Mitron App का मालिक कौन है ये किस देश का ऐप है

चलिए आज जानते हैं Mitron App का मालिक कौन है Mitron कहां किस देश का ऐप है। अगर आपसे पूछा जाए कि शोर्ट वीडियो मेकिंग में सबसे ज्यादा लोकप्रिय ऐप कौनसा है। तो आपका जबाव Tik Tok होगा क्योंकि यह काफी लोकप्रिय ऐप है। जिसके बारे में आज लगभग सभी स्मार्टफोन यूजर जानते हैं। जब भी कोई चीज लोकप्रिय होती है तो उसके क्लोन भी बनने लगते हैं। जैसे टिक टोक लोकप्रिय हुआ तो इसी के जैसे मार्केट में Likee, Vigo जैसे ऐप आ गए हैं। इसी लिस्ट में एक नया ऐप Mitron भी शामिल हो गया है जो शुरुआत से ही कंट्रोवर्सी के कारण लोकप्रिय हो रहा है।

Mitron App का मालिक कौन है

मित्रों ऐप तिक टॉक को तरह एक शोर्ट वीडियो शेयरिंग प्लेटफार्म है जिसमें आप अपने शोर्ट वीडियो बनाकर उन्हें शेयर कर सकते हैं। अगर आप टिक टोक चलाते है तो आपको मित्रों और टिक टोक में ज्यादा अंतर नजर नहीं आएगा। क्योंकि दोनों ऐप को बनाने में एक ही तरह की कोडिंग का इस्तेमाल किया गया है। चूँकि मित्रों ऐप भारतीय लोगो के बीच काफी लोकप्रिय हो रहा है। ऐसे में बहुत से लोग जानना चाहते है Mitron App का Owner कौन है यह कहां का ऐप है अगर आप भी इसके बारे में जानना चाहते हैं तो इस पोस्ट को ध्यानपूर्वक पढ़िए।

Mitron App का मालिक कौन है

मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक Mitron App के मालिक Shivank Agrawal हैं। जो IIT Roorkee के स्टूडेंट हैं इन्होने अपने इस ऐप को 11 अप्रैल 2020 को लांच किया था। और इसे प्लेस्टोर में Mitron TV के रूप में पब्लिश किया था। इस ऐप को शुरुआत से ही भारतीय के रूप में पहचान मिली है जिसकी वजह से गूगल प्लेस्टोर में इसके बहुत कम समय में 5 मिलियन से भी अधिक यूजर हो गए हैं।

वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इसे 2 जून 2020 को प्लेस्टोर से हटा दिया गया था। जिसके पीछे मुख्य कारण प्राइवेसी पालिसी और कुछ सिक्यूरिटी मामले बताये गए थे लेकिन अब इसमें कुछ अपडेट किये गए जिसके कारण यह प्लेस्टोर पर बापस आ गया है।

Mitron App किस देश का ऐप है

अगर आप भी इसे भारतीय समझ रहे हैं तो आपको बता दे कि यह भारत में तैयार नहीं किया गया है। मीडिया रिपोर्ट की माने तो इसे पाकिस्तान में इजाद किया गया था यह एप्प मूल रूप से पाकिस्तान का है। मित्रों एप को एक पाकिस्तानी डेवलपर्स से करीब 2,500 रुपये में खरीदा गया है। मित्रों एप का असली नाम टिकटिक बताया गया और कहा गया कि इसे पाकिस्तान के इरफान शेख की कंपनी Qboxus ने तैयार किया था।

इरफान शेख ने इस एप के सोर्स कोड को 34 डॉलर्स यानी करीब 2,500 रुपये में किसी को बेच दिया। अब यहां समस्या डेवलपर और पाकिस्तान से नहीं है, समस्या है प्राइवेसी और मेड इन इंडिया के नाम पर प्रचार करने की। सच तो यह है कि पाकिस्तानी टिकटिक एप में कोई बदलाव ही नहीं किया गया है। सिर्फ टिकटिक का नाम मित्रों रख दिया गया है।

Qboxus कंपनी के फाउंडर इरफान शेख का कहना है कि वो चाहते हैं उनके कस्टमर उनके सोर्स कोड का इस्तेमाल करके कुछ नया बनाये। लेकिन मित्रों ऐप के डेवलपर ने उनके प्रोडक्ट में कोई बदलाव नहीं किया है बस नाम और लोगो बदलकर उसे प्लेस्टोर में अपलोड कर दिया है। भले ही इसके मित्रों ऐप के Owner भारतीय हो लेकिन इसे पाकिस्तान में बनाया गया है।

तो अब आप जान गये होंगे कि Mitron App का मालिक कौन है Mitron किस देश का ऐप है। अगर आप भी इसे यूज करने की सोच रहे हैं तो आपको बता दे कि फिलहाल इसका कोई भी सटीक Owner नहीं है न ही इसके डाटा सोर्स का पता है। ऊपर बताई गयी जानकारी में सिर्फ दावा किया गया है ऐसे में आपको इसके इस्तेमाल करने से बचना चाहिए। जब भी किसी चीज का कोई असली मालिक नहीं होता है तो उसका भविष्य अक्सर अंधकार में ही होता है ऐसी चीज कभी भी बंद हो सकती हैं।

ये भी पढ़े –

1 COMMENT

  1. par bhai jab kharid liya to ab yah app indian hua aur humlog ko chahiye ki titok ko chodkar is app ka use jyada se jyada karen

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here