पटवारी कैसे बने 2020 में योग्यता सैलरी और प्रक्रिया

इस पोस्ट में जानेंगे पटवारी कैसे बने 2020 में पटवारी बनने के लिए क्या करें आज के समय बहुत से छात्र लेखपाल बनना चाहते हैं क्योंकि यह एक ऐसा सरकारी पद है। जिसमें इज्जत और पैसा दोनों मिलता है। इस पद को लेखपाल के नाम से भी जाना जाता है। अगर आप 12वीं पास है और सरकारी नौकरी की तलाश कर रहे हैं तो आपके लिए पटवारी की नौकरी एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि सरकारी नौकरी किसी भी व्यक्ति के भविष्य को बेहतर बना देती है। ऐसी ही एक सरकारी नौकरी पटवारी की है जिसे कुछ राज्यों में लेखपाल के नाम से भी पहचाना जाता है।

पटवारी कैसे बने

लेखपाल की नौकरी राजस्व विभाग के अंतर्गत आती है जो ग्रामीण क्षेत्रों में भूमि के मालिकाना हक का रिकॉर्ड रखता है। जब भी किसी ग्रामीण छेत्र में जमीन को खरीदा या बेंचा जाता है तो वहां इसके लिए पटवारी से संपर्क करना होता है। क्योंकि पटवारी ही जमीन को एक नाम से दूसरे नाम पर रजिस्टर करता है। लगभग सभी लेखपाल का अपना एक छेत्र होता है। जिसके अंतर्गत लेखपाल को अपने छेत्र में जमीन मापना, जमीन की खरीद बिक्री का रिकॉर्ड रखना, जमीन का हस्तांतरण, आय और जाती प्रमाण पत्र बनवाना राजस्व अभिलेख आदि करना होता है।

पटवारी कैसे बने

पहले इसकी बेसिक जानकारी जानते हैं तो पटवारी बनने के लिए पहले आपको अपने राज्य के सरकारी बोर्ड से 12th पास करना होगा। 12वीं में आर्ट्स, कॉमर्स या साइंस जैसे सब्जेक्ट लेकर पास करें। इसके बाद किसी विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करें और साथ में कंप्यूटर का कोर्स करें। पहले आप 12वीं पास करके लेखपाल बन सकते थे लेकिन अब इसके लिए अब आपके पास ग्रेजुएशन की डिग्री होना आवश्यक कर दिया गया है।

ऐसा नहीं है कि आप कभी भी पटवारी के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आपको राज्य सरकार के नोटिफिकेशन का इंतजार करना होता है। राज्य सरकार समय समय पर इसके खाली पदों के लिए सूचनायें जारी करती है इस सूचना में सरकार भर्ती परीक्षा की पूरी जानकारी देती है। इसमें मौजूद निश्चित तिथि में ही आपको इसकी परीक्षा के लिए अप्लाई करना होता है।

पटवारी बनने की योग्यता

सभी सरकारी नौकरी के लिए कुछ विशेष योग्यताओं को आवश्यक किया जाता है। उसी प्रकार पटवारी में आपको निम्नलिखित योग्यता होना चाहिए।

1. आयु सीमा

सभी राज्यों में इसके अप्लाई करने के लिए आयु सीमा अलग अलग हो सकती है। लेकिन सभी में इसकी निश्चित आयु 18 वर्ष से 40 वर्ष होती है वहीं आरक्षित जाति के अभ्यर्थी को आयु सीमा में कुछ छूट दी जाती है।

2. 12वीं पास करें

लेखपाल बनने के लिए सबसे पहले आपको अपने राज्य के सरकारी शिक्षा बोर्ड से 12वीं पास करना है। इसके लिए आप आर्ट्स, कॉमर्स या साइंस में से किसी भी विषय को चुना सकते हैं।

3. ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करें

12वीं पास करने के बाद आपको किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करनी है। पहले पटवारी महज 12वीं पास करके बना जा सकता था। लेकिन अब सरकार के नए नियमानुसार लेखपाल के लिए ग्रेजुएशन की डिग्री आवश्यक कर दी गयी है।

4. कंप्यूटर कोर्स

सभी सरकारी नौकरियों में अब कंप्यूटर के कोर्स को अनिवार्य कर दिया गया है। ऐसे में आपको पटवारी के लिए भी कंप्यूटर कोर्स करना होगा यह आप अपने ग्रेजुएशन के दौरान कर सकते हैं।

5. CCC सर्टिफिकेट प्राप्त करें

कंप्यूटर कोर्स करने के दौरान NIELIT प्रमाणित CCC (Course on Computer Concepts) सर्टिफिकेट भी प्राप्त कर ले। आवेदन करने के लिए आपको इसकी भी जरुरत पड़ेगी।

पटवारी बनने के लिए क्या करें

अगर आप ऊपर दी गयी योग्यता को पूरा करते हैं तो आप पटवारी के लिए आवेदन कर सकते हैं। जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया है कि आवेदन करने के लिए आपको राज्य सरकार की भर्ती परीक्षा की सूचना का इंतजार करना होगा। जब भी आपको इसकी सूचना मिल जाए तो आपको इसके लिए अप्लाई कर देना है। इसके बाद आपको नीचे बताये गए परीक्षा और इन्टरव्यू से गुजरना होगा।

1. लिखित परीक्षा

इस परीक्षा में 100 अंक के प्रश्न पूछे जायेंगे जिसे हल करने के लिए आपको 90 मिनिट का समय दिया जायेगा। इसमें सामान्य ज्ञान, सामान्य हिंदी, गणित और ग्राम समाज और विकास से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। इसमें भी गलत उत्तर देने पर नकरात्मक अंक काटने का प्रावधान होता है। इसलिए आपको सभी प्रश्नों के उत्तर सोच समझकर देना चाहिए।

2. इन्टरव्यू

यदि आप लिखित परीक्षा में 100 में से 80 अंक प्राप्त कर लेते हैं तो आपको फिर इन्टरव्यू के लिए बुलाया जाता है। जहाँ आपका साक्षात्कार किया जाता है। हालाकि अब कुछ राज्यों में इन्टरव्यू के प्रावधान को हटा दिया गया है लेकिन आपको इसकी भी तैयारी अवश्य करके रखनी चाहिए।

इन सबके बाद आपको प्रशिक्षण के लिए बुलाया जाता है जिसे पूरा करने के बाद आप पटवारी बन जाते हैं। और आपकी नियुक्ति किसी छेत्र में कर दी जाती है।

पटवारी की तैयारी कैसे करें

इसके पैटर्न को समझने के लिए आपको पिछले कुछ वर्षों में पटवारी की परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों को हल करना चाहिए। क्योंकि कई बार पुराने प्रश्न भी पूछ लिए जाते हैं। जब भी परीक्षा के लिए आवेदन कर दे तो इसके बाद आपको इसकी तैयारी के लिए समय सारणी बनानी चाहिए। जो विषय आपको कठिन लगे उन्हें ज्यादा समय दे और जो सरल लगे उन्हें कम समय दे सकते हैं।

अगर आप किसी कोचिंग इंस्टीट्यूट का सहारा लेते हैं तो आपको ज्यादा फायदा मिलेगा क्योंकि वहां तैयारी काफी अच्छे से करवाई जाती है। इसके साथ ही आपको परीक्षा की भर्ती की जानकारी भी कोचिंग इंस्टीट्यूट से ही मिल जाती है। हालाकि इसके लिए आपको कुछ रूपये खर्च करने होंगे लेकिन आपकी तैयारी अच्छे से हो जाएगी।

पटवारी की सैलरी कितनी होती है

अगर आप एक पटवारी बनना चाहते हैं तो इसके वेतन ] के बारे में भी अवश्य जानना चाहते होंगे। तो आपको बता दे कि लेखपाल की नौकरी ग्रेड C के अंतर्गत आती है। जिसके तहत आपको शुरुआत में 10,000 से 25,000 की मासिक सैलरी मिलती है। इनसे सबके अलावा आपको कुछ अन्य भत्ते भी दिए जाते हैं।

तो अब आप जान गए होंगे कि पटवारी कैसे बने जैसा कि आपको पता चल गया होगा कि ग्रामीण छेत्रों में लेखपाल की मदद से ही जमीन को बेंचा या खरीदा जा सकता है। इसके अलावा लेखपाल को भूमि का आवंटन करना, खेतों का स्थानांतरण करना, राजस्व रिकॉर्ड अपडेट करना, अपने क्षेत्र में भूमि विवाद से संबंधित मामले निपटाना आदि जैसे कार्य भी करने होते हैं। ऐसे में इससे पटवारी की अतिरिक्त इनकम भी हो जाती है। तो उम्मीद करते हैं यह पोस्ट आपके लिए हेल्पफुल साबित होगी।

ये भी पढ़े –

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here