंतर जानिए

    RTGS क्या है (Rtgs kya hai) अगर आप बैंकिंग यानी अपने खातों में पैसों का लेनदेन करते हैं तो आपने कभी न कभी आरटीजीएस के बारे में सुना होगा आप भी जानना चाहते होंगे कि ये RTGS क्या होता है आपको बता दे कि यह पैसे ट्रान्सफर करने सबसे तेज प्रक्रिया है जिसे लगभग हर बैंकिंग यूज़ करने वाला व्यक्ति यूज़ करना चाहता है. तो इस पोस्ट में हम आपको इसी प्रक्रिया की बेसिक जानकारी देने वाले है जिससे आपको भी इसके बारे में थोड़ी बहुत जानकारी हो जाए तो चलिए जानते हैं.

    RTGS क्या है
    RTGS kya hai

    RTGS क्या है (Rtgs kya hai)

    आपको बता दे कि RTGS एक बैंक अकाउंट से दूसरे बैंक अकाउंट में पैसे ट्रान्सफर करने का एक इलेक्ट्रोनिक तरीका है जी हां यहाँ ध्यान देने वाली बात यह है कि किसी एक बैंक के अकाउंट से दूसरे बैंक अकाउंट में, अगर आपका अकाउंट स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया में है और आपको HDFC Bank की किसी ब्रांच के अकाउंट में पैसे ट्रान्सफर करना है तो आप आरटीजीएस का प्रयोग कर सकते हैं लेकिन अगर आपका अकाउंट State Bank of India में और आपको स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया के किसी अकाउंट में पैसे ट्रान्सफर करना है तो यहां पर RTGS का प्रयोग नहीं हो सकता है.

    RTGS की फुल फॉर्म Real Time Gross Settlement होती है यह एक बैंक से दूसरे बैंक में पैसे ट्रान्सफर करने का सबसे तेज तरीका है इस प्रक्रिया में जैसे ही पैसे ट्रान्सफर करने की कमांड दी जाती है तुरंत सामने वाले के अकाउंट में पैसे ट्रान्सफर हो जाते हैं इसकी टाइमिंग की बात करे तो इसकी टाइमिंग सुबह 8 बजे से लेकर शाम के 4:30 बजे तक होती है

    आरटीजीएस में पैसे ट्रान्सफर की मिनिमम 2 लाख रूपये की लिमिट होती है हालाकि इस प्रक्रिया में मैक्सिमम की कोई लिमिट नहीं है इसमें आप ज्यादा से ज्यादा कितना भी अमाउंट ट्रान्सफर कर सकते हैं RTGS में हर बैंक के अलग अलग चार्ज होते हैं इसके साथ यह अमाउंट पर भी निर्भर करता है कि आप कितना अमाउंट ट्रान्सफर कर रहे हैं.

    RTGS और NEFT में अंतर

    RTGS और NEFT में अंतर देखा जाए तो दोनों का ही काम दो अलग अलग बैंक अकाउंट में पैसे ट्रान्सफर करना है. अगर आपको किसी एक बैंक अकाउंट से दूसरे बैंक अकाउंट में पैसे ट्रान्सफर करना है तो आप NEFT और RTGS में से किसी एक का प्रयोग कर सकते हैं.

    दोनों में मुख्य अंतर समय सीमा को लेकर है एक तरफ जहां NEFT में पैसे ट्रान्सफर करने की कोई लिमिट नहीं है आप 1 रूपये से लेकर ज्यादा ज्यादा कितने भी रूपये ट्रान्सफर कर सकते हैं वहीं दूसरी तरफ RTGS में आपको कम से कम 2 लाख रूपये का ट्रान्सफर करना होगा इसमें भी आप ज्यादा से ज्यादा कितने भी रूपये ट्रान्सफर कर सकते हैं.

    NEFT में पैसे ट्रान्सफर कुछ घंटे बाद होता है यानी इस प्रक्रिया में कुछ घंटो का समय लगता है जबकि आरटीजीएस में पैसे का ट्रान्सफर तुरंत हो जाता है इसके अलावा NEFT में पैसे ट्रान्सफर की टाइमिंग सुबह 8 बजे से लेकर शाम के 7 बजे तक होती है वहीं RTGS में पैसे ट्रान्सफर की टाइमिंग सुबह 8 बजे से लेकर शाम के 4:30 बजे तक की होती है.

    इस पोस्ट को पढ़ने के बाद अब आप जान गए होंगे कि RTGS क्या है (Rtgs kya hai) इसमें हमने आपको RTGS और NEFT में अंतर भी बता दिया है इससे आपको पता चल गया होगा कि ये RTGS क्या होता है वैसे तो दोनों एक बैंक से दूसरे बैंक में पैसे ट्रान्सफर करने के तरीके है दोनों पैसे ट्रान्सफर करने के इलेक्ट्रोनिक तरीके हैं लेकिन दोनों में पैसो की सीमा और पैसों के ट्रान्सफर के समय को लेकर काफी अंतर है.

    ये भी पढ़े –

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here